पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
logo

सचिन की वापसी पर उनके घर से रिपोर्ट:पायलट गुट के विधायकों के चेहरे मायूस नजर आए, कहा- चुनाव में कार्यकर्ताओं ने अपना खून पसीना बहाया था, वही सरकार से बाहर रहे

जयपुरएक महीने पहले
जयपुर में अपने आवास पर सचिन कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचे और उनका हाथ जोड़कर शुक्रिया अदा किया।
  • विधायक मुकेश भाकर ने कहा- हर एमएलए ने एक जगह पैसा एकत्रित किया, जिसके जरिए ही अपना खर्चा उठाया
  • दिल्ली से जयपुर के रास्ते में भी कई जगह कांग्रेस कार्यकर्ता सचिन के स्वागत में पोस्टर लिए खड़े रहे
No ad for you

राजस्थान का सियासी घमसान मंगलवार को खत्म हो गया। सचिन पायलट साथी विधायकों के साथ जयपुर स्थित अपने आवास पर पहुंचे। इस दौरान बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और साथी नेता उनके घर पर मौजूद रहे। उन्होंने मीडिया से भी बात की। इसमें पायलट के साथी विधायक भी मौजूद रहे। इस दौरान सचिन ने मीडिया के अलावा किसी से बात नहीं की। बस कार्यकर्ताओं को हाथ जोड़कर शुक्रिया कहा। पायलट के साथ उनके विधायकों के चेहरे पर भी मायूसी देखने को मिली।

पायलट गुट के कुछ विधायकों ने भी मीडिया से बात की। इसमें पायलट कैंप में सबसे कम उम्र के विधायक रामनिवास ने कहा कि हमने पायलट के नेतृत्व में चुनाव लड़ था। कार्यकर्ताओं ने अपना खून पसीना बहाया था। युवाओं ने सड़कों पर लाठियां खाईं। उसका परिणाम ये रहा कि हम सरकार में नहीं आए। हमारी लड़ाई उनकी कार्यशाला से थी। इसलिए हमने अपनी जायज मांग रखी है। जो भी पार्टी और जनता के हित में होगा आलाकमान उस पर फैसला करेगा।

हमने अपना खर्चा खुद उठाया

विधायक मुकेश भाकर ने कहा कि हर एमएलए ने एक जगह पैसा एकत्रित किया। जिसके जरिए ही अपना खर्चा उठाया। हमने एक रुपए भी भाजपा से नहीं लिया। न भाजपा ने हमसे संपर्क किया।

जयपुर में सचिन पायलट विधायकों के साथ मीडिया के सामने आए।

मेरे बारे में ऐसी बातें बोली गईं, जिन्हें सुनकर दुख और आश्चर्य हुआ

जयपुर में अपने आवास पर पहुंचे सचिन पायलट ने मीडिया से बातचीत में कहा कि राजद्रोह के मामले में मुझे एक नोटिस मिला था। उस आपत्ति को लेकर और पिछले कुछ सालों के घटनाक्रम को लेकर दिल्ली गए। जिसके बाद लगातार बहुत सी चीजें हुई, जो सकारात्मक नहीं थी। हमने पहले दिन से बोला कि अपने मुद्दे कांग्रेस पार्टी में रहकर रखना चाहते हैं। हमने एक भी एक्शन पार्टी हित के खिलाफ नहीं लिया। हम पर तमाम आरोप लगे, अफवाहें फैलाई गईं। इस दौरान मेरे बारे में ऐसी बातें बोली गई, जिन्हें सुनकर दुख और आश्चर्य हुआ। इसके बावजूद राजनीति में उदाहरण पेश करना है तो मैंने वो कड़वा घूंट पीकर भी कुछ नहीं बोला।

सचिन के पोस्टर लेकर पहुंचे कार्यकर्ता।

इस दौरान सचिन भी समर्थकों के बीच पहुंचे। उन्होंने सभी को शुक्रिया कहा। इस दौरान सचिन पायलट एक महीने बाद फिर से कांग्रेस का निशान अपने गले में डाले भी दिखाई दिए। कार्यकर्ताओं ने कहा कि उन्हें गर्व है कि सचिन पायलट ने उनके मुद्दे आलाकमान के सामने रखे। अब जो फैसला होगा उन्हें मंजूर होगा।

पार्टी नेता सचिन पायलट से मिलने पहुंचे।
समर्थकों ने पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए।

सड़कों पर पोस्टर लेकर पहुंचे कार्यकर्ता

वहीं, दिल्ली से जयपुर के रास्ते में भी कई जगह कांग्रेस कार्यकर्ता सचिन के स्वागत में पोस्टर लिए खड़े दिखे। सचिन पायलट के पहुंचने की खबर के साथ ही उनके आवास पर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे। जिन्होंने जिंदाबाद के नारों के साथ उनका स्वागत किया। जिसमें बड़ी संख्या में सचिन के क्षेत्र टोंक से कार्यकर्ता पहुंचे। सभी कांग्रेस के झंडे और सचिन के पोस्टर लेकर उनके आवास पर पहुंचे। साथ ही यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता भी पायलट का स्वागत करने पहुंचे।

No ad for you

राजस्थान की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved