Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

सुर्खियों में/ टाइटैनिक स्टार लियोनार्डो डिकैप्रियो ने वापस किया गिफ्ट में मिला ऑस्कर अवॉर्ड

  • यह अवॉर्ड मर्लन ब्रैंडो ने फिल्म ऑन द वॉटरफ्रंट के लिए जीता था, बाद में यह उनके घर से गुम हो गया 
  • इसे एक ऑक्शन में मलेशियन फाइनेंसर ने खरीदा, फिर उसने लियोनार्डो को गिफ्ट कर दिया

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2018, 12:10 PM IST

हॉलीवुड डेस्क.  हॉलीवुड के मशहूर एक्टर लियोनार्डो डिकैप्रियो ने गिफ्ट में मिला ऑस्कर अवॉर्ड वापस कर दिया है। दिवंगत एक्टर मर्लन ब्रैंडो का जीता हुआ यह अवॉर्ड एक मलेशियन फायनेंसर ज़ो लो ने डिकैप्रियो को गिफ्ट में दिया था। ज़ो लो पर चल रहे एक धोखाधड़ी के केस के कारण डिकैप्रियो से यह अवॉर्ड वापस मांगा गया है।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ज़ो लो लियोनार्डो की फिल्म 'द वॉल्फ ऑफ द वॉल स्ट्रीट' का फायनेंसर था। उस पर एक इंवेस्टमेंट फंड के साथ धोखाधड़ी करने के आरोप लगे हैं, जिसकी जांच की जा रही है। यह अवॉर्ड ब्रैंडो के घर से गुम हो गया था, जिसे ज़ो लो ने कई साल बाद 6 लाख डॉलर(करीब 4.3 करोड़ रुपए) में एक ऑक्शन से खरीदा था। कई बिलियन डॉलर्स का घोटाला करने के बाद ज़ो लो फरार है, और कानूनी प्रकिया के चलते उसकी संपत्ति जब्त की जा रही है। 

 

लियोनार्डो के पास थे दो ऑस्कर, अब एक ही बचा

 

लियोनार्डो ने कोर्ट केस के चलते फिलहाल उन सभी तोहफों को अधिकारियों को वापस कर दिया है, जो ज़ो लो ने उन्हें दिए थे। इसमें ऑस्कर के अलावा पाब्लो पिकासो की एक पेंटिग और अमेरिकी आर्टिस्ट जीयां-मिशेल बशकियां के आर्टवर्क भी शामिल हैं। लियोनार्डो के पास कुल दो ऑस्कर थे, जिसमें से एक उन्होंने 'रेवेनेंट' के लिए 2016 में जीता था, वहीं दूसरा उन्हें तोहफे में दिया गया था। 

 

 

अपना ऑस्कर जीतने के लिए डिकैप्रियो ने 22 साल किया था इंतजार


देखा जाए तो ब्रैंडो ने खुद कभी ऑस्कर को ज्यादा महत्व नहीं दिया। ब्रैंडो ने अपने करियर में दो ऑस्कर जीते थे, पहला 1954 में आई फिल्म ऑन द वॉटरफ्रंट के लिए, जो उनसे गुम हो गया था। वहीं, दूसरा फिल्म 'द गॉडफादर' में अपने किरदार के लिए, जिसे उन्होंने लेने से इनकार कर दिया था। ब्रैंडो ने सेरेमनी में अपनी जगह एक नैटिव अमेरिकन महिला एक्टिविस्ट साशीन लिटिलफेदर को भेजा था। उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में इंडियन-अमेरिकन्स के साथ हो रहे व्यवहार को ऑस्कर ना लेने के पीछे का कारण बताया था।


वहीं डिकैप्रियो ने 3 बार बेस्ट एक्टर और एक बार बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर सहित कुल 6 नॉमिनेशन के बाद 2016 में जाकर अपना पहला ऑस्कर रेवेनेंट के लिए जीता था। बता दें कि लियोनार्डो को पहला ऑस्कर नॉमिनेशन महज 19 साल की उम्र में मिला था, लेकिन इसे जीतने के लिए उन्हें 41 साल की उम्र तक इंतजार करना पड़ा था।

 

 

 

डिकैप्रियो क्वैंटिन टैरेंटिनो की अगली फिल्म 'वन्स अपॉन ए टाइम इन हॉलीवुड' में काम कर रहे हैं। वहीं खबरें यह भी हैं कि लियोनार्डो स्टीवन स्पिलबर्ग के साथ भी काम कर सकते हैं। दोनों ही स्थितियों में संभावना है कि वो जल्दी ही अपनी अलमारी में इस ऑस्कर को लौटाने के कारण खाली हुई जगह भर लेंगे।

 

बताया जा रहा है कि एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज को यह अधिकार है कि वो जांच पूरी होने के बाद सरकार से अवॉर्ड वापस खरीद सकती हैं। मजेदार बात यह कि इसके लिए एकेडमी को सिर्फ 1 डॉलर चुकाना होगा।

लियोनार्डो डिकैप्रियो के साथ ज़ो लो
मर्लन ब्रैंडो 'ऑन द वॉटरफ्रंट' के लिए जीते ऑस्कर के साथ। यह वहीं ट्रॉफी है जिसे डिकैप्रियो ने लौटाया है।
साशीन लिटिलफेदर 27 मार्च 1973 को हुई एकेडमी अवॉर्ड्स सेरेमनी में मर्लन ब्रैंडो की 15 पेज की स्पीच दिखाते हुए।

Recommended