Home >> Travel
  • भारत की इस जगह को कहते है 'लिटिल रशिया', जानें क्या है यहां से जुड़े सीक्रेट
    भारत में बड़ी तादाद में विदेशी टूरिस्ट हर साल आते हैं। इनमें से कुछ टूरिस्ट वापस अपने देश लौटने की जगह भारत में ही अपना ठिकाना बना चुके हैं। गोवा के पास ऐसी ही एक जगह है जहां बड़ी तादाद में रशियंस रहते हैं। जानिए क्या कहते हैं इस जगह को... - यह जगह है मोरजिम गांव, जो गोवा की राजधानी पणजी से 30 किलोमीटर दूर है। - यहां बड़ी तादाद में रशियंस बसे हुए है, जिस कारण इसे लिटिल रशिया भी कहा जाता है। - सबसे खास बात तो यह कि मोरजिम गांव के अधिकतर रेस्टोरेंट, होटल्स में आपको रशियंस होर्डिंग्स मिलेंगे। - मोरजिम में 15...
    02:13 PM
  • जा रहे हैं गोवा तो घूमना न भूलें ये बीचेस, जानिए कहां क्या है खास
    गोवा घूमने के लिए दिसंबर सबसे बेस्ट मंथ माना जाता है। भारत ही नहीं विदेशों से भी यहां बड़ी तादाद में टूरिस्ट घूमने पहुंचते हैं। सबसे ज्यादा गोवा में यदि टूरिस्ट कहीं पहुंचते हैं तो वो है यहां के खूबसूरत बीचेस। हम आपको बता रहे हैं गोवा के बेस्ट बीचेस के बारे में... कंडोलिम बीच कंडोलिम बीच पणजी से 14 किलोमीटर दूर नॉर्थ गोवा में स्थित है। यह बीच अगोडा किले से शुरु होकर चापोरा बीच पर खत्म होता है। यह जगह गोवा के एक स्वतंत्रता सेनानी और सम्मोहन के जनक अब्बा फारिया का जन्मस्थान भी है। खूबसूरती के...
    December 5, 07:15 PM
  • भारत की सबसे मशहूर टूरिस्ट डेस्टिनेशन गोवा के 8 स्पॉट्स, यहां जरूर जाएं
    ट्रैवल डेस्क. इंडिया में टूरिस्ट का सबसे पसंदीदा स्पॉट गोवा है। यह इंडियन- पुर्तगाली कल्चर के अलावा बीचेस, किले, सी-फूड और पार्टीज के लिए मशहूर है। अगर आप 2 से 3 दिन के लिए गोवा जाने की प्लानिंग कर रहे हैं तो हम आपको कुछ ऐसे चुनिन्दा स्पॉट्स बता रहे हैं, जिन्हें एक बार जरुर एक्सपीरियंस करना चाहिए। जानिए इन स्पॉट्स के बारें में... फोर्ट अग्वाद नॉर्थ गोवा के सिनक्वेरिम बीच पर है 17 वीं सदी में बना अग्वाद फोर्ट। डच और मराठों के हमलों से बचने के लिए पुर्तगालियों ने इसे बनवायाथा। बीच किनारे बने इस...
    November 30, 02:07 PM
  • भारत में भी है चाइना जैसी 'द ग्रेट वॉल', 1000 साल पुरानी पर अब तक गुमनाम
    भोपाल से 200 किमी दूर गोरखपुर गांव में करीब 1000 साल पुरानी दीवार के अवशेष मिलने की खबर dainikbhaskar.com पर पब्लिश होने के बाद भारत सरकार और स्थानीय प्रशासन हरकत में आया। स्टेट ऑफ कल्चर एंड टूरिज्म मिनिस्टर महेश शर्मा ने आर्कियोलॉजी सर्वे ऑफ़ इंडिया से साइट का मुआयना कर इस एतिहासिक जगह को जल्द से जल्द भारत सरकार द्वारा टेकओवर करने की बात कही है। बता दें कि वर्ल्ड हैरिटेज वीक (19 से 25 नवंबर) के दौरान dainikbhaskar.com की टीम ने बेहाल पड़ी साइट का मुआयना किया तो कई हैरान करने वाली बातें सामने आई थी।कितनी है दीवार की लम्बाई......
