पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
No ad for you

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सड़क निर्माण घोटाला प्रकरण:कानपुर में यूपीसीडा के प्रधान महाप्रबंधक अरुण मिश्रा गिरफ्तार; 2.11 करोड़ रुपए के गबन का आराेप है

कानपुरएक महीने पहले
शासन से कार्रवाई की मंजूरी मिलने के बाद अरुण को रामादेवी चौराहे के पास से गिरफ्तार किया गया।
  • चकेरी पाली रोड निर्माण के घोटाले में आरोपी अरुण मिश्रा
  • आज लखनऊ कोर्ट में पेश किया जाएगा
No ad for you

उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) के प्रधान महाप्रबंधक अरुण मिश्रा को कानपुर में चकेरी पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। मिश्रा को लखनऊ कोर्ट में पेश किया जाएगा। वे चकेरी पाली रोड निर्माण के घोटाले में आरोपी हैं। आरोपी ने केवल कागजों पर ही 2.11 करोड़ रुपए पास कराकर गबन किया है। शासन से कार्रवाई की मंजूरी मिलने के बाद अरुण को रामादेवी चौराहे के पास से गिरफ्तार किया गया।

यह है पूरा मामला?

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज नेशनल हाईवे से पाली गांव होकर चकेरी औद्योगिक क्षेत्र में जाने वाली तीन किलोमीटर सड़क का निर्माण वर्ष 2009 में यूपीसीडा के द्वारा कराया गया था। इसमें 1,940 मीटर सड़क को पीडब्ल्यूडी बनवाया था। लेकिन, यूपीसीडा के अफसरों ने पीडब्ल्यूडी के द्वारा बनाई गई सड़क अपने हिस्से का निर्माण कार्य बताते हुए कार्यों पूरा दिखाते हुए 2 करोड़ 11 लाख रुपए के बिल के पास कर दिया था। इसकी जानकारी होते ही यूपीसीडा के तत्कालीन प्रबंध निदेशक इफ्तेखारुद्दीन ने 2012 में चकेरी थाने में भ्रष्टाचार से जुड़ा एक मुकदमा पंजीकृत कराया था।

तत्कालीन अधिशाषी अभियंता अजीत सिंह, सहायक अभियंता नागेंद्र सिंह और अवर अभियंता एसके वर्मा ने मेसर्स कार्तिक इंटरप्राइजेज के खिलाफ चकेरी थाने में भ्रष्टाचार से जुड़ी एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें पुलिस जांच के दौरान प्रधान महाप्रबंधक अरुण कुमार मिश्रा को भी दोषी पाया गया। इसके चलते एफआईआर में उसका भी नाम जोड़ दिया गया था।

जांच के दौरान विवेचक ने माना कि बिना मौका मुआयना कराए ही प्रधान महाप्रबंधक अरुण मिश्रा ने फर्म को धनराशि का भुगतान कर दिया था। इस धांधली में अरुण मिश्रा की भी संलिप्तता उजागर हो रही थी। इसके बाद से अरुण कुमार मिश्रा की गिरफ्तारी करने का आदेश दिया गया था और एक टीम भी गठित की गई थी। मंगलवार को गठित की गई टीम में अरुण कुमार मिश्रा को रामादेवी के पास से गिरफ्तार कर लिया है।

क्या बोले अधिकारी?

एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) के प्रधान महाप्रबंधक अरुण कुमार मिश्रा को चकेरी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके ऊपर 2012 में चकेरी थाने में एक भ्रष्टाचार मुकदमा पंजीकृत हुआ था। जिसमें व जांच के दौरान दोषी पाया गया है।

No ad for you

कानपुर की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.