पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मुशर्रफ ने माना- ओसामा और हक्कानी जैसे आतंकी पाकिस्तान के हीरो थे

9 महीने पहले
  • पाकिस्तानी राजनेता फरहतुल्ला बाबर ने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के इंटरव्यू का वीडियो शेयर किया
  • मुशर्रफ ने कहा- भारतीय सेना से लड़ने के लिए कश्मीरियों को पाकिस्तान में ट्रेनिंग दी गई थी
  • ‘90 के दशक में कश्मीर के नागरिक भागकर पाकिस्तान आए, वे ही आगे चलकर लश्कर-ए-तैयबा जैसे बने’
No ad for you

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने माना कि भारतीय सेना से लड़ने के लिए कश्मीरियों को पाकिस्तान में ट्रेनिंग दी जाती थी। उन्होंने कहा कि ओसामा बिन लादेन और जलालुद्दीन हक्कानी जैसे आतंकी पाकिस्तान के हीरो थे। मुशर्रफ के इंटरव्यू का वीडियो बुधवार को पाकिस्तानी राजनेता फरहतुल्ला बाबर ने ट्विटर पर शेयर किया। मुशर्रफ ने यह इंटरव्यू कब दिया था, इसकी जानकारी नहीं है।
 
मुशर्रफ ने कहा, ‘‘1979 से बहुत कुछ बदलता चला आ रहा है। हमने पाकिस्तान के हक में कट्टरपंथियों को बढ़ावा दिया। हम पूरी दुनिया से मुजाहिदीन लेकर आए। हमने तालिबान को ट्रेनिंग दी। उन्हें हथियार दिए। तालिबान, हक्कानी, जवाहिरी और ओसामा बिन लादेन हमारे हीरो थे। अब माहौल बदल गया। ये हीरो अब विलेन बन गए।’’
 

धार्मिक कट्टरपंथी ही आतंकियों में बदल गए
मुशर्रफ ने कहा, ‘‘1990 के दशक में कश्मीर में आजादी की लड़ाई शुरू हुई थी। वहां के नागरिक भागकर पाकिस्तान आ रहे थे। हमने उन्हें हीरो बताते हुए भारतीय सेना से लड़ने के लिए ट्रेनिंग दी। वे ही आगे चलकर लश्कर-ए-तैयबा जैसे बने। ये पहले धार्मिक कट्टरपंथी हुआ करते थे, जो अपने हक के लिए लड़ते थे। अब ये आतंकियों में बदल गए हैं।’’
 

No ad for you

विदेश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved