पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
Loading advertisement...

धर्म:आचार्य महाश्रमण ने 50 हजार किमी की पदयात्रा कर रचा इतिहास, अहिंसा की अलख जगाने कर रहे देश विदेश में पदयात्रा

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • भारत के 23 राज्यों, नेपाल व भूटान में जगाई अहिंसा की अलख
Loading advertisement...
दैनिक भास्कर पढ़ने के लिए…
ब्राउज़र में ही

अहिंसा यात्रा के प्रणेता तेरापंथ धर्मसंघ के 11वें अधिशास्ता आचार्य महाश्रमण ने गुरूवार को पदयात्रा करते हुए 50000 किलोमीटर के आंकड़े को पार कर एक नया इतिहास रच दिया। आज के भौतिक संसाधनों से भरपूर युग में जहां यातायात के इतने साधन हैं, व्यवस्थाएं हैं, फिर भी भारतीय ऋषि परंपरा को जीवित रखते हुए महान परिव्राजक आचार्य महाश्रमण जनोपकार के लिए निरंतर पदयात्रा कर रहे हैं।

भारत के 23 राज्यों और नेपाल व भूटान में सद्भावना नैतिकता, एवं नशामुक्ति की अलख जगाने वाले आचार्य महाश्रमण की प्रेरणा से प्रभावित होकर करोड़ों लोग नशामुक्ति की प्रतिज्ञा स्वीकार कर चुके हैं। देश की राजधानी दिल्ली के लालकिले से साल 2014 में अहिंसा यात्रा का शुरू करने वाले आचार्य ने न केवल भारत, अपितु नेपाल, भूटान जैसे देशों में भी मानवता के उत्थान का अहम काम किया है।

यात्रा के दौरान जहां बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा, बाबा रामदेव, श्री श्री रविशंकर, स्वामी अवधेशानंद गिरि,स्वामी निरंजनानन्द, मौलाना अरशद मदनी जैसे विभिन्न धर्म गुरुओं ने आचार्यश्री से मिलकर उनके जनकल्याणकारी अभियान के प्रति समर्थन प्रस्तुत किया। आचार्य के नेतृत्व में 750 से अधिक साधु-साध्वियां और हजारों कार्यकर्ता भी देश-विदेश में समाजोत्थान के महत्त्वपूर्ण कार्य में शामिल हैं।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...