बिहार / गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण नहीं रहे; पार्थिव देह डेढ़ घंटे स्ट्रेचर पर रखी रही, एंबुलेंस वाले ने 5 हजार रु. मांगे

  • 77साल के वशिष्ठ नारायण सिंह ने गुरुवार को पटना के पीएमसीएच में अंतिम सांस ली, एंबुलेंस के लिए5 हजार रु. किराया मांगा गया
  • वशिष्ठलंबे समय से सिजोफ्रेनिया से पीड़ित थे, उन्होंने आइंस्टीन के सापेक्षता सिद्धांत को चुनौती दी थी

Dainik Bhaskar

Nov 14, 2019, 02:32 PM IST

पटना.गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह (77) का गुरुवार को निधन हो गया। लंबे समय से बीमार वशिष्ठ नारायण ने पटना के पीएमसीएच में अंतिम सांस ली। वे काफी समय से सिजोफ्रेनियाबीमारी से पीड़ित थे। वशिष्ठ नारायण ने आइंस्टीन के सापेक्षता सिद्धांत को चुनौती दी थी।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके निधन पर शोक जताया। उन्होंनेकहा- सिंह का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ होगा।

वशिष्ठ नारायण सिंह का पार्थिव शरीर अस्पताल परिसर में करीब 1.30 घंटे तक स्ट्रेचर पर रखा रहा।अस्पताल प्रशासन की तरफ से एंबुलेसनहीं मुहैया कराई गई। पार्थिव देह के साथ वशिष्ठ नारायण के भाई काफी देर तक अस्पताल के बाहर खड़े रहे।उन्होंने बताया किएंबुलेंस वाले ने पार्थिव शरीरभोजपुर ले जाने के लिए 5 हजार रुपए मांगे। बाद में कलेक्टर कुमार रवि और कुछ नेता पहुंचे, जिसके बाद एंबुलेंस के उनके पैतृक आवास भोजपुर ले जाने की व्यवस्था हुई।वशिष्ठ नारायण सिंह के पार्थिव शरीर को भोजपुर ले जाने से पहले अंतिम दर्शन के लिए कुल्हड़िया कॉम्पलेक्स में रखा गया।

बिहार पत्थर हो गया- कुमार विश्वास

टीचर को भी टोक देते थे वरिष्ठ नारायण
वशिष्ठ नारायणशैक्षणिक जीवनकाल में बेहद कुशाग्र थे। पटना साइंस कॉलेज से पढ़ाई करने वाले वशिष्ठ गलत पढ़ाने पर गणित के अध्यापक को बीच में ही टोक दिया करते थे।इस बात की सूचना पर कॉलेज के प्रिंसिपल ने उन्हेंबुला कर परीक्षा ली और उन्हें सही पाया।साइंस कॉलेज में पढ़ाई के दौरान कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जे कैली ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और उन्हें अमेरिकाले गए।

नासा में भी किया काम
कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से ही उन्होंने पीएचडी की डिग्री ली और वॉशिंगटन विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर बन गए। नासा में भी काम किया। भारत लौटकर उन्होंने आईआईटी कानपुर, आईआईटी मुंबई और आईएसआई कोलकाता में नौकरी की।

Share
Next Story

फेमस पॉप सिंगर उषा उत्थुप खुद सिलकर पहनती हैं अपना सूट

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News