Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जिम्मेदारी / देश को मजबूत करने मां के निधन के बाद भी दम्पति ने किया मतदान

श्यामसुंदर अग्रवाल और विमला अग्रवाल

  • मंगलवार सुबह साढ़े 4 बजे हुआ मां का निधन
  • मतदान के बाद की अंतिम संस्कार की तैयारी

Dainik Bhaskar

Apr 23, 2019, 01:46 PM IST

सूरत. वोटिंग के दिन को हॉलीडे की तरहएंज्वाय करने वाले और वोट नहीं डालने वाले लोगों के लिए श्याम सुंदर अग्रवाल एक मिसाल है। सूरत के वेसु इलाके में रहने वाले श्याम सुंदर की मां सावित्री देवी का 92 साल की उम्र में मंगलवार तड़के निधन हो गया। मां की मौत से घर में मातम छा गया। सांत्वना देने के लिए पड़ोसी और रिश्तेदारपहुंचने लगे।

हालांकि, इन सबके बीचश्यामसुंदर और उनकी पत्नी विमला अपनी जिम्मेदारी को नहीं भूले। उन्होंनेतयकिया कि मतदान के बाद शाम 5 बजे मां का अंतिम संस्कार किया जाए। इसलिए दोनों ने मतदान को प्राथमिकता देते हुए पहले मतदान किया, उसके बाद मां के अंतिम संस्कार की तैयारियों मेंलग गए।


किया मां की आंखों का दान
मूल हरियाणा के भिवानी के रहने वाले श्यामसुंदर अग्रवाल ने बताया कि मां हर साल सूरत में ही मतदान करती थीं। मंगलवार को भी वे मतदान के लिए जाने वाली थीं। वे कभी भी मतदान करने से नहीं चूकी। परंतु सुबह साढ़े चार बजे उनका अवसान हो गया। ऐसे में हम बिना मतदान किए कैसे रह सकते थे? वे आधुनिक विचारों की थीं। इसलिए हमने मतदान को प्राथमिकता दी। इससे हमारा देश मजबूत होगा। मां की इच्छा के अनुसार उनकी आंखों का दान किया गया।

Share
Next Story

चुनावी शोर खत्म / प्रचार के आखिरी दिन तक दोनों पार्टियों ने लगाया जोर

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News