Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

श्रद्धांजलि/ आतंकवाद पर रिएक्शन नहीं, एक्शन ले सरकार-रज़ा मुराद

Dainik Bhaskar | Feb 19, 2019, 01:25 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • वापी में रजा मुराद ने और सिलवासा में महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि
  • मायानगरी का पाकिस्तान से संबंध टूट गया है

Dainik Bhaskar

Feb 19, 2019, 01:25 PM IST

वापी. फिल्म अभिनेता रजा मुराद सोमवार को वापी में आयोजित शहीदों को श्रद्धांजलि देने के कार्यक्रम में पहुंचे। इस अवसर पर उन्होंने मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि आतंकवाद के खिलाफ रिएक्शन के बजाए एक्शन लेकर आतंकवाद को जड़ से खत्म करने को कहा। उन्होंने कहा कि भारतीय फिल्म इंडस्ट्रीज में बॉलीवुड का पाकिस्तान के साथ संबंध टूट गया है।


आतंकवाद जैसे कैंसर को खत्म करें
रजा मुराद वापी में श्री अग्रवाल सेवा समिति द्वारा जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए 44 शहीदों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे। दो मिनट के मौन के बाद शहीदों की आत्मा को शांति के प्रार्थना की गई। इसके बाद मीडिया से खुलकर बात करते हुए उन्होंने अहिंसा को कुछ दिन के लिए भूलकर आतंकवाद जैसे कैंसर को जड़ से खत्म करने का अपील की।


सिलवासा में मुस्लिम समुदाय ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि
जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की घटना का देशभर में विरोध जताया जा रहा है। जगह-जगह कैंडल मार्च, विरोध प्रदर्शन और आक्रोश जताकर आतंकवादियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की जा रही है। इसी क्रम में सोमवार को सिलवासा के मुस्लिम समुदाय ने भी रैली निकालकर कलेक्टर कार्यालय के सामने स्थित आर्मी टैंक के पास आतंकी हमले में वीर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। घांची जमात खाने से कलेक्ट्रेट तक निकली इस रैली में तीनों मस्जिदों के इमाम, प्रमुख सहित आरिफ शेख, हाजी युनुस भाई, अल्ताफ भाई, शब्बीर भाई, हारून भाई सहित समाज के बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।


महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री दानह में
एक दिवसीय दानह दौरे पर आए महाराष्ट्र कैबिनेट मंत्री महादेव जानकर ने भी कलेक्टर कार्यालय के समीप आर्मी टैंक के पास पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। महादेव जानकर महाराष्ट्र शासन में मत्स्य एवं पशुपालन विभाग के कैबिनेट मंत्री हैं, जो भारतीय संस्कृति युवा मंच के आवाहन पर दादरा एवं नगर हवेली में आए थे।