पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चीनी ऐप का विरोध:अमेरिका के 24 सांसदों की ट्रम्प से मांग- टिकटॉक समेत चीन के सभी ऐप फौरन हटाएं, भारत ने हमें रास्ता दिखा दिया है

वॉशिंगटनएक महीने पहले
फोटो 26 जून की है। तब डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में मीडिया से बातचीत की थी। ट्रम्प ने कहा था कि चीन दुनिया के लिए मुश्किलें पैदा कर रहा है। ट्रम्प ने इस दौरान लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुए टकराव का भी जिक्र किया था।
  • रिपब्लिकन पार्टी में भी चीनी ऐप को लेकर विरोध बढ़ता जा रहा है
  • विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के मुताबिक, सरकार बैन पर जल्द फैसला लेगी
No ad for you

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के 24 सांसदों ने उन्हें चिट्ठी लिखकर चीनी ऐप्स पर फौरन बैन लगाने को कहा है। इन सांसदों ने कहा है कि भारत ने चीन के खिलाफ सख्त कदम उठाकर एक रास्ता दिखाया है और अब अमेरिका को भी यही करना चाहिए। विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कुछ दिन पहले कहा था कि अमेरिका चीनी ऐप्स पर बैन लगाने पर विचार कर रहा है। 

भारत का जिक्र
ट्रम्प को लिखे गए लेटर में सांसदों ने भारत का उदाहरण भी दिया है। इनके मुताबिक, भारत ने सुरक्षा के मद्देनजर 60 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया और यह बड़ा कदम है। अमेरिका को भी यही करना चाहिए क्योंकि चीनी मोबाइल एप्लीकेशन्स अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए भी बड़ा खतरा बनते जा रहे हैं। 

घुसपैठ कर रहा है चीन
सांसदों के मुताबिक, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी इन ऐप्स के जरिए अमेरिका में घुसपैठ कर रही है। इन ऐप्स के जरिए टिकटॉक जैसे मशहूर ऐप्स डाटा कलेक्शन करते हैं और बाद में इनका इस्तेमाल अपने हितों को साधने में किया जाता है। सांसदों ने देश की सायबर सिक्योरिटी मजबूत बनाने की भी मांग की है। इसके लिए कानून में बदलाव की अपील की गई है।  

अब आखिरी फैसला लिया जाए
लेटर में कहा गया है- अब वक्त आ गया है जब अमेरिकी नागरिकों और संस्थानों के हितों को पूरी तरह से महफूज किया जाए। हम ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन से मांग करते हैं कि इस बारे में सख्त और निर्णायक कार्रवाई की जाए। भारत की मिसाल लीजिए। उसने जून में चीन के 60 ऐप्स को एक झटके में बैन कर दिया। एक सांसद कैरी लुक ने बाद में कहा- सच्चाई ये है कि चीन अब बेधड़क अमेरिकी नागरिकों का डाटा जुटा रहा है। भविष्य में हमें इसका खामियाज भुगतना पड़ सकता है।  

अमेरिका में चीन के ऐप्स से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं...
1. अमेरिका के टॉप-10 में कोई चाइनीज ऐप नहीं, टॉप-20 में केवल तीन, उनकी भी सिर्फ 6% मोबाइल तक पहुंच
2. अमेरिका के एनएसए ने कहा- टिकटॉक जैसे चाईनीज ऐप को बैन कर भारत ने सही किया, हम भी इस पर गंभीरता से विचार कर रहे
3. अमेरिका में टिक टॉक समेत सभी चाइनीज ऐप बैन हो सकते हैं, विदेश मंत्री पोम्पियो ने कहा- इस पर गंभीरता से सोच रहे

No ad for you

विदेश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved