पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डोर टू डोर स्क्रीनिंग का बढ़ेगा दायरा: सीएम

एक वर्ष पहले
Loading advertisement...
Open Dainik Bhaskar in...
Browser

राज्य में कोरोनावायरस संक्रमितों का पता करने के लिए डोर टू डोर स्क्रीनिंग का दायरा बढ़ाया जाएगा। गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संक्रमण से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव दीपक कुमार और अन्य अधिकारियों को पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर स्क्रीनिंग का दायरा बढ़ाने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि अगर डोर टू डोर ए स्क्रीनिंग के दौरान दूसरी बीमारियों के भी मरीज मिलते हैं तो उनके भी बेहतर इलाज की व्यवस्था कराई जाए। इसके लिए अस्पतालों में ओपीडी की व्यवस्था को और सुदृढ़ किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमितों का पता लगाने के लिए जिलों की प्राथमिकता का निर्धारण करके सभी जिलों में डोर टू डोर स्क्रीनिंग शुरू किया जाए। ताकि प्रारंभिक अवस्था में ही उनके लक्षणों के आधार पर उन्हें चिह्नत कर चिकित्सा उपलब्ध कराई जा सके। संक्रमित व्यक्ति की पूरी चेन को तेजी से चिह्नित करते हुए तत्काल टेस्टिंग कराई जाए।

कोरोना से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को दिया आदेश

कोरोना संक्रमण से डरने की बजाए सचेत रहें

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से डरने की बजाए इससे सचेत रहना है। हाॅटस्पाॅट और आसपास के क्षेत्रों को पूरी तरह सेनिटाइज किया जाए ताकि इसके संक्रमण का खतरा a हो सके। लोगों को भी अपने आसपास साफ-सफाई रखने के लिए प्रेरित किया जाए। सभी को इस बीमारी की गंभीरता को समझना होगा और सोशल डिस्टेंसिंग का हर हाल में पालन करना होगा। क्योंकि सोशल डिस्टेंसिंग ही इससे बचने का एकमात्र प्रभावी उपाय है।
Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...