यात्रा

Home >> Travel
  • Heart Shape है ये आइलैंड, रोमांटिक ट्रिप के लिए है सबसे बेस्ट जगह
    ट्रैवल डेस्क।फिजी देश में एक आइलैंड ऐसा है जिसका शेप हार्ट की तरह है। यहां एक रिसोर्ट है तावारुआ, जो रोमांटिक ट्रिप के लिए परफेक्ट जगह है। यहां का पानी इतना साफ है कि आसानी से समंदर के अंदर की चीजें नज़र आ जाती हैं।जानिए इस आइलैंड के बारे में -29 एकड़ में बना तावारुआ रिसोर्ट चारों तरफ से खूबसूरत कोरल रीफ से घिरा है। इस रिसोर्ट में हर तरह की फैसिलिटी मौजूद हैं। - ये सी सर्फिंग के लिए बेस्ट जगह है। यहां एक्टिविटी में फिशिंग, स्कूबा डाइविंग, स्नोर्कलिंग, कयाकिंग, सर्फिंग. पैरासैलिंग, काइट फ्लाइंग...
    12:01 AM
  • यहां छिपा है अमर होने का राज, सैटेलाइट में भी नहीं दिखती ये जगह
    ट्रैवल डेस्क। हिमालय की ऊंची पहाडियों में बहुत से सीक्रेट छिपे हैं। ज्ञानगंज मठ हिमालय में एक छोटी-सी जगह है जो शांग्री-ला, शंभाला और सिद्धआश्रम के नाम से भी जानी जाती है। कहते हैं कि यहां से ही सबका भाग्य निश्चित होता है। यह भी कहा जाता है कि यहां अमर होने का राज छिपा है। हिमालय में इसकी ठीक जगह किसी को नहीं पता। ये इंडिया में ही नहीं, तिब्बत में भी फेमस है। जानिए इस जगह से जुड़ी कुछ बातें -ये ऐसी जगह है जो सिर्फ सिद्धपुरुषों को ही आसानी से मिलती है। यहां आम मनुष्य नहीं जा पाता है। - ज्ञानगंज...
    January 23, 07:18 PM
  • पाकिस्तान के इस मंदिर में हिंदू-मुस्लिम साथ करते हैं पूजा, आते हैं लाखों लोग
    ट्रैवल डेस्क। पाकिस्तान के बलूचिस्तान में हिंदुओं के बहुत से धार्मिक स्थान मौजूद हैं, इनमें से एक है 2000 साल पुराना माता हिंगलाज देवी का सिद्ध पीठ। ये माता हिंगलाज देवी 51 सिद्ध पीठों में से एक हैं। यहां की ख़ास बात यह है कि इस आदि शक्ति में हिंदू के साथ-साथ मुसलमान भी आस्था रखते हैं। जानिए इस मंदिर के बारे में... - कराची से 60 किमी दूर माता का ये शक्ति पीठ मंदिर नानी का मंदिर के नाम से फेमस है। पाकिस्तानी इसे नानी का हज भी कहते हैं। - यहां दुर्गा मां के सती रुप की पूजा की जाती है। इस मंदिर में...
    January 23, 07:16 PM
  • ये है भैरव की 42 KG की तलवार, जानिए क्यों यहां शिव ने लिया था ये अवतार
    ट्रैवल डेस्क. महाराष्ट्र की आईटी सिटी पुणे से 51 किमी दूर है जेजुरी। यह जगह अपने खंडोबा मंदिर के लिए दुनिया भर में मशहूर है। यहां हर साल दशहरे पर होने वाले हल्दी उत्सव को मनाने दूर-दूर से लोग आते हैं। इस दौरान हल्दी से पूरा मंदिर सोने की तरह चमक उठता है। इसके अलावा, यहां 42 किलो की तलवार उठाने का कॉम्पिटीशन होता है। कौन थे खंडोबा... - खंडोबा को भगवान शिव का अवतार माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि पृथ्वी पर मल्ल और मणि राक्षस के अत्याचार बढ़ने के बाद उन्हें खत्म करने भगवान शिव ने मार्तंड भैरव का अवतार...
