पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
No ad for you

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कनाडा में भारतवंशी बने विधायक:ब्रिटिश कोलंबिया में पंजाब के 8 नागरिकों ने प्रोविंशियल इलेक्शन में जीत हासिल की

ओटावाएक महीने पहले
  • चुनाव में 27 भारतवंशी कैंडिडेट मैदान में थे, सभी 8 विजेता सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी से हैं
  • ब्रिटिश कोलंबिया की आबादी 50 लाख हैं, जिसमें से लगभग 10% लोग भारतीय मूल के हैं
No ad for you

ब्रिटिश कोलंबिया के प्रोविंशियल इलेक्शन में पंजाब-मूल के आठ कनाडाई नागरिकों को जीत मिली है। चुनाव का रिजल्ट शनिवार देर रात घोषित किया गया। शनिवार को हुए चुनाव में भारतीय मूल के 27 कैंडिडेट मैदान में थे। सभी 8 विजेता सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी के हैं। 87 सदस्यीय सदन में 55 सीटों के साथ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी ने पूर्ण बहुमत हासिल किया।

भारतीय-कनाडाई विजेताओं में तीन महिलाएं भी हैं। मानवाधिकार वकील अमन सिंह ने ब्रिटिश कोलंबिया में पहली बार पगड़ीधारी सिख विधायक बनकर इतिहास रचा। हालांकि, इस प्रांत में पहली बार 1986 में एक विधायक के रूप में पंजाबी (मोए सिहोटा) और 2001 में एक सिख (उज्ज्वल दोसांझ) विधायक के रूप में चुने गए थे।

रिचमंड-क्वींसबोरो में विपक्षी लिबरल पार्टी के पूर्व पत्रकार जैस जौहल को हराकर अमन सिंह ने बड़ा उलटफेर किया। भारतीय-कनाडाई की ज्यादातर जीतें भारतीय-प्रभुत्व वाले शहर सरे में हुई, जो वैंकूवर के बाहरी इलाके में स्थित है।

जीतने वाले कैंडिडेट्स में हैरी बैंस जालंधर से

जीतने वाले कैंडिडेट्स में लेबर मिनिस्टर हैरी बैंस, डिप्टी स्पीकर राज चौहान, पूर्व मंत्री जिनी सिम्स, संसदीय सचिव जगरूप ब्रार और रवि कहलों शामिल हैं। बैंस ने लिबरल पार्टी के पॉल बोपाराय को हराकर सरे-न्यूटन की अपनी सीट बरकरार रखी। जालंधर के पास हरदासपुर गांव से आने वाले बैंस 2005 से यह सीट जीत रहे हैं।

उप-सभापति राज चौहान ने भी लिबरल पार्टी के तृप्त अटवाल और ग्रीन पार्टी के इकबाल पारेख को हराकर बर्नाबी-एडमंड्स की अपनी सीट बरकरार रखी। चौहान 1973 में छात्र के रूप में पंजाब से कनाडा आए थे। सत्तारूढ़ दल के जगरूप ब्रार ने लिबरल पार्टी के गैरी थिंड को भी पीछे छोड़कर सरे-फ्लीटवुड की अपनी सीट बरकरार रखी।

जगरूप ब्रार ने पांच बार सरे-फ्लीटवुड की सीट जीती

एक पूर्व भारतीय बास्केटबॉल खिलाड़ी, ब्रार ने 2004 से अब तक पांच बार ये सीट जीती है। जीतने वाले पांचवें इंडो-कनाडाई व्यक्ति सत्तारूढ़ एनडीपी के रवि काहलों हैं। उन्होंने ग्रीन पार्टी के अल्मोड़ा में जन्मी नीमा मनराल और लिबरल पार्टी के जेट सनर (जतिंदर) को हराया है।

सिम्स नौ साल की उम्र से कनाडा में हैं

महिला विजेताओं में जेनी सिम्स (जोगिंदर कौर) ने सरे-पैनोरमा में विपक्षी कैंडिडेट डॉ. गुलजार चीमा को हराया। जालंधर के पास पाबवान गांव में जन्मी सिम्स नौ साल की उम्र में कनाडा आ गई थी।

सत्तारूढ़ पार्टी के रचना सिंह ने लिबरल पार्टी के दिलराज अटवाल को हराकर अपनी सरे-ग्रीन टिम्बर्स सीट को बरकरार रखा। सत्तारूढ़ एनडीपी की निक्की शर्मा वैंकूवर-हेस्टिंग्स में जीतीं। ब्रिटिश कोलंबिया की आबादी 50 लाख है, जिसमें से लगभग 10% भारतीय मूल के लोग हैं।

No ad for you

विदेश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.