Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

छत्तीसगढ़ / विरोध किया, रास्ता रोका, नक्सलियों ने विस्फोट किया, फिर भी जमकर पड़े वोट, 70.65 % हुआ मतदान

कांकेर लोकसभा के बालोद विधानसभा के ओरमा मतदान केंद्र में सुबह से लगी महिलाओं की भीड़

  • दूसरे चरण में राजनांदगांव, महासमुंद और कांकेर लोकसभा सीट के लिए डाले गए वोट
  • राजनांदगांव में 70.65%, महासमुंद में 66.56%और कांकेर में 68.77फीसदी हुआ मतदान
  • महिलाओं में दिखा सबसे ज्यादा उत्साह, कई किमी दूर का सफर तय कर पहुंची वोट करने
  • अंतिम चरण में अब 23 अप्रैल को रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, सरगुजा, जांजगीर चांपा, रायगढ़ व कोरबा में मतदान

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2019, 06:08 PM IST

रायपुर/राजनांदगांव/महासमुंद/कांकेर. लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में प्रदेश की तीन सीटों राजनांदगांव, महासमुंद और कांकेर के लिए गुरुवार को मतदान हुआ। नक्सलियों ने विरोध किया, रास्ता रोका, यहां तक कि आईईडी ब्लास्ट भी किया, बावजूद इसके मतदाता नहीं रुके। सबसे ज्यादा उत्साह नक्सली प्रभावित क्षेत्रों और महिलाओं में दिखा। जिसके चलते दूसरे चरण में 70.65 प्रतिशत वोट पड़े। हालांकि नक्सल प्रभावित क्षेत्र से अभी मतदान के आंकड़े आने में समय लगेगा। ऐसे में वोटिंग का यह प्रतिशत बढ़ भी सकता है।

अभी तक दो चरणों में लोकसभा चुनाव के दौरान प्रदेश में हुई वोटिंग में महिलाओं का उत्साह सबसे ज्यादा रहा। सुबह मतदान शुरू होने से पहले ही महिलाएं बूथ के बाहर पहुंच गईं। इनमें ऐसी महिलाएं भी शामिल थीं, जो रोजी-रोटी के लिए मजदूरी करती हैं। उनका कहना था कि मतदान जरूरी है, इसलिए सुबह से ही आ गए। वोट करने के बाद ही अब काम पर जाएंगे। प्रदेश में अब तीसरे व अंतिम चरण में 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। प्रदेश की 7 सीटों रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, सरगुजा, जांजगीर चांपा, रायगढ़ व कोरबा में मतदान होगा।

धमकी दी, आईईडी विस्फोट किया, फिर भी नहीं डिगे लोग

नक्सलियों ने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार की धमकी दे रखी है। दूसरे चरण में भी राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र के मोहला-मानपुर,कांकेर लोकसभा क्षेत्र के अन्तागढ़, भानुप्रतापपुर, केशकाल वकांकेर विधानसभा क्षेत्र औरमहासमुंद लोकसभा में बिंद्रानवागढ़ के 6 केंद्र नक्सल प्रभावित थे। जिसके चलते यहां पर 3 बजे तक ही मतदान का समय रखा गया था। बावजूद इसके लोग मतदान केंद्र तक पहुंचे और अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

कांकेर के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र दुर्गकोंदल विकासखंड के अंतिम छोर कोदापाखा की फोटो नक्सलियों के खिलाफ हौंसलों को बताती है। जहां पर नक्सली दहशत होने के बावजूद महिलाएं, बुजुर्ग और युवा मतदान करने के लिए पहुंचे।राजनांदगांव लोकसभा के भी मानपुर में मेढ़ा-ढब्बा गांव मेंनक्सलियों ने साइकिल पर आईईडी ब्लास्ट किया। इसमें आईटीबीपी के दो जवान घायल हो गए। वोट करने जा रहे ग्रामीणों का रास्ता नक्सलियों ने रोका। फिर भी दूसरे रस्तो से ग्रामीण पोलिंग बूथ पर पहुंचे।

चुनाव अपडेट

  • दूसरे चरण में कई स्थानों पर ईवीएम खराबी को लेकर शिकायतें आईं। जिसके चलते 15 मिनट से लेकर एक घंटे तक मतदान रुका रहा।
  • सबसे ज्यादा ईवीएम खराब होने की शिकायत धमतरी की थी। जिसके चलते लाइन में इंतजार कर रहे तमाम मतदाता बिना वोट किए भी लौट गए।
  • बालोद में कई लोगों को विधानसभा चुनाव की तरह 8 बजे से मतदान शुरू होने का भ्रम भी रहा।
  • राजनांदगांव केमानपुर थाना क्षेत्र केकोहका में सुरक्षाकर्मियों और ग्रामीणों के बीच झड़प। ग्रामीण थाने में एफआईआर करने पहुंचे।
  • महासमुंद के खल्लारी विधानसभा क्षेत्र के बीके बहरास्थितस्कूल परिसर में बने मतदान केन्द्र परमधुमक्खियों का हमला। दो घायल, वृद्धगंभीर।
  • कवर्धा मेंग्राम छिंदीडीह के मतदाता 10.30 बजे तक मतदान करने नही गए। बैगा आदिवासी बूथ बदलने को लेकर हैं नाराज। इन मतदाताओ को तेलियापानी धोबे जाना है मतदान करने।
  • भानुप्रातापपुर केअंतागढ़ में बूथ 186 पर ड्यूटी कर रहे मतदान कर्मी झोलीन गांव, भानुप्रतापपुर निवासी सुकलुरामकी हार्टअटैक से मौत हो गई।


पुलिया निर्माण नहीं होने से 8 गांवों ने किया चुनाव बहिष्कार


दूसरी ओरमहासमुंद लोकसभा के गरियाबंद जिले के 8 गांव के मतदाताओं ने चुनाव का बहिष्कार किया। देवभोग विकासखंड में आने वाले इन गांवों के मतदाताओं का कहना है कि तेलनदी के सेनमूड़ा घाट पर पुलिया का निर्माण नहीं होगा तो वो मतदान नहीं करेंगे। अधिकारियों ने इनको समझाने का प्रयास किया, लेकिन ये मानने को तैयार नहीं हैं। इनमें शामिल सेनमूड़ा, सगुनभाड़ी, खोकसरा, खम्हारगूडा, सेनमूड़ा, परेवापली, मोटरापारा में एक भी वोट नहीं डाले गए हैं। जबकि ठीरलीगुड़ा में केवल 4 वोट पड़े। ग्रामीणों ने प्रत्याशियों के पोलिंग एजेंट तक नहीं बैठाने दिया।

तीनों लोकसभा से जुड़ी खास बातें

  • दूसरे चरण में राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र में राजनांदगांव व कबीरधाम जिला, महासमुंद में महासमुंद व गरियाबंद और कांकेर लोकसभा में कांकेर, धमतरी, बालोद जिलों के साथ कोंडगांव विधानसभा क्षेत्र शामिल है।
  • तीनों लोकसभा क्षेत्रों में मतदान के लिए कुल 6484 मतदान केंद्र बनाए गए। कांकेर में 2022, राजनांदगांव में 2322 व महासमुंद में 2140 मतदान केंद्र बने।
  • कांकेर में 22, राजनांदगाव में 256 और महासमुंद में 154 बूथ नक्सल प्रभावित और संवेदनशील थे।
  • राजनांदगांव में अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित 56 बूथों का स्थान बदला गया है।
  • सभी सीटों से कुल 36 प्रत्याशी मैदान में हैं। इसमें से राजनांदगांव में 14, महासमुंद में 13 तथा कांकेर में 9 शामिल हैं।
  • इस चरण में कुल 49 लाख 7 हजार 489 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें से 24 लाख 69 हजार 110 महिलाएं, 24 लाख 38 हजार 320 पुरुष व 59 तृतीय लिंग के मतदाता हैं।
Share
Next Story

लोकसभा चुनाव  / अंतिम चरण में चार दिनों तक स्टार कैंपेन, भाजपा का रायगढ़, बिलासपुर में फोकस

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News