पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चीन पर सख्त अमेरिका:ट्रम्प ने कहा- चीन के राष्ट्रपति से न तो बातचीत की और न अभी इसका कोई प्लान है, इसमें कोई दो राय नहीं कि वायरस चीन की वजह से ही फैला

वॉशिंगटनएक महीने पहले
फोटो इसी साल जनवरी की है। तब डोनाल्ड ट्रम्प चीन गए थे। यहां उन्होंने जिनपिंग से मुलाकात की थी। इस दौरे के बाद ही अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड एग्रीमेंट पर विवाद शुरू हो गया था।
  • ट्रम्प ने मंगलवार रात मीडिया से बातचीत में चीन को लेकर सख्त रुख फिर साफ किया
  • ट्रम्प ने साफ कर दिया कि न तो उन्होंने चीन के राष्ट्रपति से बातचीत की है, और न ऐसा कोई प्लान है
No ad for you

अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक बार फिर कोविड-19 को लेकर चीन पर निशाना साधा। मंगलवार रात मीडिया से बातचीत में ट्रम्प ने यहां तक कह दिया कि वे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बातचीत को लेकर उत्सुक नहीं हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा- जिनपिंग के मैंने अब तक बातचीत नहीं की। फिलहाल, ऐसा कोई प्लान भी नहीं है।  अमेरिका और ट्रम्प कई बार कोरोनावायरस के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। ट्रम्प के मुताबिक, वायरस चीन की वुहान लैब से निकला।

जिनपिंग से बातचीत का कोई प्लान नहीं
चीन को लेकर अमेरिका का रवैया सख्त होता जा रहा है। पहले ट्रेड एग्रीमेंट, फिर कोरोनावायरस और अब दक्षिण चीन सागर के मुद्दे पर दोनों देश आमने-सामने हैं। ट्रम्प से जब यह पूछा गया कि क्या वो जिनपिंग से बातचीत करेंगे, इस पर उन्होंने कहा, “नहीं, मैंने उनसे कोई बातचीत नहीं की है। और जिनपिंग से बातचीत का कोई प्लान भी नहीं है।” 

कोविड-19 के लिए चीन ही जिम्मेदार
महामारी के लिए कई बार चीन को जिम्मेदार ठहरा चुके ट्रम्प ने यही बात फिर दोहराई। कहा- हमने कोई गलती नहीं की। इसके लिए चीन ही जिम्मेदार है। उसने पूरी दुनिया को मुश्किल में डाला। चीन इसे रोक सकता था और उसे रोकना भी चाहिए था। इससे ज्यादा मैं फिलहाल और कुछ नहीं कहूंगा। क्योंकि, जो कुछ हुआ वह सबके सामने आ चुका है। 

डब्ल्यूएचओ चीन की कठपुतली
अमेरिका डब्ल्यूएचओ की मेंबरशिप छोड़ चुका है। इस संगठन के बारे में पूछे गए सवाल पर ट्रम्प नाराज हो गए। उन्होंने कहा, “डब्ल्यूएचओ हकीकत में चीन की कठपुतली से ज्यादा कुछ नहीं है। जोए बिडेन इसको लेकर नर्म रवैया क्यों अपना रहे हैं। हमने चीन से आने वालों पर रोक लगाई। तेजी से कार्रवाई की। हम अपने लोगों को महफूज रखना चाहते हैं। वैक्सीन भी अमेरिका रिकॉर्ड टाइम में तैयार कर लेगा।”  

No ad for you

विदेश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved