Kishore Chaudhary
Designation :- ब्लॉगर, कवि, रेडियो उदघोषक
Expertise :- आवाज की दुनिया से जुड़े किशोर चौधरी शब्दों की दुनिया में भी अच्छी खासी दखल रखते हैं। हथकढ़ नाम से ब्लॉग भी लिखते हैं। बकौल किशोर अतीत के शिकस्त इरादों के बचे हुए टुकड़ों पर उम्मीद का हौसला रखा है. नौजवान दिनों की केंचुलियाँ, अख़बारों और रेडियो के दफ्तरों में टंगी हुई है.कुल जमा ज़िन्दगी, रेत का बिछावन है और लोकगीतों के कर्णफूल है.
 
 
Total Blogs (4)
 
सब चारागरों को चारागरी से गुरेज़ था
Blog Posted On
मैं जयपुर से जोधपुर के लिए रोडवेज की बस में यात्रा कर रहा था। गरम दिनों की रुत ने अपनी आमद दर्ज़ करवा दी थी। ये काफी उमस से भरा हुआ दिन था। शाम के सवा छह बजे चली बस से बाहर के...
 
 
नहीं जो बादा-ओ-सागर
Blog Posted On
वह एक उच्च प्राथमिक विद्यालय था. चारों तरफ हल्की भीगी हुई रेत के बीच तीन कमरों के रूप में खड़ा हुआ. सुबह के दस बजने को थे. विद्यालय भवन की चारदीवारी के भीतर कई सारे नीम के...
 
 
मदहोशी में, होश है कम कम
Blog Posted On
ये ट्राईटन मॉल के हॉयपर सिटी स्टोर के अधबीच का भाग था. मैं वस्तुओं की प्रदर्शनी में अपने लालच और जरुरत का तौल भाव कर रहा था. रौशनी के इस बाज़ार में चीज़ों के आवरण बेहद चुस्त...
 
 
मदहोशी में, होश है कम कम
Blog Posted On
ये ट्राईटन मॉल के हॉयपर सिटी स्टोर के अधबीच का भाग था. मैं वस्तुओं की प्रदर्शनी में अपने लालच और जरुरत का तौल भाव कर रहा था. रौशनी के इस बाज़ार में चीज़ों के आवरण बेहद चुस्त...
 
 
 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

 

रोचक खबरें

 

बॉलीवुड

 

जीवन मंत्र

 
 

क्रिकेट

 

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें

 
 
| Glamour
-->

फोटो फीचर