यात्रा

  • देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस
Home >> Travel

Travel

  • राख से बनी थी ये झील, मछलियों को खिलाना माना जाता है पवित्र
    ट्रैवल डेस्क।हिमाचल प्रदेश के मंडी में एक रिवालसर झील है, जिसके बारे में कहा जाता है कि ये राख से बनी है। 1360 मीटर ऊंचाई पर हिमालय की तलहटी में मौजूद इस झील का शेप चौकोर है। ये हिन्दु, सिक्ख और बुद्धिस्ट के लिए पवित्र है। इस हिल स्टेशन के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। जानिए किससे जुड़ी है इस झील की कहानी - ये कहानी जुड़ी है महान गुरू पद्मसंभव रिनपोचे से जो तिब्बत में बौद्ध धर्म के प्रणेता माने जाते हैं। - पौराणिक कथा के अनुसार मंडी के राजा अर्शधर की बेटी मंदरवा गुरु पद्मसंभव से शिक्षा ले रही...
    January 30, 06:48 PM
  • यहां कृष्ण और बलराम लगाते थे डुबकी, ब्रह्मा ने यहीं की थी ब्रम्हांड की रचना
    ट्रैवल डेस्क. हरियाणा में कुरुक्षेत्र के थानेसर में एक ऐसी जगह है जिसके बारे में कहा जाता है कि भगवान ब्रह्मा ने यज्ञ कर ब्रह्मांड की रचना की थी। जानिए कौन सी है ये जगह... - इस जगह का नाम है ब्रह्मा सरोवर, जो 1800 फीट लंबा और 1400 फीट चौड़ा है। - मान्यताओं के मुताबिक, यहां से कभी भगवान ब्रह्मा ने एक यज्ञ कर ब्रह्मांड की रचना की थी। - इसलिए ब्रह्मा सरोवर को सभ्यता का उद्गम स्थान भी माना जाता है। - यह भी कहा जाता है कि सूर्यग्रहण के दौरान भगवान कृष्ण अपने बड़े भाई बलराम और बहन सुभद्रा के साथ इस कुंड में...
    January 30, 06:19 PM
  • इस मंदिर में आकर बदल गई थी फेसबुक के CEO की किस्मत!, जानें कहां है ये
    ट्रैवल डेस्क. भारत में कुछ ऐसे मंदिर और आश्रम हैं, जहां दुनिया भर की बड़ी हस्तियां आती हैं। इनमें से कुछ ऐसी जगह भी हैं जहां आकर लोगों की किस्मत बदल गई। ऐसा ही एक मंदिर है उत्तराखंड के नैनीताल में जहां आकर फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की किस्मत बदल गई। जानिए कहां है ये जगह... - उत्तराखंड के नैनीताल के पास कैंची में है नीम करोली साधु आश्रम। - यहां पांच देवी-देवताओं के मंदिर हैं। इनमें हनुमान जी का भी एक मंदिर है। - ऐसा बताया जाता है कि संघर्ष के दौर में जुकरबर्ग ने यहां दो दिन बिताए थे। - यही नहीं इस...
    January 30, 05:12 PM
  • यहां कैद थी रजिया सुल्तान, प्रेम कहानी के कारण दोस्त बन गए थे दुश्मन
    ट्रैवल डेस्क. पंजाब में ऐसे कई किले हैं जो अपनी बनावट और इतिहास के कारण मशहूर हैं। ऐसा ही एक किला बठिंडा शहर में भी है, जहां रजिया सुल्तान को कैद रखा गया था। - पंजाब के बठिंडा में स्थित किला मुबारक देश की राष्ट्रीय स्मारकों में से एक है। यह ईंट का बना सबसे पुराना और ऊंचा स्मारक है। - भाटी राजपूत राजा बीनपाल ने इस किले का निर्माण लगभग 1800 साल पहले करवाया था। - इसी किले में पहली महिला शासिका रजिया सुल्तान को 1239 ईसवीं में कैद कर लिया गया था।- रजिया सुल्तान के प्रेमी याकूत को मारकर इस किले में उसके...
