पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Open Dainik Bhaskar in...
Browser
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

28 पार्षदाें का मेयर-डिप्टी मेयर पर अविश्वास:कमिश्नर काे साैंपा प्रस्ताव, कुर्सी बचाने में जुटा सत्ता पक्ष, बहुमत जुटाने की हो रही तैयारी

भागलपुर2 महीने पहले
  • विरोधी 28 पार्षदों में 5 ऐसे भी हैं जो मेयर और डिप्टी मेयर के साथ भी होने का कर रहे हैं दावा
Loading advertisement...

नगर निगम की सियासत में एक बार फिर गर्माहट आ गई। मेयर-डिप्टी मेयर के विराेध में 28 पार्षद एकजुट हाे गए हैं। दूसरी तरफ कुर्सी बचाने के लिए सत्ता पक्ष ने भी जाेर लगा दिया है। कुर्सी बचाने को 17 पार्षदों के साथ डिप्टी मेयर के घर तैयारी हुई तो विराेधी खेमा नगर विधायक के घर जुटा। रणनीति बनाने के बाद पार्षदाें का जत्था प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय पहुंचा।

वार्ड 37 की पार्षद बबिता देवी व वार्ड 27 के पार्षद उमर चांद के नेतृत्व में 28 पार्षदाें ने प्रमंडलीय आयुक्त वंदना किन्नी काे अविश्वास प्रस्ताव की काॅपी साैंपी। इसकी काॅपी नगर आयुक्त, डीडीसी व मेयर सीमा साहा के कार्यालय को भी दी गई।

बुधवार काे दिनभर निगम में सियासत हाेती रही। मेयर सीमा साहा व डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने पहले निगम कार्यालय में ही रणनीति बनाई। इसके बाद डिप्टी मेयर के घर 17 पार्षदाें के समर्थन से बहुमत साबित करने के लिए हस्ताक्षर अभियान चला। अब गुरुवार को मेयर-डिप्टी मेयर बहुमत साबित करने के लिए प्रमंडलीय आयुक्त व निगम प्रशासन काे आवेदन देंगे। इधर, विराेधी खेमे से 20 पार्षदाें काे पटना भेजा गया। 6 पार्षद गुरुवार सुबह पटना जाएंगे। दाे शहर में ही रहेंगे।

पक्ष और विराेध में भी दिखे कुछ पार्षद
कुछ पार्षद सत्ता और विपक्ष दोनों ही पक्षों के नजर आए। पार्षद खुशबू कुमारी ने मेयर-डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर दस्तखत किया है। लेकिन डिप्टी मेयर के बुलावे पर वे उनके घर भी गईं। पार्षद हंसल सिंह अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में भी दिखे। उन्होंने ज्ञापन सौंपने से घंटे भर पहले निगम में डिप्टी मेयर के चेंबर में मुलाकात की। हंसल का कहना है, हम आवेदन देने गए ताे डिप्टी मेयर ने बुलाया था।

विराेध में ये पार्षद
हंसल सिंह, माे. उमर चांद, गाेविंद बनर्जी, नन्ही बेगम, गजाला परवीन, अनवरी खातून, साेफिया हाेमेरा, पंकज कुमार दास, संजय कुमार सिन्हा, अभिषेक कुमार, सरयुग प्रसाद साह, शीला देवी, बबिता देवी, निशा दुबे, अशाेक पटेल, एबुन निशा, साबरा, बीबी बलिमा, प्रीति देवी, फिराेजा यास्मीन, अंजुम साहिन, नजमा खातून।

पक्ष में ये पार्षद : सदानंद चाैरसिया, दिनेश तांती, सबिहा रानू, सुनीता देवी, नीतू देवी, संध्या गुप्ता, उषा देवी, फरहाना, नेजाहत अंसारी, प्रमाेद लाल, अरशदी बेगम, पाकीजा,फरीदा अाफरीन।

ये दाेनाें खेमे में दिखीं : खुशबू, शिवानी देवी, कंचन देवी, सीता देवी, कल्पना कुमारी, दीपिका कुमारी के पति शशि माेदी।

ये हैं माैन : डाॅ. प्रीति शेखर, विधुवाला सिंह, रश्मि रंजन, कविता देवी, अनिल पासवान, शशिकला देवी।

दबाव में किया हस्ताक्षर
दाेनाें खेमे में दिखने वाले पार्षदाें ने बताया, जिधर बहुमत थी, वहां दबाव में हस्ताक्षर किए। लेकिन मेयर-डिप्टी मेयर के साथ हैं। कई ने कहा, मतदान में अपनी मर्जी से निर्णय लेंगे। पार्षद कुमारी कल्पना ने कहा, अविश्वास प्रस्ताव की जानकारी नहीं दी। बाद में पता चला। मैं मेयर-डिप्टी मेयर के साथ हूं।

