नीदरलैंड / दुनिया खत्म होने के इंतजार में 9 साल से तहखाने में रह रहा था 6 लोगों का परिवार

फार्महाउस।

  • यह मामला ड्रेन्थ प्रांत के रुइनरवर्ल्ड गांव के एक फार्महाउस का है
  • 25 साल का युवक तहखाने से भागने में कामयाब हुआ और उसने एक बार मालिक से मदद मांगी
  • बार मालिक क्रिस वेस्टबीक ने बताया, युवक ने सालों से बाहरी दुनिया नहीं देखी थी, वह इससे छुटकारा चाहता था

Dainik Bhaskar

Oct 17, 2019, 05:40 PM IST

एम्सटर्डम. नीदरलैंड कीराजधानीएम्सटर्डम से 140 किलोमीटर उत्तर-पूर्वकी ओरड्रेन्थ प्रांत के रुइनरवर्ल्ड गांव स्थित फार्महाउस के तहखाने में एक डच परिवार पिछले नौ साल से दुनिया खत्म होने का इंतजार कर रहा था। इनमें 58 साल का एक बुजुर्ग समेत 16 साल से 25 की उम्र के 6 बच्चेभी थे। मामले का खुलासा 25 साल युवक के भाग कर बीयर बार जाने पर हुआ। यहां उसने बीयर बार मालिक से मदद मांगी थी। इसके बाद पुलिस को सारी जानकारी दी गई।

पुलिस जब घर केतहखाने में पहुंची, तो देखा एक बुजुर्ग पलंग पर लेटाहुआ है।पुलिस ने 58 साल के जेन जॉन वेन डोर्सटेन नाम के व्यक्ति को जांच में सहयोग नहीं करने पर गिरफ्तार किया है।पुलिस ने बताया, ये लोग फार्महाउस में सब्जियां उगाकर और पशुओं को रखकर गुजारा कर रहा था।पुलिस बच्चों और बुजुर्ग के बीच के संबंधों की जांच की जा रही है। अभी इनकी पहचान के बारे में खुलासा नहीं किया गया।

पांच बीयर पीकर मदद मांगी
स्थानीय मीडिया के मुताबिक, रविवार को 25 साल का युवकपास के ही एक पब में पहुंचा और पांच बीयर पी गया। उसने कहा, बीते 9 साल से वह कभी फार्महाउस से बाहर नहीं गया। उसे मदद चाहिए। ड्रेन्थ पुलिस का कहना है, हमारी जांच जारी है। फिलहाल इस केस से जुड़ी और जानकारी साझा नहीं कर सकते।एक स्थानीय के मुताबिक, बच्चों की मां के बारे में कोई नहीं जानता। संभवत: उसे वहीं दफना दिया गया हो।मेयर रोजर डि ग्रूट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, इससे पहले कभी ऐसा नहीं देखा।

बच्चों में कोई स्कूल नहीं गया
बार के मालिक क्रिस वेस्टबीक ने बताया, "युवक की दाड़ी काफी बढ़ी हुई थी। बाल भी नहीं कटे थे। वह नौ साल से तहखाने के अंदर दुनिया के खत्म होने के इंतजार में था। वह स्कूल भी नहीं गया था। उसके भाई -बहन भी ऐसी ही स्थिति में थे। वह अब ऐसे नहीं रहना चाहता था। युवक ने बताया कि वह रात में तहखाने से भागा, क्योंकि दिन में भागना संभव नहीं था।"

Share
Next Story

दुबई / भारतीय मूल के कारोबारी ने 13 कैदियों के लिए हवाई टिकट खरीदे, ताकि वे वतन लौट सकें

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News