    November 30, 12:26 PM
  • इस झरने को कहते हैं दूध का समंदर, जानें किन दो राज्यों के बीच है ये जगह
    यदि आप गोवा घूमने जा रहे हैं तो दुग्धसागर वाटरफॉल जाना न भूलें। पणजी से लगभग 60 किमी दूर यह खूबसूरत जगह गोवा की मंडोवी नदी पर स्थित है। खासकर मानसून में यह जगह बेहद खूबसूरत नज़र आती है। क्या कहा जाता है इस वाटरफॉल को... -दुग्धसागर वाटरफॉल सबसे ऊंचे झरनों की सूची में भारत में 5वें और दुनिया में 227वें स्थान पर है। - इस वाटरफॉल की गिनती भारत के सबसे ऊंचे फॉल्स में होती है। इसे मिल्क ऑफ सी के नाम से भी जाना जाता है। - इसकी ऊंचाई 310 मीटर(1017 फीट) और चौड़ाई लगभग 30 मीटर है। - यह पूरा इलाका घने जंगल से घिरा हुआ है।...
    November 30, 11:08 AM
  • रहस्य बने हुए हैं ये 10 हजार साल पुराने निशान, जानिए क्या है इसकी कहानी
    गोवा में चर्च, बीचेस और किलों के अलावा भी बहुत कुछ घूमने के लिए हैं। इन्हीं में से एक स्पॉट है उसगलीमल। यहां मेसोलिथिक पीरियड ( मध्य पाषाण काल) की रॉक कार्विंग पाई कई है। गोवा की कुशावती नदी के किनारे स्थित इस एतिहासिक जगह में कई रॉक कार्विंग ऐसी भी हैं, जिन पर अब तक रहस्य बना हुआ है। ऐसे मिली इस जगह को पहचान... - उसगलीमल की रॉक कार्विंग्स की खोज 1993 में हुई, जब गांव के लोगों ने पत्थरों पर जमी नदी की सिल्ट को हटाया। - ऐसा कहा जाता है कि ये रॉक कार्विंग्स 8000BC में कुश ट्राइब्स ने बनाई होगी, जो कभी गोवा में...
    November 28, 03:50 PM
  • ये है दुनिया का सबसे बड़ा रिवर आयलैंड, एक समय हो जाता है गायब
    ट्रैवेल डेस्क. असम में ब्रह्मपुत्र नदी के बीच 452 स्क्वेयर किलोमीटर पर है माजुली आयलैंड, जो दुनिया का सबसे बड़ा रिवर आयलैंड है। इसे हाल ही में भारत सरकार ने देश का पहला आयलैंड डिस्ट्रिक्ट घोषित किया है। लगातार क्लाइमेट चेंज के कारण यह सिकुड़ता जा रहा है। 13वीं सदी में अस्तित्व में आया था ये आयलैंड, जानिए कब होता है गायब... - माजुली आयलैंड ब्रह्मपुत्र और उसकी ट्रीब्युट्री नदियां लुइट और खेरकटिया पर कई हिस्सों में बंटा है। - हिस्टोरिकल रिकॉर्ड्स के मुताबिक, ये आयलैंड 13 वीं सदी से पहले अस्तित्व में...
    November 23, 12:05 AM
  • यहां गुरु गोबिंद सिंह ने पिछले जन्म में की थी तपस्या, फोटोज में देखिए खूबसूरती
    ट्रैवल डेस्क. नॉर्दन इंडिया के हिमालयन रेंज में 15,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित हेमकुंड साहिब सिखों का मशहूर तीर्थस्थान है। गर्मियों के महिनों में यहां हर साल दुनियाभर से हजारों लोग पहुंचते हैं। सिखों के दसवें गुरु, गोबिंद सिंह की ऑटोबायोग्राफी बछित्तर नाटक के मुताबिक, खुद गुरु गोबिंद सिंह ने अपने पिछले जन्म में यहां तपस्या की थी। ईश्वर के आदेश के बाद उन्होंने धरती पर दूसरा जन्म लिया, ताकि वे लोगों को बुराइयों से बचाने का रास्ता दिखा सकें। सात पहाड़ों से घिरा है हेमकुंड... कहां है हेमकुंड साहिब...
