पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

निवेश:सीजी पावर में 700 करोड़ रुपए का निवेश करेगी मुरुगप्पा समूह की कंपनी ट्यूब इनवेस्टमेंट ऑफ इंडिया लिमिटेड

नई दिल्ली2 महीने पहले
ट्यूब इनवेस्टमेंट ऑफ इंडिया लिमिटेड को इस निवेश से सीजी पावर में 51% से ज्यादा हिस्सेदारी मिल जाएगी
  • टीआईआईएल पहले 550 करोड़ रुपए में सीजी पावर के 64.25 करोड़ शेयर लेकर 51% हिस्सेदारी लेगी
  • वह अगले 18 माह में सीजी पावर के 150 करोड़ रुपए के वारंट्स भी खरीदेगी, जो बाद में शेयर बन जाएंगे
No ad for you

मुरुगप्पा समूह की कंपनी ट्यूब इनवेस्टमेंट ऑफ इंडिया लिमिटेड (टीआईआईएल) सीजी पावर एंड इंडस्ट्रियल सॉल्यूशंस लिमिटेड में 700 करोड़ रुपए का निवेश करने के लिए सहमत हो गया है। इतना निवेश करने के बाद सीजी पावर में टीआईआईएल को 51 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी मिल जाएगी। इस निवेश के दो हिस्से होंगे।

सीजी पावर ने शेयर बाजारों को दी गई सूचना में कहा कि पहले हिस्से के तहत टीआईआईएल 550 करोड़ रुपए में उसके 64.25 करोड़ शेयर लेगी। इससे सीजी पावर में टीआईआईएल को करीब 51 फीसदी हिस्सेदारी मिल जाएगी। यह ट्र्रांजेक्शन 8.56 रुपए प्रति शेयर की दर पर होगा। निवेश के दूसरे हिस्से के तहत टीआईआईएल अगले 18 माह में सीजी पावर के 150 करोड़ रुपए के वारंट्स खरीदेगी, जो बाद में शेयर बन जाएंगे। इससे सीजी पावर में टीआईआई की हिस्सेदारी और बढ़ जाएगी।

अधिग्रहण के लिए टीआईआईएल को स्विस चैलेंज प्रोसेस में विजेता बनना होगा

सीजी पावर के बोर्ड ने शुक्रवार की बैठक में टीआईआईएल के निवेश को मंजूरी दी। सीजी पावर का अधिग्रहण करने के लिए हालांकि टीआईआईएल को स्विस चैलेंज प्रोसेस में विजेता बनना होगा। सीजी पावर के कर्जदाता 28 अगस्त को स्विस चैलेंज प्रोसेस को अंजाम देंगे। इसके तहत दूसरे निवेशक भी बोली लगा सकेंगे। लेकिन टीआईआईएल के पास उस बोली की बराबरी करने का पहला अधिकार होगा।

लोन की रीस्ट्रक्चरिंग पर भी निर्भर करेगा निवेश

सीजी पावर में टीआईआईएल के निवेश की दूसरी शर्त भी है। सीजी पावर के कर्जदाताओं को लोन का वन-टाइम सेटलमेंट और रीस्ट्रक्चरिंग करने के लिए तैयार होना होगा। निवेश से मिलने वाली राशि का उपयोग कारोबारी परिचालन और वर्किंग कैपिटल एक्सपेंडीचर में किया जाएगा। सीजी पावर पावर जनरेशन, ट्र्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन से जुड़े उत्पादों की डिजाइनिंग, मैन्यूफैक्चरिंग और मार्केटटिंग करती है।

सीजी पावर का पुराना नाम है क्रॉम्प्टन ग्रीव्स

सीजी पावर एंड इंडस्ट्र्रियल सॉल्यूशंस का पुराना नाम है क्रॉम्प्टन ग्रीव्स। कंपनी का ऑर्डर बुक और ह्यूमन व टेक्निकल कैपिटल बेहतरीन है। पिछले साल अगस्त में गवर्नेंस और फाइनेंशियल घपले का पता चलने के बाद कंपनी संकट में फंस गई।

लोन डावर्सन के घपले में फंस गई है कंपनी

सीजी पावर पर एसबीआई की अगुआई में विभिन्न बैंकों का 2,200 करोड़ रुपए का लोन है। कंपनी ने अपनी कुछ संपत्ति को रखकर लोन लिया था। लोन किसी अन्य अकाउंट में डायवर्ट कर दिया गया। मामला सामने आने के बाद कंपनी ने संस्थापक गौतम थापर को चेयरमैन पद से बर्खास्त कर दिया। इसके बाद एक नए बोर्ड ने कंपनी की कमान संभाल ली। गबन की गई राशि को वापस हासिल करने की कोशिश की जा रही है। सीरियस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस (एसएफआईओ) और सेबी सीजी पावर के पुराने मैनेजमेंट की जांच कर रहे हैं।

कोरोनावायरस ने घटाया कारोबार:महिंद्रा एंड महिंद्रा का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट 94% घटकर जून तिमाही में 55 करोड़ रुपए रह गया

आरबीआई की रिपोर्ट:उपभोक्ताओं का भरोसा जुलाई में गिरकर अब तक के रिकॉर्ड निचले स्तर 53.8 पर आया, अब अगले साल ही कुछ बेहतर होने की उम्मीद

No ad for you

मनी भास्कर की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved