पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीनेशन के बाद मौत पर विवाद:UP में वार्ड बॉय की टीकाकरण के 24 घंटे बाद जान गई, CMO बोले- PM में मौत की वजह हार्ट अटैक

मुरादाबादएक महीने पहले
मुरादाबाद जिला अस्पताल में तैनात रहे वार्ड बॉय महिपाल सिंह की रविवार शाम मौत हो गई।
  • शनिवार को जिला अस्पताल में वार्ड बॉय को लगी थी वैक्सीन
  • परिजन का आरोप वैक्सीन लगने के बाद वार्ड बॉय की बिगड़ी थी हालत
Loading advertisement...
Open Dainik Bhaskar in...
Browser

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में जिला अस्पताल के एक वार्ड बॉय महिपाल सिंह (46 साल) की कोरोना वैक्सीन लगने के 24 घंटे बाद अचानक हालत बिगड़ गई। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। परिजन का आरोप है कि कोविड-19 से बचाव के लिए अस्पताल में शनिवार को वैक्सीन लगी थी। इसके बाद ही महिपाल की हालत बिगड़ी और मौत हो गई।

हालांकि मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) एमसी गर्ग ने पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए मृतक के परिजन के दावों को खारिज किया है। उनका कहना है कि कोविड वैक्सीन के टीकाकरण से किसी की मौत संभव नही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार, महिपाल की मौत हार्ट अटैक से हुई है।

16 जनवरी को महिपाल को लगी थी वैक्सीन
16 जनवरी को पूरे भारत में कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण की शुरुआत हुई थी। मुरादाबाद जिला अस्पताल में भी स्वास्थ कर्मचारियों को वैक्सीन का टीका लगाया गया था। जिला अस्पताल में वार्ड बॉय महिपाल सिंह ने भी 16 जनवरी को दोपहर 12 बजे वैक्सीन लगवाई थी। इसके बाद बेटे को अस्पताल बुलाकर महिपाल घर वापस आ गए। उसी रात में इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी भी की थी। रविवार को ड्यूटी से घर वापस आने के बाद अचानक महिपाल की तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद महिपाल को जिला अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर ने उनको मृत घोषित कर दिया।

परिजनों का आरोप
घरवालों का कहना है कि वैक्सीन की वजह से ही महिपाल की हालत बिगड़ी और मौत हो गई। ड्यूटी करके घर वापस आए तो तबीयत खराब थी। मृतक महिपाल के बेटे विशाल ने बताया कि जब सुबह पिता अस्पताल में ड्यूटी कर घर वापस आए तो उनकी तबीयत खराब थी। मैं घर पर नहीं था। मेरे पास फोन आया कि पापा की तबीयत बहुत खराब है। परिवार वाले उनको जिला अस्पताल ले गए, जहां उनकी मृत्यु हो गई। पापा को निमोनिया थी। उनकी सांस फूल रही थी।

महिपाल की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट।

CMO ने जारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट
महिपाल सिंह की मौत के बाद CMO एमसी गर्ग भी मृतक के घर पहुंच गए। गर्ग का कहना है कि महिपाल को रविवार दोपहर में सीने में दर्द ओर सांस फूलने में दिक्कत हुई थी। उन्हें परिवारवालों ने मृत अवस्था में अस्पताल पहुंचाया था। वे पहले कोरोना संक्रमित नहीं थे। वैक्सीन का कोई रिएक्शन भी सामने नहीं आया था। मौत का वैक्सीन से कोई संबंध नहीं है। महिपाल की मौत हार्ट अटैक से हुई है। मुरादाबाद में 479 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना का टीका लगाया गया था। महिपाल के अलावा सभी की हालत ठीक है।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...