आईएमएफ / भारत की आर्थिक विकास दर अनुमान से ज्यादा कमजोर, 2019-20 में 7% रहेगी

आईएमएफ ने आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान में 0.3% की कटौती की।

  • अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने पहले 7.3% का अनुमान जारी किया था
  • अप्रैल-जून तिमाही में भारत की आर्थिक विकासदर 6साल के सबसे निचले स्तर 5% पर पहुंची

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 12:56 PM IST

वॉशिंगटन.अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कहा कि कॉरपोरेट और रेग्युलेटरी अनिश्चितताओं, कुछ गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं की कमजोरीके कारण भारत की आर्थिक विकास दर अनुमान से अधिक कमजोर हुई। गुरुवार को आईएमएफ ने आर्थिक विकास दर के अनुमान में 0.3% की कटौती करते हुए वित्त वर्ष 2019-20 में 7% रहने की उम्मीद जताई।

आईएमएफ के प्रवक्ता गेरी राइस ने भारतीय अर्थव्यवस्था की कमजोरी पर चिंता जताते हुएनए आंकड़े पेश करने की बात कही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल-जून की तिमाही में भारत की आर्थिक विकासदर 6 साल के सबसे निचले स्तर 5% पर पहुंच गई। जबकि पिछले साल इसी तिमाही में यह स्तर 8% पर थी।

वित्त वर्ष 2021 में आर्थिक विकास दर7.2% रहने का अनुमान

आईएमएफ की शुरुआती रिपोर्ट में वित्त वर्ष 2021 के लिए आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान 7.2% लगाया गया। इससे पहले यह अनुमान 7.5% का आंका गया था।

ट्रेड वॉर ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को कमजोर किया
गेरी राईस ने कहा, “अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को झटका दिया है। इससे ग्लोबलजीडीपी ग्रोथअगले साल 0.8% घटने की आशंका है। पिछले एक दशक के वित्तीय संकट के दौरान दुनिया भर में विनिर्माण स्तर पर पहले से ही मंदी का दौर जारी है।

Share
Next Story

पाक / इमरान ने कहा- सोवियत के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका ने पाक के मुजाहिदीनों को ट्रेनिंग दी, अब दोषी ठहराना गलत

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News