पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वेब शो पर गुस्सा:'तांडव' में भगवान शिव का मजाक उड़ने पर भड़के सोशल मीडिया यूजर्स, बोले-  क्या ऐसा ही दूसरे धर्मों के साथ कर सकते हैं

2 महीने पहले
Loading advertisement...
Open Dainik Bhaskar in...
Browser

सैफ अली खान, डिम्पल कपाड़िया, मोहम्मद जीशान अयूब, सुनील ग्रोवर और कृतिका कामरा जैसे एक्टर्स की अदाकारी से सजी वेब सीरीज 'तांडव' शुक्रवार को अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हो गई है। हालांकि, इसके साथ ही सोशल मीडिया पर इसका विरोध भी शुरू हो गया है। सीरीज पर भगवान शिव का अपमान कर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लग रहा है। साथ ही दावा किया जा रहा है कि यह सीरीज जेएनयू की कथित टुकड़े-टुकड़े गैंग का महिम मंडन कर रही है।

भगवान शिव का अपमान कैसे किया गया?

सोशल मीडिया पर वेब सीरीज का एक सीन वायरल हो रहा है। इसमें कॉलेज में हो रहे एक प्ले में मोहम्मद जीशान अयूब भगवान शिव की भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं। लेकिन इसे बड़े मजाकिया अंदाज में पेश किया गया है। इतना ही नहीं एक बारगी वे गाली देते भी सुने जा सकते हैं।

सोशल मीडिया यूजर्स ने ऐसे कमेंट्स किए

एक यूजर ने सीन शेयर करते हुए लिखा है, "अली अब्बास जफर तांडव के डायरेक्टर हैं, जो पूरी तरह उनके लेफ्ट विंग प्रोपेगेंडा पर आधारित है, टुकड़े-टुकड़े गैंग का महिमा मंडन करती है और जीशान अयूब को शिव की भूमिका में स्टेज पर गाली देते हुए दिखाया गया है। तांडव का बहिष्कार करें।"

एक अन्य यूजर ने लिखा, "नफरत नहीं फैलाना चाहता। मैं हिंदू हूं और हम बहुत ही शांतिप्रिय लोग हैं। लेकिन इन ओटीटी फिल्मों की हिंदू धर्म का मजाक उड़ाने की हिम्मत कैसे हुई। क्या वे ऐसा ही दूसरे धर्मों के साथ कर सकते हैं।"

एक यूजर की पोस्ट है, "तांडव बुलीवुड की एक कट्टरता है। हिंदू देवताओं का मजाक उड़ाना, वही गंदे चुटकुले, वही टुकड़े-टुकड़े गैंग के वाम पंथ के एजेंडे को आगे बढ़ाना। सभी हिंदुओं को एक हो जाना चाहिए। क्योंकि यह हमारा कल्चर, हमारा ट्रेडिशन, हमारी जड़ें हैं।"

एक यूजर ने लिखा, "डियर प्राइम वीडियो आपने जेएनयू की टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन करने के लिए तांडव पर इतने पैसे क्यों खर्च किए? प्लीज क्रिएटिविटी और आर्ट के नाम पर प्रोपेगेंडा करना बंद करें।"

एक यूजर का विचार है, "मुझे नहीं पता कि आखिर क्यों बॉलीवुड हमेशा हिंदूइज्म और हिंदू भगवानों को टारगेट करता है। हमारे भगवान, हमारा धर्म मनोरंजन के लिए नहीं है। क्या वे अन्य धर्मों (इस्लाम/क्रिस्चियनिटी) के साथ ऐसा कर सकते हैं। यह शर्मनाक है।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...