पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
No ad for you

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एविक्शन पर नाराजगी:बिना वोटिंग के एविक्ट हुए शहजाद देओल ने शो को कहा अनफेयर, भड़कीं सारा गुरपाल बोलीं- ये जनता का शो नहीं लग रहा

एक महीने पहले
No ad for you

टेलीविजन के सबसे विवादित रियलिटी शो में से एक बिग बॉस 14 से अब तक दो लोग बेघर हो चुके हैं। हर साल जहां जनता के वोट के आधार पर सदस्यों को निकाला जाता था वहीं इस साल कुछ तूफानी सदस्यों को घर के ज्यादातर बड़े फैसले करते देखा गया है। सारा गुरपाल का एविक्शन सिद्धार्थ शुक्ला, गौहर और हिना की सहमति से हुआ था जिससे सिंगर काफी नाराज हुई थीं। मगर अब दोबारा शहजाद देओल को बेघर होते देख उन्होंने शो पर कई आरोप लगाए हैं।

बुधवार को शहजाद देओल को घर से बेघर कर दिया गया है। एपिसोड देखकर सारा ने ट्वीट के जरिए नाराजगी जताते हुए लिखा, ओह माय गॉड, फिर से। मुझे नहीं लगता कोई फेयर गेम खेली जा रही है। शहजाद देओल का एविक्शन बहुत निराशाजनक है। पंजाब के गबरू को बहुत पॉवर। बिग बॉस 14 जनता का शो कहीं से नहीं लग रहा।

सारा ने अपने एविक्शन के बाद शो से जुड़े कई खुलासे किए थे। उन्होंने बताया कि सिद्धार्थ ने उन्हें इसलिए निकाल दिया क्योंकि वो टास्क के दौरान उनकी गोद में बैठकर सहज महसूस नहीं कर सकती थीं। इसके अलावा सारा ने कुमार सानू के बेटे जान के साथ शो में पक्षपात होने की बात कही।

शहजाद देओल ने शो से बाहर जाने के बाद गेम शो को अनफेयर बताया। इंस्टाग्राम अकाउंट पर दुख जताते हुए लिखा, मुझे लगा था ये फेयर गेम होगा। मुझे लगा ये टू वे है। मगर सफर बहुत जल्दी खत्म हो गया। मुझे पता है कि अगर ये आप लोगों पर होता तो मैं अब भी घर में होता। कोई गल नहीं, जिंदगी कभी फेयर नहीं होती। ये भी शायद होना ही था। मगर मैं यहां हूं और मेरा वादा है कि सबको लगातार एंटरटेन करूंगा। आपका पंजाब दा मुंडा। शहजाद देओल।

बता दें कि शो की शुरुआत में तीन तूफानी सीनियर्स को घर में भेजा गया था। मुख्य कंटेस्टेंट्स से ज्यादा शो में एक्स को दिखाए जाने से जनता और कुछ एक्स कंटेस्टेंट्स ने भी आपत्ति जताई थी। फिलहाल तीनों को बुधवार को शो से वापस भेज दिया गया है। अब जल्द ही घर में कुछ नई वाइल्ड कार्ड एंट्री भी आने वाली हैं।

No ad for you

टीवी की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.