पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हरियाणा:सुशांत मामले में महाराष्ट्र के सीएम और उनके बेटे पर कमेंट करना यू-ट्यूबर को पड़ा भारी, चुपचाप फरीदाबाद से उठा ले गई मुंबई पुलिस

फरीदाबाद25 दिन पहले
यू-ट्यूबर साहिल चौधरी जिसे महाराष्ट्र पुलिस उठा ले गई।
  • सुशांत मामले में यू-ट्यूबर साहिल चौधरी ने बनाई थी वीडियो, सीएम पर की थी टिप्पणी
  • अचानक से मुंबई पुलिस आई और फरीदाबाद पुलिस को बिन बताए साहिल को उठा ले गई
No ad for you

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे एवं उनके बेटे व मंत्री आदित्य ठाकरे पर टिप्पणी करना एक यू-ट्यूबर को भारी पड़ गया। मुंबई पुलिस उसे गुपचुप तरीके से उसके घर से उठाकर मुंबई ले गई। हैरानी की बात ये है कि फरीदाबाद पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। मुंबई पुलिस जिस युवक को उठाकर ले गई है वह हरियाणा पुलिस से रिटायर्ड इंस्पेक्टर का बेटा साहिल है। वह परिवार के साथ सेक्टर-19 में रहते हैं और जिम भी चलाते हैं। इस मामले में परिवार के सदस्य कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं।

सुशांत केस में बनाया था वीडियो
जानकारी के अनुसार साहिल यू-ट्यूब चैनल चलाते हैं साथ ही जिम संचालक भी हैं। बताया जाता है कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह केस में साहिल ने कुछ दिन पहले यू- ट्यूब चैनल और फेसबुक पर खुद को महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे का बेटा आदित्य ठाकरे बनकर मुंबई पुलिस, महाराष्ट्र सरकार और अपने पूर्वजों के बारे में कई आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

मुंबई पुलिस को जब इस बात की जानकारी हुई तो वहां से गुपचुप तरीके से एक टीम फरीदाबाद सेक्टर-19 में साहिल के घर पहुंची और उन्हें उठाकर अपने साथ मुंबई ले गई। साहिल ने फेसबुक में सुशांत केस में आदित्य ठाकरे का हाथ होने और केंद्र सरकार द्वारा कुछ भी न कर पाने की टिप्पणी भी की है। जबकि अभी तक की जांच में कहीं भी महाराष्ट्र सरकार अथवा मंत्री आदित्य ठाकरे का कहीं नाम तक नहीं आया है।

चुपचाप उठा ले गयी मुंबई पुलिस, फरीदाबाद पुलिस सोती रही
बता दें कि अभिनेता सुशांत सिंह के बहनोई ओपी सिंह फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर हैं। ओपी सिंह ने पिछले दिनों अपनी पुलिस में बीट सिस्टम लागू कर सभी को हमेशा चौकस रहने का पाठ पढ़ाया था। लेकिन फरीदाबाद पुलिस अभी भी नींद में सो रही है। जानकर हैरानी होगी कि मुंबई पुलिस सेक्टर 19 से हरियाणा पुलिस के रिटायर्ड इंस्पेक्टर के बेटे को दिन दिहाड़े उठा ले जाती है और फरीदाबाद पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि फरीदाबाद जनता की सुरक्षा में कितनी अलर्ट है।

No ad for you

हरियाणा की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.