माैन पार्षद पर टिका है पूरा खेल
मौन पार्षदों की भूमिका अहम मानी जा रही है। वे खेल बिगाड़ भी सकते हैं और बना भी सकते हैं। विराेध में शामिल 28 पार्षदाें में छह ऐसे हैं, जो दोनों की ओर हैं। बहुमत के लिए 26 का आंकड़ा चाहिए। ऐसे में मेयर-डिप्टी मेयर को अपनी कुर्सी बचाने के लिए अब तक 18 पार्षद मिल चुके हैं। मौन पार्षदों का समर्थन और दोनों पक्षों में दिखने वाले पार्षद निर्णायक हो सकते हैं। मेयर व डिप्टी मेयर ने अब उनसे समर्थन मांगना शुरू कर दिया है।

सोशल मीडिया पर सांसद निशिकांत ने लिखा...एक था ‘उप’, उपमहापौर का पलटवार, बोले-हत्यारोपी उमर चांद के भरोसे बदलाव की कर रहे हैं उम्मीद

तख्तापलट के इस खेल की पटकथा विधानसभा चुनाव के दौरान ही लिखी जाने की बात सामने आ रही है। इस पूरी बिसात में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे की भूमिका बताई जा रही है। मंगलवार और बुधवार को उनके सोशल मीडिया में पोस्ट किए मैसेज से भी इसकी पुष्टि हो रही है। उन्होंने अपने पोस्ट पर करण शर्मा और कुश पांडेय की तारीफ में लिखा है कि इतनी कम उम्र में नगर निगम में तख्तापलट। कितनों को पागल करोगे? बुधवार रात उन्होंने एक और पोस्ट डाला, जिस पर लिखा एक था उप भागलपुर।

इधर, उपमहापौर राजेश वर्मा ने भी सोशल मीडिया में मैसेज पोस्ट किया है। उन्होंने सीधे तौर पर निशिकांत दुबे और डिप्टी मेयर के दावेदार मो. उमर चांद को आड़े हाथों लिया। उन्होंने लिखा है...वाह! निशिकांत दुबे जी वाह! बहुत खूब! आपने क्या कमाल सोचा है.. अगर चोर को ही कोतवाल बना दिया जाए तो न चोरी की शिकायत होगी, न किसी को खबर..भागलपुर में विकास एवं नगर निगम के भ्रष्टाचार को लेकर बदलाव की बात कर रहे हैं।

जिस उमर चांद के भरोसे बदलाव की उम्मीद जता रहे हैं। उन्हें डिप्टी मेयर बनाने के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं। शहरवासियों को यह जानकारी होनी चाहिए कि उमर चांद वही है, जिस पर हत्या के कई मामले हैं।

यह है पूरी पटकथा
चुनाव में भाजपा प्रत्याशी राेहित पांडेय के लिए गाेड्डा सांसद निशिकांत दुबे काम कर रहे थे। इसमें सांसद के बातचीत का एक ऑडियाे डिप्टी मेयर वर्मा के वायरल करते ही साेशल मीडिया पर आराेप-प्रत्याराेप का मामला थाने तक पहुंच गया था। मतदान के दिन भी डिप्टी मेयर के घर पर हंगामा मचा ताे सांसद दुबे के समर्थकाें पर डिप्टी मेयर ने केस किया था।

चुनाव में तल्खी का असर अब निगम की सियासत में अविश्वास प्रस्ताव के रूप में सामने आया है। यह अलग बात है कि पार्षदाें ने निगम में विकास नहीं हाेने और अर्मयादित तरीके से डिप्टी मेयर पर बातचीत का आराेप लगाया है।

विरोधी पार्षद बोले-इस बार तख्तापलट होना तय
मेयर व डिप्टी मेयर पद के दावेदार क्रमश: बबीता देवी व उमर चांद ने कहा, निगम में काम नहीं हो रहा है। हम जनता को क्या जवाब देंगे। इस बार बहुमत साबित करेंगे।

बैठक के बाद मेयर और डिप्टी मेयर बोले-पार्षद हमारे साथ हैं
डिप्टी मेयर के घर हुई बैठक के बाद मेयर सीमा साहा और डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने बताया, हम गुरुवार काे बहुमत साबित करने को आवेदन देंगे। पार्षद हमारे साथ हैं।

^अविश्वास प्रस्ताव पर कानूनविद से सलाह-मशविरा करेंगे। देखते हैं, क्या हो सकता है। इसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।
- जे. प्रियदर्शिनी, नगर आयुक्त

^मेरा इस मामले से काेई लेना-देना नहीं है। मेरे घर से पार्षद कहां निकले, मुझे नहीं पता। मैं पटना में हूं। पार्षद हमसे मिलने आते ही रहते हैं। वे आए हाेंगे। पर मैं वहां नहीं हूं। - अजीत शर्मा, विधायक

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.