    November 22, 05:05 PM
  • यहां चांदी की थाली में परोसा जाता है खाना, पर प्लेट चार्ज 10 हजार रुपए
    पिंक सिटी जयपुर अपने किलों और महलों के अलावा फूड के लिए भी फेमस है। वेज, नॉन वेज से लेकर कई ट्रेडिशनल डिशेज आप यहां चख सकते हैं। हम आपको बता रहे हैं जयपुर के टॉप ईटिंग स्पॉट्स के बारे में... 1135 AD 1135 AD एक हेरिटेज रेस्टोरेंट है। इसका नाम 1135 AD इसलिए रखा गया है क्योंकि कच्छवाहा वंश ने इसी वर्ष अपने रियासत आम्बेर की नींव रखी थी। यहां की सबसे ख़ास बात यह है कि भारत के तमाम रॉयल किचन की रेसेपीज यहां के मेन्यू में शामिल की गई है। रॉयल फूड के अलावा आपको यहां रॉयल एम्बियंस भी मिलेगा। बिल क्लिंटन, राहुल...
    November 22, 01:13 PM
  • इसे कहते हैं भारत का 'नियाग्रा फॉल', यहीं हुई थी बाहुबली फिल्म की शूटिंग
    ट्रैवल डेस्क. कोच्चि से 73 किलोमीटर दूर केरल का सबसे मशहूर वॉटरफॉल अथिरापल्ली है। समुद्र तल से 1000 फीट की ऊंचाई पर यह चालक्कुडि नदी पर बना है। 80 फीट की ऊंचाई से गिरते इस नेचुरल फॉल का नजारा इतना खूबसूरत है कि इसे भारत का नियाग्रा फॉल भी कहा जाता है। यहां तमिल फिल्म डायरेक्टर-प्रोड्यूसर मणि रत्नम ने रावण, गुरु और दिल से फिल्म की सीन फिल्माए थे। इसके अलावा बाहुबली, मद्रास कैफे और पुकार के अलावा कई तमिल फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। ट्रैक करके जा सकते हैं फॉल के टॉप और बॉटम में... - एंट्रेंस प्वाइंट...
    November 21, 01:55 PM
  • गुरुनानक देव से टकराते ही मोम बन गया था ये पत्थर, आज भी हैं पीठ के निशान
    ट्रैवल डेस्क. लेह से 25 किमी पहले गुरुद्वारा पत्थर साहिब जम्मू कश्मीर का बेहद दिलचस्प टूरिस्ट स्पॉट है। दिलचस्प इसलिए क्योंकि इस जगह से एक ऐसी कहानी जुड़ी है जिसे जानकर यहां आने वाला हर शख्स हैरान हो जाता है। श्रीनगर से लेह के बीच स्थित इस गुरुद्वारे में हर साल हजारों श्रद्धालु आते हैं। जानिए क्या है यहां की कहानी... - बताया जाता है कि गुरुनानक देव जी 1517 ई में सुमेर पर्वत पर अपना उपदेश देने के बाद नेपाल, सिक्किम, तिब्बत होते हुए लेह पहुंचे थे। - तब उन्हें लेह की पहाड़ी पर रहने वाले एक राक्षस के...
