पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अहमदनगर में शिवसेना नेता का दावा:एम्बुलेंस में 12 कोरोना मरीजों के शव रखकर ठिकाने लगाने जा रहे थे निगम के कर्मचारी, कार्रवाई की मांग करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी

मुंबई2 महीने पहले
शवों को एक एम्बुलेंस में रखकर अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जा रहा था।
  • शिवसेना नेता के आरोप पर नगर निगम की ओर से कोई भी बयान अभी तक सामने नहीं आया है
  • वीडियो में एक एम्बुलेंस में कुछ शव एक के ऊपर एक रखे हुए नजर आ रहे हैं
No ad for you

कोरोना संक्रमितों के लगातार बढ़ते केस के बीच महाराष्ट्र के अहमदनगर से बेहद हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक एम्बुलेंस में 12 कोरोना मरीजों के शवों को ले जाने का आरोप शिवसेना के नगर सेवक बालासाहब बोराटे ने लगाया है। बोरोटे ने अपने दावे की पुष्टि के लिए एक वीडियो भी जारी किया है। इसमें एक एम्बुलेंस में कुछ शव एक के ऊपर एक रखे हुए नजर आ रहे हैं। हालांकि, शिवसेना नेता के आरोप पर नगर निगम की ओर से कोई भी बयान अभी तक सामने नहीं आया है।

शिवसेना नगरसेवक नें आरोप लगाया कि इन 12 शवों में से 4 महिलाएं और 8 पुरुष के हैं। बालासाहब ने बताया कि यह वीडियो उन्होंने तब बनाया जब निगम के कर्मचारी इन्हें अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे। इस बारे में बाला साहब ने अहमदनगर कारपोरेशन के कमिश्नर श्रीकांत मायकलवार से शिकायत दर्ज करवाई है। बालासाहब ने आरोप लगाया कि 9 अगस्त की रात शवों को ठिकाने लगाने का प्रयास किया जा रहा था। जब वे वीडियो बनाने लगे तो उन्हें रोका भी गया।

आंदोलन की दी चेतावनी
बालासाहब ने कहा,"मरने के बाद भी शवों की ये हालात है तो फिर जिंदा कोरोना मरीजों के साथ क्या हाल हो रहा है। मैं इस मामले को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के संज्ञान में भी लेकर आऊंगा। अगर इस मामले में दोषियों पर कार्रवाई नहीं हुई तो मैं सड़क पर उतर कर आंदोलन करूंगा।"

जिले में हैं 10 हजार से ज्यादा मरीज
बता दें की अहमदनगर जिले में मंगलवार सुबह तक 10 हजार से ज्यादा संक्रमित सामने आ चुके हैं। हालांकि, इसमें से 6 हजार से ज्यादा मरीज ठीक होकर अपने घर भी जा चुके हैं। वहीं, 108 लोगों की मौत भी कोरोना के चलते हुई हैं।

No ad for you

महाराष्ट्र की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved