Commodity » Krishi Vyapaar» Ppp Model Key To Second Green Revolution: Mukherjee

दूसरी हरित क्रांति में पीपीपी मॉडल अहम : मुखर्जी

बिजनेस भास्कर नई दिल्ली | Dec 12, 2012, 01:25 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
दूसरी हरित क्रांति में पीपीपी मॉडल अहम : मुखर्जी

राष्ट्रपति ने कहा- उत्पादकता बढ़ाने के लिए प्रमाणित बीजों का इस्तेमाल बढ़ाना जरूरी

दूसरीहरित क्रांति के लिए कृषि में सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) सक्रिय भूमिका निभा सकता है। पिछले दो दशक में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में कृषि क्षेत्र की हिस्सेदारी आधी घटकर 15 फीसदी रह गई है। ऐसे में अब कृषि क्षेत्र के विकास के लिए विपणन से लेकर निवेश के स्तर पर सुधारों के साथ-साथ नई प्रौद्योगिकियों को अपनाने की सख्त आवश्यकता है।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कृषि क्षेत्र में और समग्रता तथा व्यापक रूप से दूसरी हरित क्रांति का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि इस तरह की पहल ढांचागत क्षेत्र के विकास, मानव विकास के लिए कृषि क्षेत्र को बढ़ाना जरूरी है। इस विशाल कार्य के लिए यह आवश्यक है कि सरकार उचित साझेदारी करके विशिष्ट ढांचा खड़ा करे, जिससे इस क्षेत्र में निजी क्षेत्र की भागीदारी को बढ़ावा मिले।

विज्ञान भवन में भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा मंगलवार को आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में भारतीय कृषि में सार्वजनिक निजी भागीदारी से दूसरी हरित क्रांति में प्रवेश के अवसर पर कहा कि कृषि क्षेत्र के विकास के बिना दूसरे क्षेत्रों का विकास नहीं होगा।

इसलिए आवश्यकता है कि कृषि के विकास में पीपीपी मॉडल की भागीदारी को बढ़ाया जाए।
उन्होंने कहा कि 12वीं पंचवर्षीय योजना में कृषि की चार फीसदी विकास दर हासिल करने के लिए कृषि की उत्पादकता बढ़ाना जरूरी है। इसके लिए प्रमाणित बीजों का इस्तेमाल में बढ़ोतरी, बेहतर जलप्रबंधन, खाद और कीटनाशकों का संतुलित उपयोग तथा हाईब्रिड बीजों के इस्तेमाल को बढ़ावा देना है। इसके साथ ही कृषि क्षेत्र में खाद्यान्न की बर्बादी में भी कमी लाने की सख्त आवश्यकता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: ppp model key to second green revolution: mukherjee
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Krishi Vyapaar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top