Quiz banner

सेंसेक्स 346 अंक की गिरावट के साथ 34813 के स्तर पर बंद

4 वर्ष पहले
Loading advertisement...
  • निफ्टी की क्लोजिंग 103 प्वाइंट नीचे 10482 पर हुई
  • एनएसई पर आईटी को छोड़ सभी इंडेक्स में नुकसान
दैनिक भास्कर पढ़ने के लिए…
ब्राउज़र में ही

मुंबई. शेयर बाजार में सोमवार को तेज गिरावट आई। सेंसेक्स 345.56 अंक लुढ़क कर 34,812.99 के स्तर पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान इसने 34,756.80 का निचला स्तर छुआ। निफ्टी की क्लोजिंग 103 प्वाइंट नीचे 10,482.20 पर हुई। इंट्रा-डे में 10,464.05 तक फिसला।

 

ऑटो, ऑयल एंड गैस, पावर, रियल्टी, मेटल और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स शेयरों में बिकवाली से बाजार में दबाव बढ़ा। कच्चे तेल का रेट बढ़ने और दूसरे एशियाई बाजारों की कमजोरी से भी सेंटीमेंट बिगड़े।

Loading advertisement...

1) सेंसेक्स के 25, निफ्टी के 41 शेयरों में गिरावट

सेंसेक्स की 30 में से 25 कंपनियों के शेयर नुकसान में रहे। निफ्टी के 50 में से 41 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। हिंदुस्तान पेट्रोलियम का शेयर 7% से ज्यादा लुढ़क गया।

एनएसई के टॉप-5 लूजर

शेयर गिरावट
हिंदुस्तान पेट्रोलियम 7.17%
टाटा मोटर्स 4.58%
आईओसी 4.55%
हीरो मोटोकॉर्प 4.15%
हिंडाल्को 4.06%

एनएसई के टॉप-5 गेनर

शेयर बढ़त
टाइटन 5.99%
टेक महिंद्रा 2.37%
टाटा स्टील 1.93%
कोटक बैंक 1.54%
एचसीएल टेक 1.08%

शेयर बाजार में कारोबार की शुरुआत में तेजी दर्ज की गई। सेंसेक्स में 155 अंक का उछाल आया। लेकिन, बाद में मुनाफावसूली हावी हो गई। इंट्रा-डे में सेंसेक्स में 576 अंक का उतार-चढ़ाव रहा।

एनएसई के 11 में से 10 सेक्टर इंडेक्स में गिरावट के साथ कारोबार खत्म हुआ। ऑटो इंडेक्स 2.4% नुकसान में रहा। सिर्फ आईटी इंडेक्स 0.7% बढ़त में रहा।

टीसीएस का शेयर में 0.5%, इन्फोसिस 0.8% और टेक महिंद्रा 2.4% की तेजी के साथ बंद हुआ। रुपए में कमजोरी से इन शेयरों को फायदा हुआ।

डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को 39 पैसे गिरकर 72.89 पर बंद हुआ। मिडसेशन के दौरान इसने 56 पैसे की गिरावट के साथ 73.06 का स्तर छू लिया था। डॉलर की मांग बढ़ने और क्रूड के रेट में उछाल की वजह से रुपए को नुकसान हुआ।

ब्रेंट क्रूड का रेट सोमवार को 2% की बढ़त के साथ 71.62 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर आ गया। सऊदी अरब ने रविवार को कहा कि वह अगले महीने से सप्लाई कम करेगा। इस वजह से कच्चे तेल में तेजी आई। इससे पहले लगातार 4 सेशन में रेट नीचे आया था।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...