    January 23, 06:30 PM
  • अंदर से देखें महात्मा गांधी का आश्रम, एक कारण से रहे थे यहां 11 साल
    ट्रैवल डेस्क. महाराष्ट्र के वर्धा शहर में है राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का सेवाग्राम आश्रम। यह वही जगह है, जहां महात्मा गांधी ने जीवन के अंतिम 12 वर्ष बिताए थे। गांधी जी 1934 में वर्धा आए थे। पहले वे शहर के बीचोंबीच, मगनवाडी में रहा करते थे। - इसके बाद 1936 में सेवाग्राम चले गए। ये गांव वर्धा से करीब 8 किमी दूर है। - सेवाग्राम में करीब 300 एकड़ में आश्रम फैला हुआ है। यह बापू कुटी के नाम से जाना जाता है। - आश्रम में छोटी-बड़ी कई कच्ची झोपडियां हैं। इसमें बापू और उनके सहयोगी रहा करते थे। - रसोई, रहने-सोने, ऑफिस,...
    January 23, 01:09 PM
  • इंसान के मरने के बाद यहां आती है आत्मा, अदृश्य दरवाजे बने हैं रहस्य
    ट्रैवल डेस्क। दिल्ली से 500 किमी दूर एक ऐसा मंदिर है जहां इंसान के मरने के बाद उनकी आत्मा जाती है। ऐसा कहा जाता है कि यहां चित्रगुप्त मरने वालों के कर्मों का लेखा जोखा करते हैं। जानिए कौन सा है ये मंदिर... - हम बात कर रहे हैं हिमाचल के चम्बा जिले के भरमौर शहर में मौजूद यमराज मंदिर की। -ये मंदिर एक घर जैसा दिखता है। लोग इस मंदिर के अंदर जाने से भी डरते हैं। अक्सर बाहर से ही हाथ जोड़ कर चले जाते हैं। - यहां ऐसा मानते हैं कि इस मंदिर में यमराज रहते हैं। ये मंदिर यमराज को समर्पित है। आगे की स्लाइड...
    January 23, 11:01 AM
  • भगवान राम ने बनवाया था ये मंदिर, शिवलिंग की रखवाली के लिए आता है सांप
    ट्रैवल डेस्क. कर्नाटक के बीदर शहर में एक ऐसा मंदिर है जहां हर शिवरात्रि को भगवान शिव की मूर्ति की रखवाली करने के लिए सांप आता है। हर साल इस मंदिर में दर्शन करने देशभर से टूरिस्ट बड़ी तादाद में पहुंचते हैं। जानिए कौन सा है ये मंदिर... - बीदर शहर में मौजूद इस मंदिर का नाम है पापनाश मंदिर। - यहां ऐसी मान्यता है कि हर शिवरात्रि को भगवान शिव की मूर्ति की रखवाली करने के लिए सांप आता है। - इसके अलावा यहां दर्शन करने से मनुष्य के पापों का नाश हो जाता है। - इस मान्यता के कारण यहां हर साल हजारों लोग दर्शन के...
    January 21, 04:52 PM
  • मुगल शासकों की आंखों का कांटा था ये किला, 37 तोपों से होती थी इसकी सुरक्षा
    ट्रैवल डेस्क. कर्नाटक के बीदर में बहमनी शासकों का एक ऐसा किला था जिसके बारे में कहा जाता था कि ये किला दिल्ली के मुगल शासकों के आंखों का कांटा था। दरअसल, इस पर कब्ज़ा करने की मुगलों ने कई बार कोशिश की। अंत में औरंगजेब द्वारा इस पर विजय प्राप्त की गई और बहमनी शासकों के गौरवशाली साम्राज्य का पतन हुआ। 37 तोपों से होती थी सुरक्षा... - बीदर का ऐतिहासिक किला 14 वीं और 15 वीं सदी में बहमनी साम्राज्य की राजधानी हुआ करता था। - यह किला तीन मील की चारदीवारी से घिरा है, जिनपर 37 तोपें लगी हैं। - ऐसा कहा जाता है कि इस...
