लोकसभा अपडेट्स / चुनाव आयोग ने कांग्रस के विज्ञापन 'चौकीदार चोर है' पर रोक लगाई

  • भाजपा ने विज्ञापन के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत की थी, इसे अपमानजनक बताया था
  • अखिलेश यादव ने आजमगढ़, मेनका गांधी ने सुल्तानपुर और पूनम सिन्हा ने लखनऊ से भरा पर्चा

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2019, 03:10 PM IST

नई दिल्ली. भोपाल से कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रहीं भाजपा की साध्वी प्रज्ञा यहां प्रेस कॉन्फ्रेंसके दौरान भावुक हो गईं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग चाहते हैं कि मुझे फांसी पर लटका दिया जाए। मालेगांव ब्लास्ट की जांच के दौरान मुझसे पूछा गया कि तुम आतंकवादी हो? संघ आतंकवादी है? किस किस के साथ बैठक होती थी? कैसे प्रशिक्षण देती थीं? मुझे पता चल गया कि हिंदुत्व को टारगेट किया जा रहा है। मैंने उनसे कहा-मैंने संन्यासी जीवन बिताया है । मैं मेरी नहीं हूं, मेरा कुछ भी नहीं है और जो कुछ भी है वह देश का है। 24 दिनों तक मैंने केवल पानी पिया। अन्न तक नहीं खाया था।

  • ‘वो मेरा एनकाउंटर करना चाहते थे’

    साध्वी ने कहा- वो मुझसे कहलवाना चाहते थे कि तुमने विस्फोट किया है और मुस्लिमों को मारा है। सुबह हो जाती थी पिटते-पिटते, पीटने वाले लोग बदल जाते थे, लेकिन पिटने वाली मैं अकेली रहती थी। वो तो मेरा एनकाउंटर तक करना चाहते थे। वहीं, साध्वी प्रज्ञा उम्मीदवार बनाने पर एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भाजपा पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री झूठों के सरदार हैं, आप आतंक से लड़ना नहीं चाहते। अगर आपके पास स्तर और इमानदारी होती तो आप आतंक फैलाने के आरोपी को उम्मीदवार न बनाते।

  • साध्वी को चुनाव लड़ने से रोकने की मांग

    लोकसभा चुनाव में साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी रोकने के लिए मालेगांव ब्लास्ट में मारे गए एक व्यक्ति के पिता ने गुरुवार को स्पेशल एनआईए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इस पर कोर्ट ने सोमवार तक भाजपा और साध्वी प्रज्ञा से जवाब मांगा है। दूसरी तरफ राजनीतिक कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला ने भी साध्वी की उम्मीदवारी रद्द करने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र एंटी-टेररिस्ट स्क्वाड ने मालेगांव ब्लास्ट में साध्वी प्रज्ञा को मुख्य साजिशकर्ता बताया था। इसलिए उन्हें चुनाव न लड़ने दिया जाए। हालांकि भाजपा ने कहा कि साध्वी भोपाल से ही चुनाव लड़ेंगी, क्योंकि यह कांग्रेस की हिंदू धर्म को आतंक से जोड़ने की साजिश के खिलाफ उनकी लड़ाई है। 

  • अखिलेश यादव ने भरा पर्चा

    सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आजमगढ़ लोकसभा सीट से गुरूवार को पर्चा भरा। 2014 में मुलायम सिंह यादव इस सीट चुनाव जीते थे। वे इस बार मैनपुरी से चुनाव मैदान में हैं। भाजपा ने अखिलेश के खिलाफ भोजपुरी अभिनेता और गायक दिनेश लाल यादव "निरहुआ' को टिकट दिया है। यहां 6वें चरण यानी 12 मई को मतदान होना है।

  • कांग्रेस से आजादी मिलने के बाद ही देश की गरीबी दूर होगी

    गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को प. बंगाल के अमटा में जनसभा की। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के गरीबी दूर करने के वादे को लेकर तंज कसा। उन्होंने कहा, देश वास्तव में गरीबी से तभी स्वतंत्र होगा, जब इसे कांग्रेस से आजादी मिल जाएगी। राजनाथ ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के समय से ही कांग्रेस गरीबी हटाने का वादा कर रही है।

  • चुनाव आयोग ने कांग्रेस के विज्ञापन 'चौकीदार चोर है' पर रोक लगाई

    चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस के विज्ञापन 'चौकीदार चोर है' पर रोक लगा दी है। आयोग ने इस विज्ञापन के ब्रॉडकास्ट को बंद करने का आदेश दिया। ज्वॉइंट चीफ इलेक्शन ऑफिसर ने बुधवार को सभी जिला अधिकारियों को नोटिस जारी कर कहा, मीडिया सर्टिफिकेशन और इंस्पेक्शन कमेटी ने विज्ञापन का सर्टिफिकेशन निरस्त कर दिया और इसे बंद कर देना चाहिए। इससे पहले भाजपा ने इस मामले में चुनाव आयोग से शिकायत की थी और कहा था कि यह अपमानजनक है।

  • मेनका गांधी ने भरा पर्चा

    केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने गुरुवार को सुल्तानपुर सीट से पर्चा भरा। इस दौरान उन्होंने पांच किलोमीटर लंबा रोड शो भी किया। 2014 में सुल्तानपुर से उनके बेटे वरुण गांधी चुनाव जीते थे। इस बार वरुण अपनी मां की लोकसभा सीट पीलीभीत से उम्मीदवार हैं। वे यहां से 2009 में भी चुनाव जीते थे। मेनका पीलीभीत से 6 बार सांसद रह चुकी हैं।

  • राजनाथ के खिलाफ शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी ने भरा पर्चा

    भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा ने लखनऊ लोकसभा सीट से गुरुवार को पर्चा भरा। वे सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं हैं। इस दौरान सिन्हा ने रोड शो भी किया। उनके साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी और कन्नौज से सांसद डिंपल यादव और शत्रुघ्न सिन्हा भी मौजूद रहे। इस सीट से भाजपा ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को उम्मीदवार बनाया है।

  • मोदी की सेना वाले बयान पर नकवी को आयोग की चेतावनी

    चुनाव आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को चेतावनी दी है। नकवी ने रामपुर में तीन अप्रैल को सभा में अपने भाषण में ‘मोदी की सेना’ का जिक्र किया था। आयोग ने 9 मार्च को पत्र जारी कर सभी राजनीतिक पार्टियों को चुनाव प्रचार के दौरान सेना का इस्तेमाल न करने का निर्देश दिया था। 

  • वोटरों ने मतदान प्रक्रिया का वीडियो फेसबुक पर पोस्ट किया, आयोग ने लिया एक्शन

    महाराष्ट्र के उस्मानाबाद में कुछ वोटरों ने मतदान प्रक्रिया का वीडियो बनाकर फेसबुक पर वायरल कर दिया। चुनाव आयोग ने मामले में जांच के आदेश दे दिए। चुनाव आयोग की गाइडलाइन के मुताबिक, वोटर मतदान के दिन 100 मीटर दायरे तक मोबाइल फोन नहीं ले जा सकते। आयोग के अफसरों ने कहा कि यह आयोग की गाइडलाइन का उल्लंघन है और बैलेट के सिद्धांतों के खिलाफ है। फेसबुक पोस्ट करने वाले यूजर्स पर साइबर एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। 

Share

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News