छत्तीसगढ़ / सीएम रमन को राजनांदगांव से चुनौती देंगी अटल की भतीजी करुणा

करुणा शुक्ला, रजनांदगांव से कांग्रेस उम्मीदवार।

  • कांग्रेस कीदूसरी लिस्ट जारी,विधायकभोलाराम साहू औरतेजकुंवर नेतामका टिकट कटा
  • इससे पहले पार्टी नेबस्तर संभाग की 12 सीटों पर उम्मीदवार किए थे घोषित
  • प्रदेशमें दो चरणों 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान, नतीजे 11 दिसंबर को

Dainik Bhaskar

Oct 23, 2018, 02:13 PM IST

रायपुर.कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट भी जारी कर दी है। जारी लिस्ट में 6 और विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारी तय की गई है। इसमें राजनांदगांव से मुख्यमंत्री रमन सिंह के अपोजिट करुणा शुक्ला को मैदान में उतारा जा रहा है। वहइससे पहले भाजपा में थीं।

मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के चुनाव लड़ने के फैसले को ध्यान में रखकर कांग्रेस ने राजनांदगांव सीट कोखाली रखाथा। मुख्यमंत्री का नाम घोषित होते ही कांग्रेस ने भी यहां से पत्ते खोल दिए हैं। जारी लिस्ट के मुताबिक खैरागढ़ से गिरवर जंघेल, डोंगरगढ़ (एससी) से भुनेश्वर सिंह बघेल, राजनांदगांव से करुणा शुक्ला, डोंगरगढ़ से दलेश्वर साहू, खुज्जी से चन्नी साहू और मोहला मानपुर (एसटी) से इंदर शाह मंडावी को उम्मीदवार घोषित किया गया है। कांग्रेसपहली लिस्ट में बस्तर संभाग की12 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान कर चुकी है।

सीएम रमन के खिलाफ करुणा को इसलिए उतारा :कांग्रेस के पास राजनांदगांव से सीएम रमन के खिलाफ एेसा कोई नाम नहीं आया जिस पर विचार होता। नया चेहरा तलाशा जा रहा था। करुणा की सीएम से खटास जगजाहिर है। उन्हें तेज तर्रार वक्ता माना जाता है। इसलिए कांग्रेस ने करुणा को चुना।

भाजपा की ही भावना को हथियार बनाने की रणनीति :मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के खिलाफ भाजपा के पितृ पुरुष स्व. अटलजी की भतीजी करुणा शुक्ला उम्मीदवार। यह लाइन पढ़ने में ही रोचक है। इसका अपना अलग राजनीतिक महत्व है। खासकर तब जब हाल ही में अटलजी की मौत के बाद भाजपा ने पूरे देश को अटलमय करने का प्रयास किया था। करुणा को रमन के खिलाफ उतारकर कांग्रेस ने बड़ी रणनीतिक चाल चली है। अटलजी की भतीजी करुणा के भाजपा से दूर जाने को कांग्रेस इस तरह प्रचारित करेगी कि भाजपा ने अटलजी को भुला दिया। अटलजी के परिवार के लोगों को ही भाजपा संभालकर नहीं रख पाई।

दो विधायकों का टिकट कटा :2013 में खुज्जी से जीते भोलाराम साहू का टिकट काट दिया गया है। पार्टी ने उनकी जगह चन्नी साहू को मैदान में उतारा है। वहीं, मोहला मानपुर से विधायक तेजकुंवर नेताम का भी टिकट कट गया है। यहां से इंदर शाह मंडावी कांग्रेस उम्मीदवार होंगे। खैरागढ़ से विधायक गिरवर जंघेल और डोंगरगढ़ से विधायक दलेश्वर साहू को एक बार फिर पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है।

पहले चरण में इनके बीच टक्कर

विधानसभा भाजपा कांग्रेस
राजनांदगांव डॉ. रमन सिंह करुणा शुक्ला
खैरागढ़ कोमल जंघेल गिरवर जंघेल
डोंगरगढ़ सरोजनी बंजारे भुनेश्वर बघेल
डोंगरगांव मधुसूदन यादव दलेश्वर साहू
खुज्जी हिरेंद्र साहू छन्नी साहू
मोहला-मानपुर कंचनमाला भूआर्य इंद्र शाह मंडावी
अंतागढ़ विक्रम उसेंडी अनूप नाग
भानुप्रतापपुर देवलाल दुग्गा मनोज मंडावी
कांकेर हीरा मरकाम शिशुपाल सोरी
केशकाल हरिशंकर नेताम संतराम नेताम
कोंडागांव लता उसेंडी मोहनलाल मरकाम
नारायणपुर केदार कश्यप चंदन कश्यप
बस्तर सुभाऊ कश्यप लखेश्वर बघेल
जगदलपुर संतोष बाफना रेखचंद जैन
चित्रकोट लच्छूराम कश्यप दीपक कुमार बैज
बीजापुर महेश गागड़ा विक्रम मंडावी
कोंटा धनीराम बारसे कवासी लखमा
दंतेवाड़ा भीमा मंडावी देवती कर्मा

चुनाव कार्यक्रम

  • पहले चरण की सीटों पर 84 लोग फॉर्म जमा कर चुके हैं, इनमें लगभग 16 निर्दलीय हैं।
  • सोमवार को यानी 22 अक्टूबर को सबसे ज्यादा करीब 10 आवेदन राजनांदगांव से भरे गए।
  • पहले चरण में 24 अक्टूबर को आवेदन पत्रों की जांच होगी। 26 अक्टूबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। दूसरे चरण की 72 सीटों के लिए नामांकन प्रक्रिया 26 अक्टूबर से ही शुरू होगी।
  • आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह समेत राजनांदगांव से भाजपा के सभी 6 प्रत्याशी और कांग्रेस की करुणा शुक्ला समेत कई दिग्गज पर्चा दाखिल करेंगे।
  • सोमवार को नारायणपुर सीट से मंत्री केदार कश्यप, कोंटा से कांग्रेस के कवासी लखमा, दंतेवाड़ा से देवती कर्मा, कोंटा से सीपीआई के मनीष कुंजाम और भानुप्रतापपुर से आप के सीएम पद के दावेदार कोमल सिंह ने पर्चा भरा।

Share
Next Story

अपराध / खुद को माओवादी बता 2 लाख रुपए और 12 बोरी चावल की वसूली की, आरोपी गिरफ्तार

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News