पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Open Dainik Bhaskar in...
Browser
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अभियान:कैंसर रोगियों की मदद को 2800 किमी यात्रा कर बाड़मेर पहुंचे गुरु नानक देव के वंशज

बाड़मेर2 महीने पहले
Loading advertisement...

विश्वभर को एक ओमकार का मंत्र देने के साथ सिख धर्म की स्थापना करने वाले गुरु नानक देव की 15वीं पीढ़ी कैंसर रोगियों की मदद के लिए अनूठे अभियान पर है। अपनी उम्र के 64 बसंत देख चुके विक्की बेदी कैंसर रोगियों के लिए धन इकट्ठा करने के लिए 2800 किलोमीटर की साइकिल यात्रा पर है। अपनी यात्रा के दौरान वह कैंसर के रोगियों के लिए धन इकट्ठा कर रहे है और अब तक वह 2 करोड़ रुपए कैंसर पीड़ितों की मदद के लिए दे चुके है।

सिखों के पहले गुरु गुरु नानक देव की 15वीं पीढ़ी के वंशज जनता को कैंसर के प्रति जागरूक करने के अनूठे मिशन पर हैं। जिस उम्र में अमूमन लोग बिस्तर पकड़ लेते है उस 64 साल की उम्र में सिख विक्की बेदी कैंसर रोगियों के लिए धन इकट्ठा कर रहे हैं। वह अपनी 2800 किलोमीटर की यात्रा के हर पड़ाव पर लोगों को खुद को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना साइकिल चलाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। सोमवार को जैसलमेर होते हुए बेदी बाड़मेर पहुंचे है।

बेदी ने 2,800 किलोमीटर साइकिल चलाने का लक्ष्य तय किया है, और इस मिशन के तहत रोजाना 200 किमी. की दूरी तय कर रहे है। 64 साल की उम्र में राष्ट्रीय राजमार्ग पर उनको साइकिल चलाते देखना किसी अचरज से कम नजर नहीं आता। दिल्ली से सवारी करके बेदी विभिन्न जगहों से होते हुए बाड़मेर पहुंचे। बेदी का कहना है कि कैंसर का पता चलने पर उसका इलाज संभव है, इसलिए उसे बीमारी को छुपाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

बेदी बताते है कि 11 महीने पहले एक कैंसर पीड़ित महिला से मिलने के बाद उनके दिमाग में साइकिल चलाने का विचार आया और उनका इलाज करवाने के बजाय उनके पति ने आर्थिक संकट के कारण उन्हें छोड़ दिया था। बेदी ने कहा, इसके बाद, मैंने कैंसर के बारे में जनता को जागरूक करने के लिए साइकिल यात्रा निकालने और कैंसर के रोगियों की मदद के लिए धन इकट्ठा करने का संकल्प लिया।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.