पेमेंट डेटा / वीजा, मास्टरकार्ड जैसी कंपनियां विदेश में डेटा स्टोर कर भारतीय नियम तोड़ रहीं : न्यूयॉर्क टाइम्स

  • आरबीआई के निर्देशों के मुताबिक विदेशी फर्मों को भारत में डेटा स्टोर करना जरूरी
  • कंपनियों को 15 अक्टूबर रात 12 बजे तक आरबीआई को अपनी योजना बतानी थी
  • वीजा, मास्टरकार्ड, अमेरिकन एक्सप्रेस ने डेटा लोकलाइजेशन का सिस्टम नहीं बनाया
  • वॉट्सऐपने अपनी पेमेंट सर्विस कासिस्टम भारत मेंतैयार करने की जानकारी दी

Dainik Bhaskar

Oct 16, 2018, 07:37 PM IST

मुंबई. वीजा, मास्टरकार्ड और अमेरिकन एक्सप्रेस जैसी अमेरिकी कंपनियां भारत के नियमों का उल्लंघन कर रही हैं। आरबीआई के निर्देशों के मुताबिक 16 अक्टूबर से विदेशी कंपनियों को पेमेंट से जुड़े डेटा भारत में ही स्टोर करने थे। कंपनियों को 15 अक्टूबर रात 12 बजे तक आरबीआई को इस संबंध में बताना था, लेकिन अखबार द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी कार्ड कंपनियों ने ऐसा नहीं किया।

Share
Next Story

आंकड़े / सितंबर में थोक महंगाई दर बढ़कर 5.13% हुई, खाद्य वस्तुओं के रेट ज्यादा बढ़े

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News