बड़ा फैसला / 2026 के बाद सिर्फ इलेक्ट्रिक कारें ही बनाएगा फॉक्सवैगन ग्रुप, सुजुकी भी 2020 में लॉन्च करेगी 4 ई-कार

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 01:47 PM IST

ऑटो डेस्क. जर्मनी में चल रही ऑटोमोटिव कॉन्फ्रेंस में दुनिया की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी में शुमार फॉक्सवैगन ग्रुप के स्ट्रैटजी चीफ माइकल जोस्ट ने यह घोषणा की 2026 के बाद फॉक्सवैगन ग्रुप सिर्फ इलेक्ट्रिक कारो का ही निर्माण करेगा वहीं पेट्रोल और डीजल कारों की मैन्युफैक्चरिंग पूरी तरह से बंद कर दी जाएगी। कंपनी के सभी ब्रांड जैसे ऑडी, बेंटले, बुगाटी, फॉक्सवैगन, पोर्शे, सीट और लेम्बोर्गिनी पर यह बात लागू होगी।

कंपनी ने यह फैसला भविष्य में बैटरी चलित व्हीकल के बढ़ते मार्केट को देखकर लिया है। हालांकि फॉक्सवैगन का विवादों से भी करीबी नाता रहा है साल 2015 में डीजल एमिशन चीटिंग स्कैंडल में भी फंसने के बाद कंपनी को 27 बिलियन यूरो को जुर्माना भरना पड़ा था।

जोस्ट ने आगे कहा कि कंपनी फिलहाल अपने पेट्रोल और डीजल कारों में इसी तरह से मैनुफैक्चर करेगी जिससे वह वातावरण को ज्यादा नुकसान न पहुंचाए और कार का कंबशन इंजन अजीवन एनवायरनमेंट स्टैंडर्ड को फॉलो करें जिससे ग्लोबल वॉर्मिंग इफेक्ट को कम किया जा सकें।

कंपनी की पहली इलेक्ट्रिक कार पोर्श Taycan को अगले साल तक पेश किया जाएगा जिसके ठीक बाद कई इलेक्ट्रिक कारों को मार्केट में उतारेगी। वहीं कंपनी अगले 5 साल में सेल्फ ड्राइविंग कारों की मैनुफैक्चरिंग के लिए भी काम करेगी जिसके लिए लगभग 3.5 लाख करोड़ रुपए का बजट बनाया है।

हालांकि इलेक्ट्रिक कारों की घोषणा करने में सिर्फ फॉक्सवैगन का ही नाम सबसे आगे नहीं है, भारत की सबसे बड़ी ऑटो कंपनी मारुति सुजुकी भी अपनी इलेक्ट्रिक कारों की लॉन्चिंग को लेकर घोषणा कर चुकी है। सुजुकी भी अपने 4 कार (वैगनR, ब्रेजा, स्विफ्ट और डिजायर) के इलेक्ट्रिक वैरिएंट को 2020 तक लॉन्च करेगी वहीं 2030 तक सुजुकी को उम्मीद है कि सेल्स में 33% हिस्सा इलेक्ट्रिक कारों का होगा।

Share
Next Story

अपकमिंग / हार्ले डेविडसन की पहली इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल LiveWire EICMA 2018 में करेगी डेब्यू

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News