    November 19, 06:24 PM
  • पहाड़ी पर बने किले में टीपू सुल्तान रखते थे खजाना, तहखाने के लिए हैं गुप्त रास्ते
    ट्रैवल डेस्क. बादामी किला कर्नाटक के सबसे मशहूर टूरिस्ट स्पॉट्स में से एक है। यह जगह उत्तर कर्नाटक के बगलकोट डिस्ट्रिक्ट से दो किमी दूर बादामी में स्थित है। इस किले की स्थापना चालुक्य राजा पुलाकेशी (540 AD to 757 AD) ने की थी। बता दें कि बादामी को पहले वातापी के नाम से जाना जाता था, जो चालुक्य शासकों की राजधानी हुआ करती थी। किले में है टीपू सुल्तान का खजाना... पल्लवों ने तोड़ा टीपू सुल्तान ने बनाया.... 642 AD में पल्लवों ने इस किले को तबाह कर दिया था। बाद में जब टीपू सुल्तान के शासन में यह किला आया तो इसके कई...
    November 19, 01:00 PM
  • इस रहस्यमयी गुफा में छिपा है खजाना, तोप के गोले से भी नहीं खुला था दरवाजा
    भारत में ऐसे कई टूरिस्ट स्पॉट्स है, जहां राजा-महाराजाओं का खजाना छिपे होने की बातें होती हैं। ऐसी ही एक कहानी सोन भंडार गुफा के बारे में भी प्रचलित है। जो बिहार के नालंदा जिले के राजगीर में आती है। क्या कहानी है खजाने की... - मौर्य शासक बिंबिसार ने अपने शासन काल में राजगीर में एक बड़े पहाड़ को काटकर अपने खजाने को छुपाने के लिए गुफा बनाई थी। - जिस कारण इस गुफा का नाम पड़ा था सोन भंडार। इस गुफा के बारे में कहा जाता है कि सोने को सहेजने के लिए इस गुफा को बनवाया गया था। - पूरी चट्टान को काटकर यहां पर दो...
    November 18, 04:25 PM
  • रहस्य बने हुए हैं नदी में बने हजारों शिवलिंग, जानिए कहां है ये जगह
    ट्रैवल डेस्क. कर्नाटक के सिरसी जिले से 10 किमी दूर शलमला नदी बहती है, जिसे देखने जो भी टूरिस्ट आता है वो हैरान रह जाता है। दरअसल, इस नदी में एक साथ हजारों शिवलिंग मौजूद हैं और सबसे ख़ास बात तो यह कि सभी शिवलिंग नदी की चट्टानों पर बने हुए हैं। ये रहस्यमयी शिवलिंग नदी में कैसे आए, इसे लेकर तरह-तरह की कहानियां प्रचलित हैं। क्या मान्यताएं हैं प्रचलित... - उत्तर कन्नड़ टूरिज्म डिपार्टमेंट के मुताबिक, शिवलिंगों को सिरसी के राजा सदाशिवा राया ने 1678 से 1718 के बीच बनवाया था। - राजा सदाशिवा राया भगवान शिव के बड़े...
    November 18, 04:15 PM
  • यहां रखी है भिक्षु की 550 साल पुरानी ममी, आज भी बढ़ रहे नाखून-बाल
    हिमाचल के लाहौल स्पीति वैली के पास 550 साल पुरानी एक ऐसी ममी है, जिसके बाल और नाखून आज भी बढ़ रहे हैं। यह बात जरुर हैरान करने वाली है, लेकिन यहां के स्थानीय लोग इसे सच बताते हैं। यही नहीं, इस ममी को भगवान मान कर पूजा की जाती है। यह जगह है ताबो मोनेस्ट्री से 40 किमी दूर गियु गांव में।जानिए किसकी है ये ममी... लामा सांगला तेनजिंग की है ममी ... - लाहौल स्पीति की ऐतिहासिक ताबो मोनेस्ट्री से करीब 50 किमी दूर गियू गांव साल में 6-8 महीने बर्फ से ढके रहने की वजह से दुनिया से कटा रहता है। - यहां मिली यह ममी तिब्बत से...
