सापूतारा / नर्सिंग हॉस्टल के डाइनिंग हॉल में आग, दरवाजा तोड़कर 120 छात्रों को बचाया

  • धुएं से 4 विद्यार्थियों का दम घुटा, आहवा के सिविल में भर्ती कराए गए
  • बुधवार को 1बजे जिला प्रशासन को दी गई जानकारी

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2018, 08:56 AM IST

सापूतारा.डांग जिले के आहवा में सनसेट प्वाइंट पर स्थित जनरल नर्सिंग हॉस्पिटल के हॉस्टल में मंगलवार को रात में अचानक आग लग गई। हॉस्टल में पहली मंजिल पर रहने वाले 120 छात्रों को दरवाजा छोड़कर सुरक्षित बाहर निकाला गया। 4 छात्रों का दम घुटने पर उन्हें आहवा के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाॅर्ट-सर्किट से लगी आग से डाइनिंग हॉल का फर्नीचर समेत सामान जलकर राख हाे गया।

करोड़ों रूपए की लागत से बने हॉस्टल में फायर सेफ्टी के कोई साधन मौजूद नहीं हैं। रात में अचानक हॉस्टल में आग लगने से अफरातफरी मच गई।सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार आहवा के सनसेट प्वाइंट पर स्थित जनरल नर्सिंग कॉलेज में प्रदेशभर से कुल 160 छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं।

मंगलवार को रात 8.00 बजे नर्सिंग हॉस्टल की बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर में बने डाइनिंग हॉल में अचानक भीषण आग लग गई। पहली मंजिल पर धुआं भरने से छात्रों का दम घुटने लगा। आग की लपटें देखते ही छात्र जोर-जोर से चिल्लाने लगे। पहली मंजिल पर रहने वाले 120 छात्रों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। नर्सिंग हॉसल में अकेली महिला वॉर्डन होने से छात्रों को बचाने में काफी दिक्कत हुई।

छात्र खिड़की से कूदकर और दादर पर लगे दरवाजे को तोड़कर अपनी जान बचाई। गर्ल्स हॉस्टल के ग्राउंड फ्लोर में लगी आग की लपटें दादर तक जा रही थी इससे सीढियों से उतरा मुश्किल था। आग की घटना के बाद प्रशासन की लापरवाही सामने आई है। नर्सिंग हॉस्टल में 160 छात्रों की देखरेख करने के लिए केवल एक महिला वॉर्डन थी। नर्सिंग कॉलेज के प्रिंसिपल भी इस भीषण दुर्घटना से अनजान थे। नर्सिंग कॉलेज में पहले भी शार्ट-सर्किट से आग लगने की घटना सामने आ चुकी है।

हॉस्टल में शाम से ही बिजली गुल थी तो शॉर्ट-सर्किट कैसे हुआ, आग कैसे लगी?
डांग के एसडीएम ने टीम के साथ मौके का मुआयना किया। नर्सिंग कॉलेज की प्रिंसिपल मंजूबे गामित और एएचए भाविकभाई ने आग लगने का कारण शॉर्ट-सर्किट बताया है। जबकि छात्रों का कहना है कि हॉस्टल में शाम 6 से रात 10 बजे तक बिजली नहीं थी। सवाल यह उठता है कि बिजली नहीं थी तो शॉर्ट-सर्किट कैसे हुआ? नर्सिंग कॉलेज के कर्मचारियों ने आग की सूचना फायर विभाग को भी नहीं दी। आहवा के कलेक्ट्रेट को आग की घटना की जानकारी बुधवार को दोपहर 1 बजे हुई। जिला प्रशासन भी इतनी बड़ी घटना से अनजान है।

नर्सिंग कॉलेज में फायर सेफ्टी के साधन भी नहीं हैं :नर्सिंग काॅलेज में आग लगने की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन जांच में जुट गया है। कॉलेज में फायर सेफ्टी के साधन भी नहीं है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है। स्कूल प्रशासन की लापरवाही सामने आई है।-सीए वसावा, एसडीएम, आहवा

Share
Next Story

अविश्वसनीय / भाजपाइयों ने अहमदाबाद एयरपोर्ट का नाम सरदार पटेल एयरपोर्ट होने का विरोध किया था

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News