    January 21, 01:12 PM
  • जल्लीकट्टू फेस्टिवल, देखने वालों के हो जाते हैं रोंगटे खड़े
    ट्रैवल डेस्क। तमिलनाडु का फेमस फेस्टिवल जल्लीकट्टू एक खतरनाक लेकिन इन्टरेस्टिंग उत्सव है। इसे बुल टैमिंग भी कहते हैं। भाग लेने वालों की मौत भी हो सकती है।पढ़िए क्या है ये फेस्टिवल... जल्ली का तमिल में मतलब सोने या चांदी के सिक्के होता है और कट्टू का मतलब बांधना। इसलिए इसे जल्लीकट्टू कहा जाता है। इस फेस्टिवल में बैल के सींग पर ये सिक्के बांधे जाते हैं। पार्टिसिपेंट इसे लेने की कोशिश करता है, जो उसके जीतने पर उसे मिलता है। ये फेस्टिवल पोंगल सेलिब्रेशन का ही एक भाग है। पोंगल के दूसरे दिन...
    January 21, 12:04 AM
  • भगवान इंद्र ने एक रात में बनवाया था ये महल, 19 वीं सदी तक था गुमनाम
    ट्रैवल डेस्क. भारत से करीब 5 हजार किमी दूर कम्बोडिया के अंकोर में है अंकोरवाट वाट मंदिर। भगवान विष्णु को समर्पित यह विशाल हिन्दू मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा पूजा-स्थल है। इसके बनने को लेकर कई मान्यताएं प्रचलित हैं। एक मान्यता के अनुसार, स्वयं देवराज इन्द्र ने महल के तौर पर अपने बेटे के लिए इस मंदिर का निर्माण एक ही रात में करवाया था। जानिए यहां से जुड़ी खास बातें... - इतिहास पर नजर डाली जाए तो करीब 27 शासकों ने कंबोदेश पर राज किया, जिनमें से कुछ शासक हिन्दू और कुछ बौद्ध थे। - शायद यही वजह है कि...
    January 20, 07:21 PM
  • शादी के लिए इस मंदिर को मानते हैं शुभ, यहां हुआ था राम-सीता का स्वयंवर
    ट्रैवल डेस्क। नेपाल के मिथिला क्षेत्र में जनकपुरधाम है। यहां जानकी मंदिर है। सीता के पिता राजा जनक ने यहां पर शासन किया था। कहते हैं सीताजी का स्वयंवर इसी मंदिर में हुआ था। इस मंदिर के पास ही एक मंदिर है राम-सीता विवाह मंडप जिसमें राम और सीता का विवाह हुआ था। कहते हैं कि सीताजी भी यहां रही भी थीं। जानिए इस मंदिर के बारे में कहते हैं, रामायण काल में राजा जनक ने यहां शासन किया था। ये मंदिर नवलखा मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। माना जाता है कि इस मंदिर को बनने में भी 9 लाख रुपए लगे थे। ये मंदिर 1910 ई....
    January 20, 07:04 PM
  • इस बॉर्डर पर साथ चाय पीते हैं इंडिया-पाकिस्तान के जवान, जानें क्या है खास
    ट्रैवल डेस्क। किसी दूसरे देश की बॉर्डर तक विजिट करना एक अलग ही थ्रिलिंग एक्सपीरिएंस है। इंडिया अपना बॉर्डर 7 देशों से शेयर करता है। और बॉर्डर के पास की सारी जगह बेहद खूबसूरत हैं। इंडिया और पाकिस्तान इंडिया में कई जगह बॉर्डर शेयर करते हैं। कुछ बॉर्डर तक टूरिस्ट और आम लोग आसानी से जा सकते हैं।इनमें से एक बॉर्डर ऐसी भी है जहां महीने में एक बार इंडिया और पाकिस्तान के जवान साथ बैठकर चाय पीते हैं। जानिए कहां हैं ये बॉर्डर और आप वहांकैसे जा सकते हैं कश्मीर(LOC) इंडिया-पाकिस्तान की ये बॉर्डर...
