Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

आईपीओ/ गार्डन रीच शिपबिल्डर्स का इश्यू खुला, प्राइस बैंड 115 से 118 रुपए

  • गार्डन रीच शिपबिल्डर्स का इश्यू 26 सितंबर तक खुला रहेगा
  • निवेशकों को कम से कम 14,160 रुपए लगाने पड़ेंगे
  • रिटेल निवेशकों, कर्मचारियों को 5 रुपए प्रति शेयर डिस्काउंट

Dainik Bhaskar | Sep 24, 2018, 07:01 PM IST

मुंबई. सरकारी कंपनी गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स का आईपीओ सोमवार को निवेशकों के लिए खुल गया। प्राइस बैंड 115 से 118 रुपए और लॉट साइज 120 शेयर रखा गया है। यानि निवेशकों को कम से कम 14,160 रुपए लगाने पड़ेंगे। चालू वित्त वर्ष में यह तीसरा सरकारी आईपीओ है। इससे पहले इरकॉन इंटरनेशनल और राइट्स के इश्यू आए थे।Advertisement

सरकार का 345 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य

  1. आईपीओ के जरिए सरकार 25.5% हिस्सेदारी बेच रही है। सरकार का 345 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य है। इसके लिए कंपनी 2.9 करोड़ शेयर जारी करेगी।

    आईपीओ के जरिए सरकार 25.5% हिस्सेदारी बेच रही है। सरकार का 345 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य है। इसके लिए कंपनी 2.9 करोड़ शेयर जारी करेगी।

    Advertisement

  2. गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स रक्षा क्षेत्र की सरकारी कंपनी है। यह भारतीय नौसेना के पोतों से लेकर व्यापारिक जलपोतों का निर्माण और मरम्मत करती है। यह कर्जमुक्त कंपनी है। साल 2014 से यह शेयरधारकों को डिविडेंड दे रही है।

  3. कंपनी के पास 20,313.6 करोड़ रुपए की ऑर्डर बुक है। वित्त वर्ष 2017-18 में रेवेन्यू 1,346.5 करोड़ रुपए था। अगले 9 साल में इंडियन नेवी से नॉमिनेशन बेसिस और कम्पीटिटिव बिडिंग के जरिए 4.5 लाख करोड़ रुपए के ऑर्डर मिलने की उम्मीद है।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended

Advertisement