    January 30, 03:36 PM
  • मुगल शासक से शिवाजी ने जीता था ये किला, फहराया था भगवा ध्वज
    ट्रैवल डेस्क।महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग तट का सबसे पुराना किला विजयदुर्ग। ये शिलाहार वंश (1193-1205) के बीच राजा भोज के शासन में बनवाया गया था और बाद में शिवाजी महाराज द्वारा इसे दोबारा बनवाया गया था। ये किला मुंबई से 485 किमी की दूरी पर समुद्र तट परस्थित है। समुद्र से आने वाले दुश्मनों से बचने के लिए शिवाजी ने इस किले में पुख्ता इंतजाम किया था।जानिए क्या है इसका इतिहास - इसका नाम पहले घेरिया था और ये चारों तरफ से अरब सागर से घिरा था। - शिवाजी ने 1653 में इस पर कब्ज़ा किया और इसे विजयदुर्ग नाम दिया, इसके...
    January 30, 02:02 PM
  • उत्तरप्रदेश में है ये अजीबोगरीब मंदिर, जानिए क्यों होती है यहां मेंढक की पूजा
    ट्रैवल डेस्क. भारत में ऐसे कई अजीबोगरीब मंदिर हैं, जिनके बारे में सुनकर हैरानी होती है। ऐसा ही एक मंदिर है उत्तरप्रदेश के लखीमपुर-खीरी जिले में आता है। जानिए ऐसा क्या है इस मंदिर में... - लखीमपुर-खीरी जिले के ओयल कस्बे में भारत का एकमात्र मेंढक मंदिर है। - यहां मेंढक की पूजा की जाती है। बताया जाता है कि ये मंदिर करीब 200 साल पुराना है। - मान्यता है कि सूखे और बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा से बचाव के लिए इस मंदिर का निर्माण कराया गया था। किसने बनवाया था ये मंदिर... - यह जगह ओयल शैव संप्रदाय का प्रमुख...
    January 30, 11:32 AM
  • महाराणा प्रताप के वंशज का कार कलेक्शन, रोल्स रॉयस से लेकर मर्सडीज है यहां
    ट्रैवल डेस्क. महल और खूबसूरत झीलों के अलावा उदयपुर में टूरिस्ट विंटेज कार म्यूजियम देखने भी आते हैं। इस म्यूज़ियम की ख़ास बात यह है कि इसे महाराणा प्रताप के वंशजों द्वारा चलाया जाता है। आज भी इसमें ऐसी कई कारें हैं, जो न सिर्फ चलती हैं, बल्कि उनकी शान अभी भी बरकरार है। कौन है महाराणा प्रताप के वंशज... - महाराणा प्रताप के वंशज और उदयपुर राजघराने के सदस्य अरविंद सिंह मेवाड़ घराने के 76वें संरक्षक हैं। - उन्होंने विदेश में पढ़ाई की है और इन्हें पुरानी महंगी कारों का शौक है। - उनके पिता भगवत सिंह ने 1955...
    January 30, 12:04 AM
  • इस कुएं में आती है रहस्यमयी रोशनी, पूरी होती है हर मुराद
    ट्रैवल डेस्क। पुर्तगाल के सिंतरा शहर के पास एक रहस्यमयी कुआं है। इसके बारे में एक खास बात है कि इस कुएं में से रोशनी निकलती है। आज तक कोई भी इसके बारे में पता नहीं लगा पाया कि ऐसा क्यों होता है। इस कुएं में लाइट का कोई सोर्स नहीं हैं फिर भी कुएं के अंदर से ये रोशनी बाहर आती है। जानिए इस कुएं के बारे में - सिंतरा के पास क्विंटा डा रिगालेरिया महल में एक कुंआ है। इस कुएं को लेबीरिन्थिक ग्रोटो कहा जाता है। - लोग इसे विशिंग वेल(इच्छा पूरी करने वाला कुआं) मानते हैं और इसमें सिक्के डालते हैं। -...
    January 29, 12:02 AM
  • इस जगह को कहते हैं केरल का स्वर्ग, भगवान राम भी रहे हैं इन जंगलों में
    ट्रैवल डेस्क। केरल में 700 मीटर से 2100 मीटर की ऊंचाई पर एक खूबसूरत हिल स्टेशन है वायनाड। इसका इतिहास 18वीं शताब्दी पुराना है और यहां वेद ट्राइब के राजाओं ने शासन किया था। यहां लगभग 885.92.sq. किमी एरिया में घने जंगल हैं और आपको हरे रंग के बहुत सारे शेड्स देखने मिल जाएंगे। ये बारिश के बाद और भी खूबसूरत हो जाता है। जानें इस जगह के बारे में - बैंगलोर से 250 किमी दूर इस जगह पर कई टूरिस्ट प्वाइंट्स हैं, एडाक्कल गुफाएं, झरने, वाइल्ड लाइफ सेंचुरी, लेक, आइलैंड, बांस का जंगल, चाय फैक्टरी और मंदिर। - यहां कयाकिंग,...
    January 28, 06:52 PM
  • कोई पाकिस्तान में तो कोई अफगानिस्तान में, आज भी हैं महाभारत के ये शहर
    ट्रैवल डेस्क.महाभारत को लेकर कई कहानियां और मान्यताएं प्रचलित हैं। कुछ लोग इसे सच मानते हैं तो कुछ इसे महज कथा बताते हैं। इस बहस के बीच हम आपको कुछ ऐसे शहरों के बारे में बता रहे हैं जिनका जिक्र महाभारत मिलता है। इनमें से कुछ अब टूरिस्ट स्पॉट बन चुके हैं तो कुछ दूसरे देशों में हैं।जानिए कौन-कौन सी हैं ये जगह... गांधार आज के कंधार को कभी गांधार के रूप में जाना जाता था। यह देश पाकिस्तान के रावलपिन्डी से लेकर सुदूर अफगानिस्तान तक फैला हुआ था। धृतराष्ट्र की पत्नी गांधारी वहां के राजा सुबल की...
    January 28, 06:23 PM
  • रावण को मारने के बाद राम ने किया था यहां प्रायश्चित, आज भी है वो शिवलिंग
    ट्रैवल डेस्क। रामनाथस्वामी मंदिर तमिलनाडु के रामेश्वरम में स्थित है, जो 12 ज्योतिर्लिंगम में से एक है। कहते हैं राम ने रावण का वध करने के बाद, श्रीलंका से लौटकर प्रायश्चित करने के लिए यहां शिवलिंग की स्थापना की थी। शिवभक्तों के लिए ये बहुत पूजनीय जगह है। जानिए क्या है इसकी मान्यता - ऐसा माना जाता है कि रामेश्वरम वह स्थान है जहां भगवान राम ने अपने पापों का प्रायश्चित करने का निर्णय लिया था। - भगवान राम एक ब्राह्मण रावण के साथ युद्ध करके उसे मारने के बाद यहां आए। वो ब्राह्मण को मारने के...
    January 28, 05:38 PM
  • इस पर्वत पर आज भी घूमते हैं परशुराम, पांडवों ने यहां बनवाए थे मंदिर
    ट्रैवल डेस्क.भगवान परशुराम को लेकर कई तरह की पौराणिक कहानियां प्रचलित हैं। ऐसी ही एक कहानी महेंद्रगिरि नाम के पर्वत से भी जुड़ी है,जिसके बारे में कहा जाता है कि यहां भगवान परशुराम आज भी मौजूद हैं। हर साल यहां बड़ी तादाद में श्रद्धालु आते हैं।कहां है ये जगह और क्या है भगवान परशुराम से जुड़ी यहां मान्यता... -महेंद्रगिरि पर्वत उड़ीसा के गजपति जिले के परालाखेमुंडी में मौजूद है। -यह पर्वत की चोटी धार्मिक और ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है क्योंकि यह रामायण, महाभारत और पुराणों के साथ जुड़ी हुई है।...