    January 20, 05:42 PM
  • यहां शार्क से डरते नहीं, उसके साथ स्विमिंग करते हैं, आप करना चाहेंगे ?
    ट्रैवल डेस्क। व्हेल शार्क ओशियन में कुछ ही जगह मिलती हैं और दुनिया में सबसे बड़ी फिश है। क्या आप इसके आसपास जाने का सोच भीसकते हैं ? मालदीव के आइलैंड्स में आप इसे न सिर्फ देख सकते हैं, बल्कि इसके साथ स्विम भी कर सकते हैं। कैसी होती हैं ये व्हेल शार्क... ये लंबाई में 40 फीट हो सकती हैं और इनका वजन 23 टन के आसपास होता है। ये ज्यादातर ट्रोपिकल और वार्म सी में रहती हैं। मालदीव के अरी अटोल आइलैंड में आप इन्हें आसानी से स्पॉट कर सकते हैं। ये फिश 1000 मीटर से भी गहरे में डाइव कर सकती हैं। इनकी लाइफ 70 से 100 साल...
    January 20, 04:52 PM
  • हैरान कर देगा ये सियारों का झुंड, हर शाम इस मंदिर पर आता है खिचड़ी खाने
    ट्रैवल डेस्क. अक्सर लोग गुजरात में कच्छ का रेगिस्तान ही घूमने जाते हैं, लेकिन यदि आप इस बार कच्छ घूमने जा रहे हैं तो यहां से 25 किमी दूर काला डुंगर पहाड़ पर स्थित दत्तात्रेय मंदिर पर जरुर जाएं। यहां आपको एक ऐसा नज़ारा दिखाई देगा जिसे देखकर आप हैरान रह जाएंगे। जानिए आखिर क्या है ऐसा यहां... - काला डुंगर के पहाड़ पर विख्यात दत्तात्रेय मंदिर पर हर दिन 70-80 की संख्या में सियार भी रहते हैं, जो रोजाना शाम को मंदिर में मिलने वाला खिचड़ी का प्रसाद खाते हैं। - यह सिलसिला कुछ समय से नहीं, बल्कि 500 सालों से निरंतर...
    January 20, 03:44 PM
  • एक श्राप से अब तक वीरान पड़ा है ये गांव, बेटी की इज्जत बचाने हुआ था खाली
    ट्रैवल डेस्क. राजस्थान में ऐसे कई स्पॉट्स हैं जो अपने आप में कई रहस्यमयी कहानियां समेटे हुए हैं। ऐसी ही एक कहानी जुड़ी है कुलधरा गांव की। ऐसा कहा जाता है कि लड़की की इज्ज़त बचाने यह गांव रातों-रात खाली हुआ था। इसके बाद इस गांव को एक ऐसा श्राप मिला कि यह आज तक वीरान पड़ा हुआ है। जानिए आखिर ऐसा क्या हुआ था उस रात... - 170 साल पहले इस गांव के लोग अपनी बेटी की इज्जत बचाने के लिए रातों-रात गायब हो गए थे। - माना जाता है कि यह घटना दीवान को एक लड़की से हुए प्रेम के कारण हुई। - इसी प्रेम के कारण इस गांव को ऐसा श्राप...
    January 20, 11:00 AM
  • यहां भटकते हुए दिखाई देते हैं अश्वत्थामा, देखने वाले हो जाते हैं पागल!
    ट्रैवल डेस्क. महाभारत में आपने अश्वत्थामा के किरदार के बारे में सुना ही होगा। जिसे भगवान श्रीकृष्ण ने उन्हें युगों-युगों तक भटकने का श्राप दिया था। यदि यह कहा जाए कि अश्वत्थामा आज भी लोगों को नजर आते हैं तो जरुर हैरानी होगी, लेकिन मध्य प्रदेश में एक ऐसी जगह है जहां लोगों को आज भी अश्वत्थामा दिखाई देते हैं। जानिए कहां है ये जगह... - ऐसा माना जाता है की बुरहानपुर, मध्य प्रदेश स्थित असीरगढ़ किले के शिवमंदिर में प्रतिदिन सबसे पहले पूजा करने अश्वत्थामा आते है। - यहां शिवलिंग पर प्रतिदिन सुबह ताजा...