    November 17, 07:07 PM
  • ये है दुनिया की सबसे बड़ी तोप, टेस्टिंग के लिए चली तो 35 किमी दूर बना तालाब
    जयपुर के सबसे ऊंचे किले जयगढ़ पर दुनिया की सबसे बड़ी तोप जयवाण लगी है। यह किले के डूंगर दरवाजे पर रखी हुई है। तोप की नली से लेकर अंतिम छोर की लंबाई 31 फीट 3 इंच है। इसकी ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके गोले से शहर से 35 किलोमीटर दूर एक गांव में तालाब बन गया था। आज भी यह तालाब मौजूद है।जानिए जयगढ़ किले और तोप से जुड़ी खास बातें... - जयगढ़ किला सवाई जय सिंह II ने 1720 में बनवाया था। यह नाहरगढ़ की सबसे ऊंची पहाड़ी चीलटिब्बा पर स्थित है। - यहां रखी जयवाण तोप दुनिया की सबसे विशाल तोप है, जो लगभग 50...
    November 17, 10:48 AM
  • सुई चुभाने पर 450 साल पुरानी डेड बॉडी से निकला था खून, आज तक नहीं सड़ी
    गोवा के पणजी में एक चर्च है बेसिलिका ऑफ बॉम जीसस। यहां सेंट फ्रांसिस जेवियर का शरीर 450 साल से सुरक्षित रखा गया है। कहा जाता है कि फ्रांसिस जेवियर की डेड बॉडी में आज भी दिव्य शक्तियां हैं, जिस वजह से यह आज तक खराब नहीं हुई। हर साल इस चर्च को देखने के लिए यहां देश-विदेश से हजारों टूरिस्ट आते हैं।कौन थे सेंट फ्रांसिस जेवियर.... - सेंट फ्रांसिस जेवियर, संत से पहले एक सिपाही थे। वे इग्नाटियस लोयोला के स्टूडेंट थे। बता दें किइग्नाटियस ने सोसाइटी ऑफ जीसस नाम की धार्मिक संस्था शुरू की थी। - पुर्तगाल के...
    November 16, 06:59 PM
  • खजाना खोजने इंदिरा गांधी ने खुदवाया था ये किला, जानिए कहां है ये जगह
    पिंक सिटी जयपुर। राजा रजवाड़ों का शहर। ऐतिहासिक होने के साथ-साथ खूबसूरत भी। यहां घूमने के लिए आपको आलीशान किले, पैलेस, लेक से लेकर कई एतिहासिक मंदिर मिलेंगे। यदि आप जयपुर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं तो हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे स्पॉट्स के बारे में, जिन्हें एक बार जरुर एक्सपीरियंस करना चाहिए।क्या है जयपुर का इतिहास... आमेर के राजा महाराजा जयसिंह II ने 1726 में जयपुर बसाया था। यहां की सबसे खास बात यह कि ये पूरा शहर बंगाल के मशहूर आर्किटेक्ट विद्याधर भट्टाचार्य ने वास्तु शास्त्र और शिल्प...
    November 16, 12:30 PM
  • Deleted
    November 15, 08:00 PM
  • भारत के आखिरी वायसराय यहां पीते थे चाय, जानें शिमला के फेमस फूड प्लेस
    शिमला जाने वाले टूरिस्ट आमतौर पर ट्रेडिशनल हिमाचली फूड की तलाश करते हैं। हालांकि, यहां के मार्केट में पंजाबी फूड जॉइंट्स, इटैलियन रेस्टोरेंट्स, चाइनीज फूड स्टॉल्स ज्यादा हैं। लेकिन कुछ स्पॉट्स पर ट्रेडिशनल हिमाचली फूड भी आसानी से मिल जाता है। बता दें कि धाम, मिट्ठा, सिदु, बाबरु, चना मदरा और रोंधि गोभी यहां की ट्रेडिशनल डिश हैं। इसके अलावा यहां नॉनवेज में छा गोश्त, कुल्लू ट्राउट फिश और मुर्ग अनारदाना फेमस हैं। जानिए शिमला के कुछ फेमस ईटिंग स्पॉट्स के बारे में... केवल दा ढाबा (वर्मा टी स्टाल)...
    November 12, 10:42 AM