राजनीति / विधायक ने नशे पर उठाई थी अपनी ही सरकार के खिलाफ आवाज, किया पार्टी से बाहर

  • कांग्रेस विधायक ने 12 जनवरी को किया थापंच-सरपंचों के नशे के खिलाफ शपथ ग्रहण समारोह काबहिष्कार
  • प्रदेशाध्यक्ष जाखड़ बोले-अपनी बात रखना सभी का हक, लेकिन सार्वजनिक रूप से ऐसेआरोप लगाना गलत

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2019, 05:02 PM IST

चंडीगढ़. नशे के खिलाफ सार्वजनिक मंच से आवाज उठाने वाले जीरा (फिरोजपुर) के कांग्रेस विधायक कुलबीर जीरा को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा कि अपनी बात रखना सभी का हक है, लेकिन सार्वजनिक रूप से किसी पर इस तरह के आरोप लगाना गलत है। इससे पूर्व जीरा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। जीरा को नोटिस दिए जाने बाद पार्टी के विधायकों और विभिन्न विंगों के प्रधानों का साथ उन्हें मिल रहा था।

विधायक कुलबीर जीरा ने 12 जनवरी को नवनिर्वाचित सरपंचों एवं पंचों के नशे के खिलाफ शपथ ग्रहण समारोह का यह कहकर बहिष्कार किया था। उन्होंने कहा था किफिरोजपुर जिले में अवैध शराब की बिक्री के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।एक तरफसरकार बेहद संजीदगी से बार-बार यह प्रोजेक्ट करने की कोशिश कर रही है कि पंजाब से नशा खात्मे की कगार पर है। वहीं जीरा के रवैयेने सरकार की इमेज खराब कर दी थी। उन्होंनेबैठे-बिठाए विपक्ष को मुद्दा दे दिया।

जीरा ने खुदनोटिस के जवाब में तीखी प्रक्रिया दी थी। साथ हीपार्टी के विधायकों और विभिन्न विंगों के प्रधानों का साथ उन्हें मिल रहा था। दूसरी ओरपार्टी के दबाव के बावजूद जीरा ने फिरोजपुर के आईजी एमएस छीना पर सीधा हमला बोला था,जो आरोप जीरा ने लगाए थे, उसी तर्ज पर उन्होंने जवाब भी दिया। अब बुधवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पुष्टि करते हुए बताया कि अनुशासनात्मक कार्रवाई के चलते जीरा काे पार्टी से बाहर कर दिया गया है।

Share
Next Story

पटियाला / बस के डेढ़ मीटर आगे से ओवरटेक, पंक्चर होने से गिरे बाइक सवार पर चढ़ा टायर, मौत

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News