    January 28, 04:25 PM
  • इस जगह को कहते हैं स्वर्ग का द्वार, जानें भूटान की 7 सबसे खूबसूरत जगह
    ट्रैवल डेस्क. यदि आप अपनी छुट्टियां किसी ऐसी जगह मनाना चाहते हैं जहां शांति और खूबसूरत वादियां हों तो भूटान जाएं। यहां देखने के लिए बहुत कुछ है। आज हम आपको भूटान के 7 ऐसे स्पॉट्स बता रहे हैं, जहां भूटान ट्रिप के दौरान जाना न भूलें। जानिए कहां है ये जगह... त्रोंगसा मॉनेस्ट्री त्रोंगसा भूटान के सबसे एतिहासिक शहरों में से एक है। यहां सबसे पुरानी त्रोंगसा मोनेस्ट्री है, जो 1543 में बनी थी। यह मोनेस्ट्री अक्सर बादलों से घिर जाती है। जिस कारण इसके आसपास बादल किसी ड्रैगन की तरह नज़र आते हैं। पहाड़ों...
    January 28, 03:48 PM
  • यहां हुआ था गणेश और परशुराम के बीच युद्ध, इस डर से नहीं जाते हैं यहां लोग
    ट्रैवल डेस्क. छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में बैलाडीला की पहाड़ी पर 3000 फीट की ऊंचाई पर रखी ढोलकल गणेश की प्रतिमा पहाड़ से गिरकर टूट गई है। 10 वीं सदी की मूर्ति को लेकर कई तरह के रहस्य आज भी कायम है। वहीं, पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक, यह वही जगह है जहां गणेश और परशुराम के बीच युद्ध हुआ था। जानिए क्या है यहां से जुड़ी कहानी.... - दक्षिण बस्तर के भोगामी आदिवासी परिवार अपनी उत्पत्ति ढोलकट्टा (ढोलकल) की महिला पुजारी से मानते हैं। - क्षेत्र में यह कथा प्रचलित है कि भगवान गणेश और परशुराम का युद्ध इसी शिखर पर हुआ...
    January 28, 12:42 PM
  • भैरवनाथ के दर्शन के बिना क्यों नहीं है वैष्णो देवी के दर्शन पूरे, क्यों है ये मान्यता
    ट्रैवल डेस्क। वैष्णो देवी उत्तरी भारत में स्थित एक ऐसा मंदिर है जिसे माता का निवास स्थान माना जाता है। जम्मू-कश्मीर के त्रिकुटा पहाड़ पर स्थित ये मंदिर हिन्दुओं के पवित्र स्थलों में से एक है। इसे त्रिकुटा देवी के नाम से भी जाना जाता है। जम्मू के कटरा से लगभग 14 किमी की दूरी पर स्थित इस मंदिर में हर साल लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। यह भारत में तिरुमला वेंकटेश्वर मंदिर के बाद दूसरा सबसे ज्यादा फेमस तीर्थस्थल है।जानिए कैसा है मंदिर - मान्यताओं के अनुसार, ये मंदिर हजारों सालों से है।...
    January 28, 10:48 AM
  • इस ज्वाला को बुझाने अकबर ने की थी कोशिश, चमत्कार देख रह गया था हैरान
    ट्रैवल डेस्क. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा से 30 किलो मीटर दूर ज्वालामुखी देवी मंदिर की गिनती माता के प्रमुख शक्तिपीठों में होती है। यह मंदिर माता के अन्य मंदिरों की तुलना में अनोखा है क्योंकि यहां पर किसी मूर्ति की पूजा नहीं, बल्कि पृथ्वी के गर्भ से निकल रही नौ ज्वालाओं की पूजा होती है। यहां ऐसी कहानी भी प्रचलित है कि बादशाह अकबर ने इन ज्वालाओं को बुझाने की कोशिश भी की लेकिन नाकाम रहा। जानिए किस देवी की जीभ गिरी थी यहां... - ज्वालामुखी मंदिर को जोता वाली का मंदिर और नगरकोट भी कहा जाता है। ज्वालामुखी...
