Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

पंजाब बजट/ लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कैप्टन सरकार की हर वर्ग को लुभाने की कोशिश

Dainik Bhaskar | Feb 19, 2019, 07:20 AM IST
वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • पेट्रोल 5.50, डीजल 1.30 रुपए सस्ता,कोई नया टैक्स नहीं
  • सरबत सेहत बीमा योजना में कवर होंगे 42 लाख परिवार
  • 2010 इंग्लिश मीडियम स्कूल खुलेंगे; स्मार्ट विलेज बनने पर 5 करोड़ इनाम

Dainik Bhaskar

Feb 19, 2019, 07:20 AM IST

चंडीगढ़/जालंधर.लोकसभा चुनाव से ठीक पहले सोमवार को कैप्टन सरकार ने बजट में बड़ा एलान किया। वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने पंजाब में वैट घटाकर पेट्रोल पर 5 रुपए और डीजल पर 1 रुपए कम करने का फैसला किया। दाम कम होने से लोगों को पेट्रोल 5.50 रुपए और डीजल 1.30 रुपए सस्ता मिलेगा, क्योंकि 10% सरचार्ज भी लगता है। अब सूबे में पेट्रोल की कीमत करीब 70 रुपए और डीजल की कीमत 65 रुपए के करीब होगी।

मनप्रीत ने खुद इस बात को माना कि पेट्रोल और डीजल के दामों को सरहदी राज्यों के समान करने से राजस्व बढ़ेगा। पेट्रोल-डीजल के कम किए गए दाम सोमवार रात 12 बजे के बाद लागू हो गए। सूबे में पेट्रोल पर वैट 35.25 रुपए और डीजल पर 16.88 रुपए है।

हालांकि, इससे पहले वित्तमंत्री ने कहा था कि वैट का 1 रुपया कम करने से सरकार को 520 करोड़ रुपए का कम राजस्व आएगा। लेकिन अब फायदा दिखने लगा है। गौरतलब है कि सूबे में पेट्रोल के दाम जब 89 रुपए तक पहुंच गए थे, तब मांग के बावजूद कैप्टन सरकार ने 1 रुपया भी कम नहीं किया था। लेकिन अब चुनाव आते ही वैट घटाने का फायदा दिखने लगा।

वहीं, इसके अलावा बजट में कई लोक लुभावन घोषणाएं भी की गईं। सबसे ज्यादा बजट किसानों के लिए 13,643 करोड़ रखा है। मेक-इन-पंजाब योजना भी शुरू की गई। वहीं, 2010 नए इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जाने का भी एलान किया गया।

पेट्रोल की खपत बढ़ी तो राजस्व भी बढ़ेगा: पेट्रोल के दाम कम करने से सरकार को राजस्व में घाटा नहीं बल्कि फायदा होगा। सरकार के दाम कम करने से जो उपभोक्ता चंडीगढ़, हरियाणा या हिमाचल जाकर पेट्रोल भरवाते थे अब वह अपने राज्य में ही खरीदेंगे, जिससे खपत बढ़ेगी। इससे वैट की कलेक्शन भी बढ़ेगी और दाम कम करने से वैट में जो कमी आई थी वह पूरी हो जाएगी। प्रीमियम पेट्रोल-डीजल पर कोई टैक्स छूट नहीं मिलेगी।

23 करोड़ रोज पेट्रोल और डीजल से राजस्व मिलता है :पंजाब में अभी तक हर रोज 27 करोड़ का पेट्रोल और 84 करोड़ का डीजल बिकता है। यानी टैक्स के रूप में रोज 9.44 करोड़ पेट्रोल, 13.55 करोड़ डीजल से राजस्व मिल रहा। यानी कुल 22.99 करोड़ राजस्व आ रहा है। खपत बढ़ने से यह राशि और बढ़ेगी। पेट्रोल पंप संचालकों के मुताबिक यह कमाई 30-35 करोड़ तक पहुंचेगी।

तस्करी होगी खत्म :पंजाब में पेट्रोल और डीजल के दाम कम किए जाने से सबसे बड़ा फायदा यह भी होगा कि इससे पेट्रोल और डीजल की तस्करी भी रुकेगी। दाम कम होने के बाद दूसरे राज्यों से लाकर पंजाब में बेचे जाने वाले पेट्रोल और डीजल के तस्करों की कमर भी टूटेगी। अभी तक ये तस्कर भी मुनाफा कमा रहे थे।

बजट की अन्य बड़ी घोषणाएं :

550वें प्रकाशोत्सव के लिए 300 करोड़ रुपए 25 करोड़ डेरा बाबा नानक विकास प्राधिकरण के लिए। अमृतसर को आईकोनिक शहर के रूप में विकसित करने के लिए 10 करोड़। 5 करोड़ रुपए जलियांवाला बाग शताब्दी कार्यक्रम के लिए रखे गए हैं।

गांव/शहर- 2690 करोड़ :

स्मार्ट विलेज के लिए 2600 करोड़। स्मार्ट विलेज बनाने पर 5 करोड़ इनाम भी मिलेगा। 90 करोड़ शहरों में रोजगार के लिए।

डेयरी- 395 करोड़ :

डेयरी डेवलेपमेंट को 20 करोड़। पराली प्रबंधन को 375 करोड़।

परिवहन- 567 करोड़ :

सूबे में बसों में होगा इजाफा। विभिन्न रूटों पर 100 नई बसें उतारेगी सरकार। सड़कों व पुलों के लिए 1005 करोड़ रुपए में शुरू की गई योजनाओं की लागत बढ़ा कर 1312 करोड़ रुपए की गईं।

मेक-इन-पंजाब:

स्कीम के तहत सरकारी खरीद आर्डर में सप्लाई करने वाले को 50% तक खरीद में प्राथिमकता।

रणजीत सागर डैम, शाहपुर कंडी प्रोजेक्ट को 260 करोड़।

लुधियाना -

मूक-बधिर बच्चों के लिए स्कूल, बूड्‌ढा नाले के लिए 4.38 करोड़ रुपए। बरनाला-मानसा में बनाए जाएंगे वृद्ध आश्रम। 31.14 करोड़ का प्रावधान।