ऑस्ट्रिया / जंगल कहीं भी लगाया जा सकता है ये समझाने के लिए फुटबॉल स्टेडियम में लगाए 300 पेड़

  • ऑस्ट्रिया केवॉर्गेसी स्टेडियम में लगाया गया जंगल जल्द ही आम लोगों के लिए खोला जाएगा
  • 30 साल पुरानी डायस्टोपियन कला से कलाकार हुए प्रेरित, पेड़ों को कतार में लगाकर जंगल किया डिजाइन

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2019, 04:50 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क.जंगल कहीं भी लगाया जा सकता है, यह बात समझाने के लिए स्विस आर्टिस्ट क्लाउस लिटमैन नेऑस्ट्रिया के फुटबॉल स्टेडियम में जंगल लगाया है। लोगों को पेड़ों के प्रतिजागरुक करने और ग्लोबल वॉर्मिंग के खतरों से चेताने के लिए यह जंगल लगाया गया है। इसमें 300 से अधिक पेड़ हैं।क्लैगनफर्ट शहर के वॉर्गेसी स्टेडियम को जल्द हीआम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।

डायस्टोपियन कला से प्रेरित है ये जंगल

  1.  

    जंगल डायस्टोपियन कला से प्रेरित है। ये एक आर्ट इंस्टॉलेशन है जिसने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है। लिटमैन ने ऑस्ट्रियाई कलाकार और आर्किटेक्ट मैक्स पिंटनर की मदद से इसे पूरा किया। उन्होंने 30 साल पुरानी डायस्टोपियन कला से प्रेरित होकर पेड़ों को कतार में लगाकर एक तय डिजाइन में जंगल तैयार किया। यहां विभिन्न प्रजातियों के पेड़ जैसे एलडर, एस्पेन, व्हाइट विलो, हॉर्नबीम, फील्ड मेपल और मैंगो ओक लगाए गए हैं।

  2. स्टेडियम के बाद अन्य सार्वजनिक जगह पर शिफ्ट होगा जंगल

    स्टेडियम ऑस्ट्रियाई फुटबॉल सेकेंड लीग टीम ऑस्ट्रिया क्लागेनफर्ट का होम ग्राउंड है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस अस्थायी कला के नमूनों के हटने तक टीम करावनकेनब्लिक स्टेडियम में खेलेगी। दूसरे शहरों के लोग भी इससे प्रेरणा लें इसलिए अक्टूबर में इस जंगल को दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा।

  3. प्रकृति को चुनौती देना चाहते थे लिटमैन

     

    लिटमैन ने बताया कि जंगल को बनाने का उद्देश्य प्रकृति को चुनौती देना था। उनका मानना है कि जरूरी नहीं कि जो चीज जहां होती है वो हमेशा वहीं पाई जा सकती है। हालांकि इस कार्य के दौरान उन्हें ये समझ आया कि भविष्य में प्रकृति केवल विशेष जगहों पर ही पाई जाएगी। यह पहली बार नहीं है जब लिटमैन ने अपनी जबरदस्त कलाकृति के लिए सुर्खियां बटोरी हैं। स्विट्जरलैंड में जार्डिन डेस प्लांट्स उनकी हालिया उपलब्धियों में से एक है।

Share
Next Story

प्रेरणा / सिर्फ 1 रुपए में स्वादिष्ट इडली-सांभर खिलाती हैं अम्मा, 80 की उम्र में भी हर काम खुद करती हैं

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News