    January 27, 11:08 AM
  • जानें क्यों डूब गई श्रीकृष्ण की द्वारका, समंदर के नीचे आज भी है इस हालत में
    ट्रैवल डेस्क.भारत से सटे समंदर अपने आप में कई रहस्य समेटे हुए हैं। समंदर के नीचे आज भी ऐसी कई साइट्स दबी हुई हैं जिनके बारे में किसी को नहीं पता। कुछ वर्षों पहले एक ऐसी ही जगह की खोज हुई थी जिसके बारे में जानकार हर कोई हैरान था। हम बात कर रहे हैं गुजरात के एतिहासिक द्वारका नगरी की। जो आज भी गहरे समंदर में मौजूद है। जानिए क्या है यहां से जुड़ी कहानी... - द्वारका धाम हिंदू धर्म के चारों धामों में से एक है। यह गुजरात के काठियावाड क्षेत्र में अरब सागर के द्वीप पर स्थित है। इस नगरी का धार्मिक, पौराणिक...
    January 27, 11:06 AM
  • पूर्णिमा की रात चांद-सी चमकती है यहां धरती, जानें क्या है यहां से जुड़ा रहस्य
    ट्रैवल डेस्क.क्या आपने ऐसी जगह के बारे में कभी सुना है जिसकी जमीन की बनावट चांद जैसी हो। सुनने में ये जरूर अजीब लगता है,लेकिन भारत में एक ऐसी जगह भी है जिसे मूनलैंड यानी चांद की जमीन कहा जाता है। यह जगह जम्मू-कश्मीर के लेह से 127 किमी दूर लामायुरू गांव में है। जानिए क्या खास है इस जगह के बारे में... - 3,510 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद इस गांव तक आप लेह से एक दिन में पहुंच सकते हैं। -यहां टूरिस्ट खासकर लामायुरू मोनेस्ट्री (मठ)और लूनर लैंडस्केप (चांद जैसी जमीन) को देखने आते हैं। -यहां मौजूद पहाड़, खाइयां और...
    January 26, 07:14 PM
  • सूरज की किरणें पड़ते ही सोने-सा चमका है ये किला, दुश्मन खा जाते थे चकमा
    ट्रैवल डेस्क. देश के सबसे गर्म शहरों में से एक जैसलमेर में एक किला ऐसा है, जो सूरज की किरणें पड़ते ही सोने की तरह चमक उठता है। यही नहीं, इस किले की गिनती दुनिया के सबसे बड़े किलों में होती है। जानिए कौन-सा है ये किला... - जैसलमेर के इस किले को सोनार का किला या गोल्डन फोर्ट कहते हैं। - इस किले पर जैसे ही सुबह सूरज की किरणें पड़ती हैं, यह सोने की तरह चमकता है, इसलिए इसे गोल्डन फोर्ट कहते हैं। - वैसे रेगिस्तान के बीच में होने से इसे रेगिस्तान का दुर्ग भी कहा जाता है। - यह दुनिया के बड़े किलों में से एक है। इसमें...
    January 26, 05:53 PM
  • करोड़ों साल पुरानी गुफाओं में ले जाता है ये खतरनाक रास्ता, जानें क्या है नीचे
    ट्रैवल डेस्क। अमेरिका के न्यू मैक्सिको में कार्ल्सबेड नाम की एक जगह है, जहां करोड़ों साल पुरानी गुफाएं हैं। माना जाता है कि पानी के बहाव ने इन्हें एक खास तरह का शेप दिया है। ये चिहुआहुआ रेगिस्तान में ग्वाडालूपे पहाड़ों के नीचे सबसे गहरी और बड़ी खूबसूरत गुफाएं हैं। इनके अंदर जाने के लिए खतरनाक रास्ते से होकर गुजरना पड़ता है। ये अंदर से इतनी सुंदर हैं कि यहां लाखों लोग हर साल घूमने आते हैं। 750 फीट गहरा है इसमें जाने का रास्ता नैचुरल एन्ट्रेंस - इस गुफा में अंदर जाने का रास्ता बहुत मजेदार...
    January 26, 12:27 PM
पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

* किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.