पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
No ad for you

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुमला:बाघमुंडा फॉल में डूबने से दो सगे भाइयों की मौत, एक की तलाश जारी; पिकनिक मनाने पहुंचे थे सभी

गुमलाएक महीने पहले
घटनास्थल पर जुटे ग्रामीण व पुलिसकर्मी।
  • रविवार की शाम फॉल में डूबने से 11 व 15 वर्षीय दो बच्चों की हुई मौत
  • सोमवार सुबह से 6 साल की बच्ची की एनडीआरएफ की टीम कर रही तलाश
No ad for you

बसिया थाना क्षेत्र के बाघमुंडा जलप्रपात में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई। जबकि एक बच्ची की तलाश जारी है। मृत दोनों बच्चे सगे भाई थे। घटना रविवार शाम की है। बाघमुंडा में पिकनिक मनाने के लिए रांची जिले के नामकुम स्थित महुआटोली से पांच परिवार के लोग यहां आए थे। नहाने के दौरान सात बच्चे फॉल में बह गए। स्थानीय लोगों की मदद से चार बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। जबकि दो बच्चों का शव बरामद किया गया। वहीं, सोमवार को एनडीआरएफ की टीम फॉल में डूबी एक बच्ची की तलाश जुटी हुई है।

बच्चे बालू की रेत से बने टापू पर नहाने के लिए उतरे थे

मृतकों में अर्पित एक्का (11) और जयकांत एक्का (15) शामिल हैं। जबकि 6 वर्षीय इशिका एक्का की तलाश जारी है। परिजनों ने बताया कि पांचों परिवार के सदस्य यहां रविवार को 10 बजे पहुंचे थे। पिकनिक स्पॉट पहुंचने के बाद परिवार के बड़े सदस्य खाना बनाने की तैयारी में जुट गए। वहीं, साथ गए सभी सात बच्चे घूमने लगे। इसी दौरान बच्चे बालू की रेत से बने टापू पर नहाने के लिए उतरे। तभी पानी का तेज बहाव होने के कारण टापू के साथ ही सभी बच्चे बहने लगे।

पिकनिक स्पॉट पहुंचने के बाद परिवार के बड़े सदस्य खाना बनाने की तैयारी में जुट थे।

इसी दौरान वहां पर मछली पकड़ रहे स्थानीय लोगों ने बच्चों को बहता देख नदी में छलांग लगा दी। चार बच्चे श्रेया एक्का, सजल एक्का व दो अन्य को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। वहीं, तीन बच्चे इशिका एक्का, अर्पित एक्का व जयकांत एक्का तेज बहाव में बह गए। कुछ देर बाद स्थानीय गोताखोरों की मदद से तीनों बच्चों को ढूंढ़ना शुरू किया गया तो अर्पित एक्का व जयकांत एक्का का शव मिला।

एसडीपीओ पुलिस बल के साथ पहुंचे मौके पर

घटना की सूचना के बाद बसिया एसडीपीओ दीपक कुमार पुलिस बल के साथ बाघमुंडा पहुंचे। इसके बाद एनडीआरएफ की टीम को इसकी जानकारी दी गई। एनडीआरएफ की टीम बाघमुंडा जलप्रपात पहुंची और इशिका की तलाश में जुटी हुई है।

बाघमुंडा जलप्रपात जिला मुख्यालय से करीब 70 किमी दूर पर स्थित है।

हादसे के बाद परिजनों के बीच कोहराम मच गया। परिजन रो-रोकर बेसुध हो रहे हैं। मृत दोनों बच्चों के पिता जेम्स रांची मुख्यालय स्थित बिजली संचरण निगम के वरीय भंडार पाल के पद पर कार्यरत हैं। जबकि इशिका के पिता गॉडविन तिग्गा आर्मी में हैं। जेम्स ने बताया कि कोरोना काल में काफी दिनों से घर में रह रहे बच्चों ने पिकनिक जाने की इच्छा जाहिर की थी। इसलिए प्लान कर सभी यहां आए थे। मगर उनका तो अब पूरा परिवार ही उजड़ गया।

No ad for you

गुमला की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.