कार्रवाई / जा सकता है 'आप' का साथ छोड़ चुके खैहरा का विधायक पद, विधानसभा से नोटिस जारी

  • कपूरथला जिले केगांव मिताला निवासी हरसिमरन सिंह और आप नेता विपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने लगाई थी याचिका
  • स्पीकर के निर्देश पर सुखपाल सिंह खैहरा को नोटिस जारी कर जवाब के लिए दिए गए 15 दिन
  • पूछा-संविधान की 10वीं अनुसूची के तहत उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं शुरू की जाए

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2019, 06:49 PM IST

चंडीगढ़. आम आदमी पार्टी को छोड़कर पंजाबी एकता पार्टी बनाने वाले विधायक सुखपाल सिंह खैहरा का विधायक पद खतरे में पड़ गया है। उन्हें विधानसभा से सदस्यता रद्द करने का नोटिस जारी कर दिया गया है। उन्हें जवाब देने के लिए 15 दिन का समय दिया गया है। पिछले दिनों शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर बादल ने उन्हें विधायक पद छोड़ने की नसीहत भी दी थी।

विधानसभा कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि कहा कि भुलत्थ के गांव मिताला निवासी हरसिमरन सिंह और आप विधायक व नेता विपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने सुखपाल सिंह खैहरा की विधानसभा की सदस्‍यता रद्द कराने के लिए स्‍पीकर को याचिकाएं दी थी। इन याचिकाओं में कहा गया था कि खैहरा ने आम आदमी पार्टी की सदस्‍यता छोड़ दी है और अलग पार्टी बना ली है। ऐसे में दलबदल कानून के तहत उनकी विधानसभा की सदस्‍यता रद्द की जाए। दरअसल, सुखपाल सिंह खैहरा को उनके बागी तेवर के कारण आप से निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद उन्‍‍होंने आम आदमी पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था और अपनी अलग पार्टी बना ली थी। इसके बाद आप की ओर से उनकी विधानसभा की सदस्‍यता रद्द कराने के लिए पहल शुरू की।

विधानसभा के प्रवक्‍ता ने कहा कि पंजाब विधानसभा के अध्यक्ष के निर्देश के अनुरूप सुखपाल सिंह खैहरा को नोटिस जारी कियागया है। उनको जवाब देने के लिए 15 दिन का समय दिया गया है। नोटिस में कहा गया है कि संविधान की 10वीं अनुसूची के तहत उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं शुरू करनी चाहिए। प्रवक्ता ने कहा कि अगर दिए गए समय में खैहरा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई तो यह समझा जाएगा कि वह इस मामले के बारे में कुछ नहीं कहना चाहते।

Share
Next Story

फैसला / नगर निकाय में बकाया प्रॉपर्टी टैक्स का सौ फीसदी ब्याज माफ, दो महीने के लिए छूट

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News