Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

मधुबनी/ वरमाला होते ही पहुंच गई पुलिस नहीं हो सका सिंदूरदान, भागे पंडित

पुलिस गिरफ्त में नाबालिग व आरोपी।

काली मंदिर में 32 वर्षीय युवक से कराई जा रही थी नाबालिग की शादी

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2018, 10:39 AM IST

मधुबनी.  बुधवार को एक नाबालिग लड़की की शादी 32 वर्षिय युवक के साथ कराने का मामला सामने आया है। लड़की की मां बिचौलिया के प्रलोभन में आकर अपने पति को बिना जानकारी दिये अपने नाबालिग पुत्री कि शादी 32 वर्षीय युवक से करा रही थी। 

 

लड़की की मां ने बताया कि केवलपट्‌टी के रंजय कुमार अगुआ बन कर हमारे पास आये और नौकरी वाले लड़का व सुखी संपन्न परिवार में शादी का प्रलोभन दिया। जिसके लोभ में आकर मैं अपने बेटी की शादी के लिए तैयार हो गई। गांव से अगुआ रंजय ही मेरी बेटी को अपने साथ लेकर काली मंदिर आया और शादी करवा रहा था। 

 

नगर थानाध्यक्ष ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि गंगासागर स्थित काली मंदिर में एक नाबालिग लड़की की शादी जबरन 32 वर्षीय युवक के साथ कराई जा रही है। जहां पहुंच कर पुलिस की टीम ने शादी रूकवाई व लड़का-लड़की सहित लड़का के माता व उनकी बहन को अपने कब्जे में लेकर थाना ले आई। 

 

बिचौलिए प्रलोभन देकर करा रहे थे शादी
लड़की की मां ने बताया कि हमें केवल पट्‌टी निवासी रंजय कुमार ने बताया कि आप अपनी बेटी की शादी कहीं तो करेंगे ही हम शादी सुखी-संपन्न घर में करवा देते हैं। रंजय ने कहा कि लड़का नौकरी में है। 

 

आधे घंटे में पहुंची पुलिस
लड़का पक्ष व लड़की पक्ष के लोग सुबह नौ बजे काली मंदिर में पहुंचे। शादी की विधि शुरू हो गई थी। महज आधे धंटे बाद 9 बजकर तीस मिनट पर पुलिस मंदिर में पहुंच कर शादी के रस्म को बीच में ही रोक दिया और लड़का व नाबालिग लड़की को थाना ले आई। शादी की विधि में लड़का-लड़की के बीच वरमाला हो चुकी थी, लेकिन सिंदूर दान नहीं हुआ था। 

 

सदर एसडीपीओ कामिनी बाला ने कहा कि बाल विवाह कराने, करने वाले सहित इसमें शामिल लोगों के विरूद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई की जायेगी। मामले की जांच की जा रही है।

Recommended