Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

बचत योजना/ सरकार ने छोटी बचत पर ब्याज दर 0.4 फीसदी तक बढ़ाई, अक्टूबर से लागू होगी



सुकन्या समृद्धि योजना में 8.5 फीसदी ब्याज मिलेगा। -फाइल
  • नई ब्याज दर मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के लिए लागू रहेगी
  • हर तिमाही में छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में होता है बदलाव
Dainik Bhaskar | Sep 20, 2018, 01:44 PM IST

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) और सुकन्या समृद्धि समेत छोटी बचत वाली कई योजनाओं पर ब्याज दर 0.4 फीसदी तक बढ़ाई है। वित्त मंत्रालय ने इन योजनाओं में रकम जमा करने में बढ़ोतरी को देखते हुए गुरुवार को यह फैसला लिया। नई ब्याज दर इस वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर से दिसंबर) तक लागू होगी। 

 

 

वित्त मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी किया

  1. वित्त मंत्रालय के नोटिफिकेशन के मुताबिक, पांच साल के सावधि जमा के लिए 7.8, आवर्ती जमा के लिए 7.3 और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के लिए ब्याज दर 8.7 फीसदी कर दी गई है। हालांकि, बचत जमा के लिए ब्याज दर 4 फीसदी ही रहेगी।

  2. अब पब्लिक प्रोविडेंट फंड और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट की सालाना ब्याज दर 7.6 से बढ़कर 8 फीसदी हो जाएगी। किसान विकास पत्र (केवीपी) पर ब्याज दर 7.7 होगी और यह 112 महीने में मैच्योर हो जाएगा। पिछली तिमाही में इसकी अवधि 118 महीने थी।

  3. सुकन्या समृद्धि योजना के लिए भी ब्याज दर 0.4 फीसदी बढ़ाई गई है। अब इसमें निवेश करने पर सबसे ज्यादा 8.5 फीसदी ब्याज मिलेगा। साथ ही एक से तीन साल के सावधि जमा के लिए ब्याज दर में 0.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।

  4. बचत योजना मौजूदा ब्याज दर 1 अक्टूबर से ब्याज दर
    बचत जमा 4.0 4.0
    सावधि जमा (एक साल) 6.6 6.9
    सावधि जमा (दो साल) 6.7 7.0
    सावधि जमा (तीन साल) 6.9 7.2
    सावधि जमा (पांच साल) 7.4 7.8
    आवर्ती जमा (पांच साल) 6.9 7.3
    वरिष्ठ नागरिक बचत जमा (पांच साल) 8.3  8.7
    नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (पांच साल) 7.6 8.0
    पब्लिक प्रोविडेंट फंड योजना 7.6 8.0 
    किसान विकास पत्र 7.3 (मैच्योरिटी 118 महीने) 7.7 (मैच्योरिटी 112 महीने)
    सुकन्या समृद्धि योजना 8.1  8.5

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें