अमीरों की ट्रेन / बांद्रा-भगत की कोठी सुविधा स्पेशल की बुकिंग खुलते ही तीन गुना बढ़ा किराया

बांद्रा-भगत की कोठी ट्रेन

  • विशेष ट्रेन हफ्ते में दो दिन चलेगी
  • सिर्फ 4 ट्रिप में इतनी कमाई

Dainik Bhaskar

Oct 07, 2019, 02:30 PM IST

सूरत. बांद्रा-भगत की कोठी एक्सप्रेस को नियमित रूप से साप्ताहिक चलाने के बोर्ड के आदेश के बावजूद रेलवे ने ज्यादा कमाई करने के लिए 21, 24, 28 और 31 अक्टूबर की ट्रिप को सुविधा विशेष ट्रेन यानी डायनेमिक प्राइसिंग के साथ चला दिया। इसकी ( 82418 ) पहली ट्रिप की बुकिंग शुरू होते ही किराया जोधपुर रूट की अन्य ट्रेनों की अपेक्षा तीन गुना बढ़ गया।

स्लीपर के 6 कोच
इस सुविधा विशेष ट्रेन में स्लीपर के 6 कोच हैं, जिनमें कुल 432 सीटें हैं। थर्ड एसी के 2 कोच में कुल 144 सीटें हैं। इसके अलावा एसी 2 के एक कोच में 46 सीटें हैं। 21 नवंबर की पहली ट्रिप के लिए स्लीपर का 1200, थर्ड एसी का 2500 और सेकंड एसी का किराया 2800 रुपए है। इसी दिन इस रूट पर 6 रूटीन ट्रेनें कोचुवेली-श्रीगंगानगर, पुणे-भगत की कोठी, यशवंतपुर-बीकानेर, बांद्रा-हिसार, सूर्यनगरी और रणकपुर एक्सप्रेस हैं। इनका स्लीपर का किराया सूरत से जोधपुर तक के लिए स्लीपर का 365, थर्ड एसी का 995 और सेकंड एसी का 1400 रुपए है।

विशेष ट्रेन हफ्ते में दो दिन चलेगी
बांद्रा-भगत की कोठी द्विसाप्ताहिक विशेष ट्रेन बांद्रा टर्मिनस से हर सोमवार एवं गुरुवार को दोपहर 1.05 बजे रवाना होगी और मंगलवार एवं शुक्रवार को सुबह 8.20 बजे जोधपुर पहुंचेगी। यह ट्रेन 3 अक्टूबर से 28 नवंबर तक चलेगी। यही ट्रेन बदले नंबर 82418 बांद्रा-भगत की कोठी सुविधा विशेष के रूप में 21, 24, 28 एवं 31 अक्टूबर को चलेगी। यह ट्रेन बोरीवली, वापी, सूरत, भरूच, वडोदरा, अहमदाबाद, महेसाणा, पाटन, भीलड़ी, धनेरा, रानीवाड़ा, मारवाड़ भीनमाल, मोदरां, जालौर, मोकलसर एवं समदड़ी जं. और लूणी स्टेशनों पर ठहरेगी।
रेल बोर्ड ने नियमित साप्ताहिक चलाने को कहा, फिर भी रेलवे ने सुविधा स्पेशल बनाकर चला दी

सिर्फ 4 ट्रिप में इतनी कमाई
बांद्रा-भगत की कोठी की प्रति ट्रिप मेंे सिर्फ स्लीपर से 5 लाख 18400 रुपए कमाई होगी। थर्ड एसी के दो कोच से 3 लाख 60 हजार, जबकि सेकंड एसी से 1 लाख 28 हजार 800 रुपए की कमाई होगी। रेलवे सिर्फ चार ट्रिप में ही स्लीपर कोच से 26 लाख की कमाई करेगी।

Share
Next Story

अहमदाबाद / हेलमेट ब्रिज पर युवती की मौत के बाद चुपचाप गड्ढा भर दिया गया

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News