Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

नकदी/ नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों को दिक्कत नहीं आने देंगे- वित्त मंत्री

  • नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों के शेयर शुक्रवार को 50% तक लुढ़के
  • सेंसेक्स में शुक्रवार को कारोबार के दौरान 1128 अंक की गिरावट आई थी

Dainik Bhaskar | Sep 24, 2018, 09:29 AM IST

मुंबई. नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों (एनबीएफसी), म्यूचुअल फंड और लघु-मध्यम उद्योगों को नकदी की कमी नहीं आने दी जाएगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को इस बात का भरोसा दिया। इससे पहले रविवार को आरबीआई और सेबी ने कहा था कि शेयर बाजार की हलचल पर नजर रखी जा रही है। अस्थिरता रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे।Advertisement

आईएलएंडएफएस ग्रुप ने लोन चुकाने में डिफॉल्ट किया

  1. Advertisement

  2. शुक्रवार को शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव आया। कारोबार के दौरान सेंसेक्स 1,127.58 अंक लुढ़क गया। आईएलएंडएफएस ग्रुप ने लोन चुकाने में डिफॉल्ट कर दिया। इससे बाजार में बिकवाली बढ़ गई।

  3. आईएलएंडएफएस ग्रुप के डिफॉल्ट की वजह से सभी नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों को लेकर चिंताएं बढ़ गईं। इस वजह से शुक्रवार को इन कंपनियों के शेयरों में 50% तक गिरावट आई।

  4. न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक सेबी ने स्टॉक एक्सचेंज से शुक्रवार को हुए बड़े सौदों की जानकारी मांगी है। तेज उतार-चढ़ाव को रोकने के लिए निगरानी बढ़ाई जाएगी।

  5. एसबीआई के चेयरमैन ने भी रविवार को कहा कि नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों की लिक्विडिटी को लेकर चिंता की बात नहीं है। एसबीआई उन्हें कर्ज मुहैया करवाता रहेगा।

  6. न्यूज एजेंसी के मुताबिक ऐसी रिपोर्ट भी है कि कुछ लोग सरकार की छवि खराब करने के लिए बाजार में अस्थिरता बढ़ा रहे हैं।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended

Advertisement