    January 19, 06:56 PM
  • परशुराम ने यहां फेंका था फरसा, गुस्से से डरकर समंदर भी हो गया था पीछे
    ट्रैवल डेस्क. मुंबई-गोवा नेशनल हाईवे 17 के बीच एक छोटा सा गांव आता है पिथे परशुराम। चिपलून से 10 किमी की दूरी पर स्थित इस गांव को भगवान परशुराम का गांव कहते हैं। बताया जाता है कि यह वही जगह है जहां समंदर को पीछे करने के लिए भगवान परशुराम ने अपना फरसा फेंका था। जानिए क्या है इस गांव को लेकर मान्यता... - इस गांव के पास 10 किमी की दूरी पर मौजूद चिपलुन को परशुराम की भूमि कहा जाता है। - ऐसी मान्यता है कि भगवान परशुराम ने खुद को गुरु के सामने सच्चा संन्यासी सिद्ध करने के लिए अपनी पूरी भूमि दान कर दी। - उस वक्त...
    January 19, 04:48 PM
  • समंदर में मिला था दुनिया की सबसे खूबसूरत औरत क्लियोपेट्रा का महल
    ट्रैवल डेस्क। मिस्र की रानी रही क्लियोपेट्रा को इतिहास में दुनिया की सबसे अमीर और सुंदर औरत माना जाता है। उनका जीवन बहुत रहस्यमयी था। क्लियोपेट्रा की मौत के बाद उनका बसाया किंगडम, सुनामी और भूकम्प की वजह से समंदर के अन्दर चला गया था। क्या मिला भूमध्य सागर में... - 1400 साल पहले क्लियोपेट्रा की मृत्यु के बाद सुनामी और भूकंप की वजह से ये महल भूमध्य सागर में डूब गया था। - पानी के अंदर उसके महल की देवी आइसिस और स्फिंक्स की मूर्तियां, कलाकृतियां, लाल ग्रेनाइट के पिलर्स और बहुत सारे आर्टिफेक्ट्स...
    January 19, 02:14 PM
  • यहां आज भी कृष्ण और राधा करते हैं रासलीला, देखने वाला हो जाता है पागल!
    ट्रैवल डेस्क। मथुरा के पास कृष्ण की नगरी वृंदावन में एक ऐसी जगह है, जहां कृष्ण और राधा रासलीला किया करते थे। मान्यता है कि आज भी हर रात कृष्ण और राधा यहां रासलीला करते हैं। कौन-सी है वो जगह वृंदावन में वैसे कई मंदिर हैं लेकिन निधि वन का मंदिरखास है। निधि वन के बहुत से सीक्रेट्स हैं। कहते हैं कि इस वन में रोज रात को राधा कृष्ण आते हैं और गोपियों के साथ रातभर रासलीला करते हैं। आगे की स्लाइड में पढ़ें क्या है कहावत
    January 18, 06:15 PM
  • हर 12 साल में नीले हो जाते हैं ये पहाड़, जानिए क्या है यहां से जुड़ा रहस्य
    ट्रैवल डेस्क. यूं तो केरल में कई खूबसूरत टूरिस्ट स्पॉट्स हैं, लेकिन प्रकृति की और भी खूबसूरत कारीगरी देखनी हो तो मुन्नार जरूर जाएं। यहां आपको चाय के बागान, कोहरे से ढंकी पहाड़ियां, चाय के बागान नज़र आएंगे। लेकिन यहां की सबसे ख़ास बात जिससे लोग अंजान हैं वो है नीले पहाड़। जानिए क्या है इन नीले पहाड़ों का रहस्य... - तीन पर्वत श्रृंखलाओं (मुथिरपुझा, नल्लथन्नी और कुंडल) के संगम पर स्थित मुन्नार समुद्र तल से 1600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। - यहां हर 12 साल में नीलकुरिंजी फूल खिलता है, जो टूरिस्टों को काफी...
    January 18, 04:38 PM