Quiz banner

एयर इंडिया के ऑपरेशंस डायरेक्टर कथपालिया का लाइसेंस 3 साल के लिए निलंबित

4 वर्ष पहले
Loading advertisement...
  • डीजीसीए ने की कार्रवाई, कथपालिया रविवार को अल्कोहॉल टेस्ट में फेल हुआ था
  • पिछले साल ऐसे ही मामले में तीन महीने के लिए उसका लाइसेंस सस्पेंड हुआ था
  • दूसरी बार पकड़े जाने पर तीन साल के लिए लाइसेंस सस्पेंशन का नियम है
दैनिक भास्कर पढ़ने के लिए…
ब्राउज़र में ही

नई दिल्ली. डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने मंगलवार को एयर इंडिया के डायरेक्टर (ऑपरेशंस) अरविंद कथपालिया को पद से हटा दिया। कथपालिया रविवार को अल्कोहॉल टेस्ट पास नहीं कर पाए थे। इसके बाद सोमवार को उनका फ्लाइंग लाइसेंस 3 साल के लिए निलंबित कर दिया गया था। शराब पीने की वजह से जनवरी 2017 में भी उसका लाइसेंस 3 महीने के लिए निलंबित हुआ था।

Loading advertisement...

1) कथपालिया की वजह से दिल्ली-लंदन फ्लाइट में 55 मिनट की देरी हुई थी

कथपालिया को रविवार को दिल्ली से लंदन के लिए उड़ान भरनी थी। लेकिन, ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट में दो बार फेल होने के बाद उसे रोक दिया गया और दूसरे पायलट को भेजा गया। इस वजह से उड़ान 55 मिनट लेट भी हुई थी।

डीजीसीए के नियमों के मुताबिक पहली बार इस तरह का मामला सामने आने पर दोषी का लाइसेंस 3 महीने के निलंबित किए जाने का प्रावधान है। दूसरी बार 3 साल के लिए सस्पेंशन किया जाता है। तीसरी बार पकड़े जाने पर लाइसेंस हमेशा के लिए रद्द करने का नियम है।

एयरक्राफ्ट नियमों के मुताबिक क्रू मेंबर उड़ान से 12 घंटे पहले तक अल्कोहॉल नहीं ले सकते। उड़ान भरने से पहले और बाद में उन्हें अल्कोहॉल टेस्ट भी पास करना होता है।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...