फ्रॉम द सेट / आयुष्मान खुराना की फिल्म 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' के लिए बनारस में रीक्रिएट हुआ दिल्ली

यह फिल्म 14 फरवरी 2020 को रिलीज होने वाली है

Dainik Bhaskar

Oct 20, 2019, 12:36 PM IST

बॉलीवुड डेस्क.आयुष्मान खुराना इन दिनों बनारस में फिल्म 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' की शूटिंग कर रहे हैं। समलैंगिकों की लव स्टोरी पर बेस्ड फिल्म के लिए मेकर्स ने बनारस में ही दिल्ली का मोहल्ला मोहब्बत वाला रीक्रिएट किया है। सरल शब्दों में कहा जाए तो वाराणसी में दिल्ली का इलाका चीट किया जाएगा। वह इसलिए कि टीम का दिल्ली आने-जाने और रहने का वक्त बचाया जा सके। यहां आयुष्मान अगले 56 दिनों तक 200 लोगों की कास्ट एंड क्रू के साथ शूटिंग करेंगे।

खर्च बचाने के लिए करते हैं ऐसा :माना जाता है मेकर्स ऐसा आमतौर पर खर्च बचाने के लिए करते हैं। मसलन, 'इंदु सरकार' के मेकर्स ने भी दिल्ली के 80 प्रतिशत से ज्यादा इलाके कर्जत के स्ट‍ूडियो में सेट रीक्रिएट कर शूट किए थे।

पूरी फिल्म एक स्ट्रेच में बनारस में शूट होनी है। मगर इसमें किरदारों का सफर दिल्ली का दिखाया गया है। हालांकि, दिल्ली में वह किस इलाके का होगा, वह जाहिर नहीं किया गया है। दिल्ली की सड़कें और वहां की कॉलोनियों में जैसे डिवाइडर होते हैं, वह हमें दिखाना था। ऐसे में टीम ने बनारस से दिल्ली जाना मुनासिब नहीं समझा। उसका सॉल्यूशन प्रोडक्शन और आर्ट डिपार्टमेंट ने निकाल लिया। बनारस के ही एक मोहल्ले में वैसी सड़कें, कॉलोनी और डिवाइडर रंगकर तैयार कर लिए गए हैं। दिल्ली रीक्रिएट करने का यह सारा जुगाड़ बनारस के केंद्राचल कॉलोनी में किया गया है। वहां निर्माण निगम के क्वाटर्स बने हुए हैं।'

ये पोर्शन होगा शूट :फिल्म में इस कॉलोनी से गुजर रही सड़क और डिवाइडर के दोनों तरफ बने क्वाटर्स में फिल्म के दोनों मेन लीड किरदार रहते हैं। कॉलोनी में साफ सुथरी रोड बनी हुई। वहीं पीले डिवाइडर हैं ठीक वैसे ही जैसे दिल्ली में होते हैं। उन्हीं सड़कों पर गाड़ियां चलाकर दिल्ली को चीट किया जाएगा।

इन फिल्मों की भी हुई है शूटिंग :बनारस में यह दिल्ली या किसी अन्य शहर में किसी और लोकेशन को चीट किए जाने की पहली घटना नहीं है। इससे पहले बनारस मेंसुपर 30' के लिए बिहार का पटना चीट हुआ था। फिल्म की शूटिंग बिहार में नहीं हुई थी।

  • उससे पहले 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' के लिए झारखंड के धनबाद और वासेपुर चीट हुआ था। मेजर पोर्शन बनारस और मिर्जापुर में शूट हुए थे। वासेपुर के कसाईखाने वाला सीक्वेंस इलाहाबाद के बूचड़खाने में शूट हुआ था।
  • प्रकाश झा की 'गंगाजल' में बिहार दिखाने के लिए मध्य प्रदेश के इलाके मिल जाते हैं।
  • साहो के लिए मुंबई के वर्ली सी लिंक को हैदराबाद के रामोजी स्ट‍ूडियो में चीट किया गया था।
Share
Next Story

रिएक्शन / डॉ. जिउस ने लगाया था 'डोंट बी शाय' का बिना अनुमति रीमिक्स बनाने का आरोप, बादशाह ने दी सफाई

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News