पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर एक्सक्लूसिव:'हीरो गायब मोड ऑन' के लिए हर दिन 3 घंटे तक होता है कैलाश तोपनानी का मेकअप, फिर 12 घंटे चलती है शो की शूटिंग

2 महीने पहलेलेखक: गगन गुर्जर
Loading advertisement...
Open Dainik Bhaskar in...
Browser

भोपाल, मध्य प्रदेश के 25 साल के कैलाश तोपनानी इन दिनों सब टीवी के कॉमेडी शो 'हीरो गायब मोड ऑन' में अहम भूमिका निभा रहे हैं। यह एक फंतासी ड्रामा सीरीज है। इसमें कैलाश एलियन विचल के रोल में हैं। दैनिक भास्कर से खास बातचीत में उन्होंने अपने इस किरदार जुड़ी खास बातें शेयर की।

प्रोस्थेटिक मेकअप में लगते हैं 3 घंटे

कैलाश की मानें तो टीवी पर वे पहले ऐसे एक्टर हैं, जिन्होंने पूरे टाइम के लिए प्रोस्थेटिक मेकअप का इस्तेमाल किया है। वे कहते हैं, "प्रोस्थेटिक मेकअप करने में 3 घंटे का समय लगता है और फिर इसके साथ करीब 12 घंटे तक शूटिंग करनी होती है। इस मेकअप को निकालने में करीब 45 मिनट से 1 घंटे का वक्त लगता है। जो आर्मर का इस्तेमाल हम करते हैं, वह करीब 5-6 किलो का होता है। आंखों का रंग बदलने के लिए किसी तरह कि वीएफएक्स का इस्तेमाल नहीं किया गया है, बल्कि इसके लिए लैंस लगाए जाते हैं।"

कैसे मिला रोल?

कैलाश कहते हैं, "जब मेकर्स ने मुझे पहली बार यह रोल ऑफर किया, तब मैं 'संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं' कर रहा था। इसलिए मैं यह नहीं कर पाया। लेकिन कुछ समय बाद मेकर्स ने मुझे दोबारा कॉल किया और मेरी डेट्स के बारे में पूछा। चूंकि मेरे पास डेट्स उपलब्ध थीं, इसलिए मैंने हामी भर दी। फिर मेरा कोविड-19 टेस्ट किया गया और जब यह निगेटिव आया तो मुझे कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के लिए बुलाया गया। मुझे इसकी ब्रीफिंग काफी पसंद आई थी और रोल चैलेंजिंग लगा था।

ऐसे तय हुआ मुंबई का सफर

कैलाश के मुताबिक, वे बैरागढ़ से एमपी नगर कोचिंग करने जाते थे। घर से उन्हें 50 रुपए मिलते थे, जो दोनों ओर का किराया होता था। एक दिन दोस्त के कहने पर वे होशंगाबाद रोड स्थित एक मॉल घूमने गए, जहां मॉडलिंग के ऑडिशन चल रहे थे। दोस्त ने उकसाया तो वे ऑडिशन देने तैयार हो गए, लेकिन उनके पास रजिस्ट्रेशन के लिए पैसे नहीं थे। तब उसी दोस्त ने उनका रजिस्ट्रेशन कराया और किस्मत से वहां उनका सिलेक्शन भी हो गया।

कैलाश कहते हैं, "मुझे आज भी याद है कि उस दिन मैं लिफ्ट मांगते-मांगते घर पहुंचा था। क्योंकि दोस्त पहले ही जा चुका था। इसके बाद मैंने दोस्त के साथ जिम ज्वॉइन कर ली, जो घर से काफी दूर था। वहां दोस्त के साथ उसकी बाइक से ही जाता था। कुछ दिनों बाद जब उसने जिम छोड़ दी तो मेरी परेशानी बढ़ गई। लेकिन बॉडी बनते देख मैं अच्छा महसूस कर रहा था। इसलिए कभी लिफ्ट मांगकर तो कभी बस से जिम करने पहुंच जाता था। एक दिन डरते-डरते पापा के सामने मुंबई जाने की इच्छा जाहिर की। उन्होंने बात समझी और इजाजत दे दी।"

सम्राट अशोक था पहला टीवी शो

कैलाश की मानें तो मुंबई में भी उन्होंने काफी संघर्ष किया। कई ऑडिशन दिए और फिर उन्हें पहला शो 'चक्रवर्ती सम्राट अशोक' मिला। इसमें उन्होंने विलेन बाहुबली बवंडर का रोल निभाया था। कैलाश ने टीवी पर 'इश्क में मरजावां, 'सूफियाना प्यार मेरा', 'इश्क सुभानअल्लाह', कुल्फी कुमार बाजेवाला' और 'गुड्डा तुमसे न हो पाएगा' जैसे सीरियल्स में नेगेटिव रोल निभाए। 'महाबली हनुमान' में उन्हें शत्रुघ्न का रोल करते देखा जा चुका है।

ऐसे मिली 'पृथ्वीराज चौहान'

कैलाश के मुताबिक, उन्होंने यशराज फिल्म्स की अपकमिंग फिल्म 'जयेशभाई जोरदार' के लिए ऑडिशन दिया था, जिसके लीड एक्टर रणवीर सिंह हैं। इसके लिए प्रोडक्शन हाउस की ओर से उन्हें तीन बार बुलाया गया। लेकिन बदकिस्मती से वे सिलेक्ट नहीं हो सके। हालांकि, जब यशराज ने 'पृथ्वीराज चौहान' के ऑडिशन शुरू किए तो एक बार फिर उन्हें बुलाया गया और वे फिल्म में कास्ट कर लिए गए। है।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...