पाकिस्तान / बलूचिस्तान में 14 बस यात्रियों की गोली मारकर हत्या, 2 ने भागकर जान बचाई

मौके पर मौजूद एंबुलेंस और लोग

  • हथियारों से लैस 15 से 20 हमलावरों ने 5-6 बसें रुकवाई थीं
  • जिस बस के यात्रियों को निशाना बनाया वह कराची से ग्वादर जा रही थी

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2019, 11:20 AM IST

इस्लामाबाद. बलूचिस्तान प्रांत में 15 से 20 हमलावरों ने एक बस में सवार 14 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। 2 लोगों ने किसी तरह से भागकर जान बचाई। अभी तक हमले की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है। हमलावरों की पता लगाने में भी पुलिस नाकाम साबित हुई है। जिस बस के यात्रियों को निशाना बनाया वो कराची से ग्वादर जा रही थी। हमलावरों ने 5-6 बसें रुकवाई थीं।

वारदात गुरुवार को बुजी टॉप इलाके के मकरान कोस्टल हाईवे पर हुई। हमलावरों नेयात्रियों के पहचान पत्रों की जांच के बहाने नीचे उतारा। एजेंसी के मुताबिक, बस से कुल 16 यात्रियों को उतारा गया था।अभी यह पता नहीं चल सका है कि हमलावर कौन थे और उनका मकसद क्या था। हमले में बचने वाले 2 लोगों को अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है।

बलूचिस्तान के मस्तुंग इलाके में 2015 में इसी तरह की घटना हुई थी। तब हमलावरों ने कराची जाने वाली बस से 24लोगों को उतारकर अगवा कर लिया था। उनमें से 19 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

पिछले सप्ताह क्वेटा में हजारा समुदाय को निशाना बनाकर आतंकी हमला किया गया था। इसमें 20 लोगों की मौत हुई थी। पुलिस और अन्य एजेंसियां क्वेटा मामले की जांच पूरी भी नहीं कर पाईं कि बलूचिस्तान में फिर से वारदात हो गई।

बुजी टॉप इलाके में वारदात हुई

  1. वारदात गुरुवार को बुजी टॉप इलाके के मकरान कोस्टल हाइवे पर हुई। बस को रुकवाकर यात्रियों के पहचान पत्रों की जांच के बहाने हमलावरों ने उन्हें नीचे उतारा। एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि बस से कुल 16 यात्रियों को उतारा गया था। 

  2. मामले का पता चलते ही पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां मौके पर पहुंच गईं। हालांकि, अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि हमलावर कौन थे और उनका मकसद क्या था। हमले में बचने वाले 2 लोगों को अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है। 

  3. बलूचिस्तान के मस्तुंग इलाके में 2015 में इसी तरह की घटना हुई थी। तब हमलावरों ने कराची जाने वाली बस से 2 दर्जन लोगों को उतारकर अगवा कर लिया था। उनमें से 19 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 

  4. पिछले सप्ताह क्वेटा में हजारा समुदाय को निशाना बनाकर आतंकी हमला किया गया था। इसमें 20 लोगों की मौत हुई थी। पुलिस और अन्य एजेंसियां क्वेटा मामले की जांच पूरी भी नहीं कर पाईं कि बलूचिस्तान में फिर से वारदात हो गई। 

Share
Next Story

अमेरिका / गूगल ने लॉबिंग पर पिछले साल रिकॉर्ड 151 करोड़ रु खर्च किए, सालाना 17% ज्यादा

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News