Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

पाक/ भारत ने इमरान से कहा- जब तक हमारे जवान शहीद होते रहेंगे, पाक से कोई बात नहीं होगी



  • तीन पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद भारत ने रद्द कर दी विदेश मंत्रियों की मुलाकात
  • इमरान ने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखकर की थी शांति वार्ता दोबारा शुरू करने की अपील
Dainik Bhaskar | Sep 22, 2018, 10:16 PM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बातचीत की पहल ठुकराए जाने पर भारत की प्रतिक्रिया को घमंड और नकारात्मक बताया। इस पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा- “इमरान पाक आर्मी की बदौलत देश की सत्ता पर बैठे हैं। भारत तब तक पड़ोसी से बात नहीं करेगा जब तक हमारे सैनिकों को मारा जाएगा।”

‘भारत में चल रही चुनाव की तैयारी’

  1. इमरान ने शनिवार को ही ट्वीट में भारत की ओर से प्रस्ताव ठुकराए जाने पर निराशा जताई थी। उन्होंने कहा था कि पूरा जीवन उनका ऐसे छोटे लोगों का सामना करते हुए बीता जो बड़े पदों पर कब्जा किए हैं और जिन्हें बड़ी संभावनाएं नजर नहीं आतीं।

     

    Disappointed at the arrogant & negative response by India to my call for resumption of the peace dialogue. However, all my life I have come across small men occupying big offices who do not have the vision to see the larger picture.

    — Imran Khan (@ImranKhanPTI) September 22, 2018

  2. बातचीत बढ़ाने के लिए इमरान ने लिखी थी चिट्ठी

    इमरान खान ने गुरुवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर शांति वार्ता एक बार फिर शुरू करने की अपील की थी। साथ ही, दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की मुलाकात न्यूयॉर्क में कराने का आग्रह किया था। 

  3. भारत ने विदेश मंत्रियों की मुलाकात को मंजूरी दी। इसके बाद आतंकियों ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर में तीन पुलिसकर्मियों को अगवा करने के बाद मार डाला। ऐसे में भारत ने दोनों विदेश मंत्रियों की बैठक को रद्द कर दिया। 

  4. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा, ‘‘ऐसा लग रहा है कि भारत में अगले साल होने वाले चुनाव की तैयारी की जा रही है। दुनिया को देखना चाहिए कि पाकिस्तान परिस्थितियों को लेकर सकारात्मक रुख अपना रहा है, लेकिन भारत का रवैया स्पष्ट नहीं है।’’

  5. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि दोनों देशों के बीच शांति वार्ता से ही जम्मू-कश्मीर का मुद्दा सुलझ सकता है। भारत-पाक सीमा पर युद्धविराम उल्लंघन और सैनिकों की मौत से भी राज्य के लोग प्रभावित हो रहे हैं। 

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें