Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

शेयर बाजार/ सेंसेक्स 280 अंक लुढ़का, 4 सत्रों की गिरावट से निवेशकों के 5.6 लाख करोड़ रु डूबे

  • इंट्रा-डे में सेंसेक्स दिन के उच्च स्तर से करीब 1,500 अंक नीचे आया
  • बाजार में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट

Dainik Bhaskar | Sep 21, 2018, 06:35 PM IST

मुंबई. सेंसेक्स शुक्रवार को 279.62 अंक की गिरावट के साथ 36,841.60 पर बंद हुआ। इससे पहले मिड सेशन में यह 1,100 से ज्यादा प्वाइंट का गोता लगाकर 35,993.64 के निचले स्तर तक पहुंच गया। निफ्टी की क्लोजिंग 91.25 अंक नीचे 11,143.10 पर हुई। इंट्रा-डे में यह 10,866.45 तक फिसला था। शेयर बाजार लगातार चौथे सत्र में गिरावट के साथ बंद हुआ। चार दिन की गिरावट से निवेशकों के 5.6 लाख करोड़ रुपए डूब गए।

एनबीएफसी के शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट

  1. निवेशकों में नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों को लेकर खबर फैली कि ये कंपनियां नकदी के संकट में फंस सकती हैं। इससे बाजार में बिकवाली बढ़ गई। कारोबार के दौरान दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन (डीएचएफएल) के शेयर में 57% गिरावट आ गई। इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस कारोबार के दौरान 30% गिर गया। क्लोजिंग 8.49% गिरावट के साथ हुई।

  2. एनएसई के टॉप-5 लूजर

    शेयर गिरावट
    यस बैंक 29.46%
    इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस 8.49%
    बजाज फाइनेंस 4.27%
    यूपीएल 3.80%
    कोटक बैंक 3.42%

  3. एनएसई के टॉप-5 गेनर

    शेयर बढ़त
    इंफ्राटेल  3.01%
    बीपीसीएल 3.00%
    आईओसी 2.70%
    हिंडाल्को 2.31%
    हिंदुस्तान पेट्रोलियम 2.05%

  4. यस बैंक का शेयर शुरुआती कारोबार में 32% तक लुढ़ककर 210.10 रुपए तक पहुंच गया। यह जनवरी 2008 के बाद सबसे बड़ी गिरावट है। हालांकि, बाद में कुछ रिकवरी आ गई। आरबीआई ने बुधवार को यस बैंक के एमडी और सीईओ राना कपूर को 31 जनवरी 2019 के बाद पद छोड़ने के लिए कह दिया।

  5. डॉलर के मुकाबले रुपया शुक्रवार को मजबूत हुआ। यह 53 पैसे की बढ़त के साथ 71.84 पर आ गया। एक्सपोर्टर्स और बैंकों की ओर से डॉलर की बिकवाली से रुपए का सहारा मिला। रुपया बुधवार को 61 पैसे मजबूत होकर 72.37 पर बंद हुआ था। गुरुवार को मुहर्रम की वजह से शेयर बाजार और करंसी मार्केट बंद रहा।