पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Open Dainik Bhaskar in...
Browser
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आरबीआई की रिपोर्ट:उपभोक्ताओं का भरोसा जुलाई में गिरकर अब तक के रिकॉर्ड निचले स्तर 53.8 पर आया, अब अगले साल ही कुछ बेहतर होने की उम्मीद

नई दिल्ली5 महीने पहले
कंज्यूमर कॉन्फिडेंस इंडेक्स 100 के नीचे होता है तो माहोल में निराशा का पता चलता है और यह 100 के ऊपर होता है तो उपभोक्ताओं के अंदर आशा का पता चलता है
  • आरबीआई ने कहा कि लोगों को नौकरी, कमाई और जेब खर्च की सताने लगी है चिंता
  • लॉकडाउन लगने के बाद से ही लोगों के मनोबल में दिखने लगी थी गिरावट
Loading advertisement...

देश में उपभोक्ताओं का भरोसा जुलाई 2020 में गिरकर रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गया। यह बात भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा जारी ताजा कंज्यूमर कॉन्फिडेंस सर्वे रिपोर्ट में कही गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि देश के लोगों में अपनी नौकरी, कमाई और जेब खर्च को लेकर चिंता काफी बढ़ गई है।

कोरोनावायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए मार्च के आखिर में दुनिया के सबसे बड़े और सख्त लॉकडाउन लगाए जाने के बाद से ही माहौल में निराशा बढ़ने लगी थी। आरबीआई ने कहा कि जुलाई में कंज्यूमर कॉन्फिडेंस इंडेक्स और गिरकर 53.8 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गया। इंडेक्स 100 से जितना नीचे रहता है, तो माहौल में उतनी अधिक निराशा का पता चलता है। यह 100 से जितना ऊपर रहता है, माहोल में उतनी अधिक आशा का पता चलता है।

काफी घट गया है लोगों का गैर जरूरी खर्च

आरबीआई ने गुरुवार को जारी रिपोर्ट में कहा कि मौजूदा आर्थिक स्थिति, रोजगार की स्थिति और अपनी कमाई को लेकर उपभोक्ताओं का भरोसा मई के मुकाबले काफी नीचे गिर गया है। आरबीआई यह रिपोर्ट हर दो महीने में जारी करता है। सर्वेक्षण में शामिल किए गए अधिकतर लोगों ने कहा कि उनका गैरजरूरी खर्च काफी घट गया है। अगले साल भी इसमें बढ़ोतरी होने की उम्मीद नहीं है।

महंगाई में बढ़ोतरी की आशंका

आरबीआई की एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक घरों के महंगाई अनुमान में उछाल दिख रहा है। इससे आने वाले महीनों में भी आरबीआई के लिए मुख्य ब्याज दर घटाने का फैसला ले पाना काफी कठिन होगा। आरबीआई को महंगाई दर 2-6 फीसदी के दायरे में रखने की जिम्मेदारी मिली हुई है।

अगले साल माहौल सुधरने की हल्की उम्मीद

कंज्यूमर कॉन्फिडेंस सर्वे के मुताबिक उपभोक्ताओं को हालांकि अगले साल माहौल में सुधार की हल्की उम्मीद दिख रही है। आरबीआई ने यह सर्वेक्षण देश के 13 से ज्यादा शहरों में 5,000 से ज्यादा परिवारों के बीच किया। महंगाई दर में बढ़ोतरी के कारण आरबीआई ने गुरुवार को दोमाही मौद्रिक नीति समीक्षा में मुख्य ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया।

एमएसएमई को राहत:आरबीआई ने 25 करोड़ रुपए तक के डिफॉल्ट एमएसएमई लोन को रीस्ट्रक्चर करने की सुविधा 31 मार्च 2021 तक बढ़ाई

नए उद्यमों की फाइनेंसिंग:स्टॉर्टअप की राह हुई आसान, आरबीआई ने उन्हें प्रायोरिटी सेक्टर लेंडिंग के दायरे में शामिल किया

लोन नहीं चुका पाने वालों को राहत:स्ट्रेस्ड लोन को एनपीए घोषित किए बिना उसकी रीस्ट्र्रक्चरिंग कर सकेंगे बैंक, आरबीआई ने दी सुविधा

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.